दुनिया

थाईलैंड: पूर्व पुलिसकर्मी ने चाइल्ड केयर सेंटर में गोलीबारी की, 22 बच्चों समेत 38 की मौत

पुलिस के मुताबिक़, हमलावर एक पूर्व पुलिसकर्मी है जिसे बीते वर्ष ड्रग्स के आरोप में पद से बर्ख़ास्त किया गया था. चाइल्ड केयर सेंटर में ख़ून-ख़राबा करने के बाद वह कार से सड़क पर गोलीबारी करता हुआ अपने घर पहुंचा, जहां अपनी पत्नी-बच्चे की हत्या करके आत्महत्या कर ली.

चाइल्ड केयर सेंटर की घटना के बाद की एक तस्वीर. (फोटो: रॉयटर्स)

बैंकॉक: थाईलैंड में एक ‘चाइल्ड केयर सेंटर’ में गुरुवार को हुई गोलीबारी में कम से कम तीन दर्जन लोग मारे गए. अधिकारियों ने यह जानकारी दी है.

पुलिस ने बताया कि हमलवार हमला करने के बाद गोलीबारी करता हुआ कार से अपने घर गया और पत्नी एवं बच्चे की हत्या करने के बाद आत्महत्या कर ली.

अधिकारियों ने बताया कि शुरुआती हमले की जानकारी स्थानीय समयानुसार अपराह्न साढ़े 12 बजे मिली जब हमलावर पूर्व पुलिस अधिकारी नोंग बुआ लाम्फू शहर स्थित ‘चाइल्ड केयर सेंटर ’ में दाखिल हुआ.

रॉयटर्स के मुताबिक, हमले में कुल 38 लोगों की मौत हो गई है, जिनमें 22 बच्चे शामिल हैं. हमलावर ने गोलीबारी के साथ-साथ चाकू से भी हमला किया.

पुलिस ने हमलावर की पहचान अपने ही एक पूर्व सदस्य के रूप में की है, जिसे पिछले साल ड्रग के आरोपो में पद से बर्खास्त कर दिया गया था और उसके खिलाफ इस संबंध में मुकदमा चल रहा है.

पुलिस प्रवक्ता पैसल लुइसोमबून ने ब्रॉडकास्टर थाईपीबीएस को बताया कि वह व्यक्ति दिन में पहले अदालत में था और फिर अपने बच्चे को लेने के लिए डे केयर सेंटर गया था.

पैसल ने कहा कि जब उसे वहां अपना बच्चा नहीं मिला तो उसने हत्याएं करना शुरू कर दिया.

जिला अधिकारी जिडापा बूनसोम, जो उस समय पास के ही एक कार्यालय में काम कर रही थीं, ने बताया कि जब हमलावर पहुंचा तब करीब 30 बच्चे सेंटर में थे, जो आम दिनों की अपेक्षा कम थे क्योंकि तेज बारिश के कारण कई आ नहीं सके थे.

जिदापा ने रॉयटर्स को बताया, ‘शूटर लंच के समय आया और पहले चाइल्ड केयर सेंटर के चार-पांच कर्मियों को गोली मार दी.’

उन्होंने बताया कि पहले तो लोगों को लगा कि पटाखे फूट रहे हैं.

जिदापा ने बताया कि हमलावर जबरन उस बंद कमरे में घुस गया जहां बच्चे सो रहे थे. उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि उसने वहां बच्चों को चाकू से मारा, साथ ही बताया कि आठ महीने की गर्भवती एक शिक्षिका की भी चाकू मारकर हत्या कर दी गई.

पुलिस ने बताया कि हमलवार ने मौके से फरार होने से पहले 19 लड़कों, तीन लड़कियों और दो वयस्कों की हत्या कर दी.

ऑनलाइन मंचों पर आई घटना की तस्वीरों में प्री स्कूल के कमरे में खून से सने गद्दे फर्श पर पड़े दिख रहे हैं. वीडियो में बच्चों के परिवार के सदस्य प्री स्कूल की इमारत के बाहर रोते दिख रहे हैं. एम्बुलेंस खड़ी हैं और पुलिस एवं चिकित्सा कर्मी स्कूल के मैदान में दिखाई दे रहे हैं.

थाईलैंड मीडिया की खबरें भी इस बात की पुष्टि करती हैं कि हमलावर ने हमले में चाकू का भी इस्तेमाल किया.

पैसल लुइसोमबून ने एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि संदिग्ध ने मौके से फरार होते वक्त भी कार से गोलीबारी जारी रखी, जो कई लोगों को लगी है.

समाचार पत्र ‘डेली न्यूज’ की खबर के अनुसार, हमला करने के बाद हमलवार अपने घर गया और वहां उसने अपनी पत्नी व बच्चे की हत्या करने के बाद खुद की भी जान ले ली.

पुलिस ने बताया कि दो बच्चों और 10 वयस्कों की मौत ‘चाइल्ड केयर सेंटर’ के बाहर हुई है. मृतकों में संदिग्ध हमलावर, उसकी पत्नी और बेटा भी शामिल है.

गौरतलब है कि थाईलैंड में अमेरिका और ब्राजील के मुकाबले गोलीबारी से मौतों की संख्या कम है, लेकिन जापान और सिंगापुर जैसे देशों के मुकाबले अधिक है जहां पर सख्त बंदूक नियंत्रण कानून लागू हैं.

(समाचार एजेंंसी भाषा से इनपुट के साथ)