दुनिया

अमेज़ॉन भारत में लगभग 1,000 कर्मचारियों की छंटनी करेगी: रिपोर्ट

ई-कॉमर्स कंपनी अमेज़ॉन अनिश्चित आर्थिक परिस्थितियों के कारण दुनिया भर में 18,000 से अधिक पदों को समाप्त कर रही है और यह उसी का हिस्सा है. एक सूत्र ने कहा कि अमेज़ॉन के भारत में एक लाख कर्मचारी हैं. इस फैसले से यहां एक प्रतिशत कर्मचारी प्रभावित होंगे.

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: ई-कॉमर्स कंपनी अमेजॉन ने भारत में करीब 1,000 कर्मचारियों को निकालने की योजना बनाई है. कंपनी दुनिया भर में छंटनी कर रही है और यह उसी का हिस्सा है. सूत्रों से शुक्रवार को यह जानकारी दी.

कंपनी अनिश्चित आर्थिक परिस्थितियों के कारण दुनिया भर में 18,000 से अधिक पदों को समाप्त कर रही है.

सूत्र ने कहा, ‘कंपनी के वैश्विक स्तर पर 18,000 नौकरियों को खत्म करने के निर्णय से देश के लगभग 1,000 कर्मचारी प्रभावित होंगे.’

एक अन्य सूत्र ने कहा कि अमेजॉन के भारत में एक लाख कर्मचारी हैं. इस फैसले से यहां एक प्रतिशत कर्मचारी प्रभावित होंगे.

हालांकि इस बारे में पूछे जाने पर अमेजॉन इंडिया के प्रवक्ता ने कोई टिप्पणी नहीं की. लेकिन अमेजॉन के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) एंडी जेस्सी के एक लेख लिंक साझा किया है. लेख में उन्होंने वैश्विक स्तर पर 18,000 पदों को खत्म करने के कंपनी के फैसले की जानकारी दी है.

जेस्सी ने लिखा है, ‘हम करीब 18,000 पदों को समाप्त करने की योजना बना रहे हैं. इस फैसले से कई समूह प्रभावित होंगे. हालांकि, ज्यादातर पद अमेजॉन स्टोर और पीएक्सटी (पीपुल, एक्सपीरिएंय और प्रौद्योगिकी) संगठन से संबंधित हैं.’

अमेजॉन में 31 दिसंबर, 2021 तक लगभग 16,08,000 पूर्णकालिक और अंशकालिक कर्मचारी काम कर रहे थे.

इंडिया डुटे के मुताबिक, सूत्र ने दावा किया कि अमेजॉन भारतीय बाजार में मार्केटप्लेस और डिवाइसेस टीमों के कर्मचारियों को बर्खास्त कर देगा. जैसे कि एक ब्लॉग पोस्ट में अमेजॉन ने पुष्टि की है कि दुनिया भर में ज्यादातर पद अमेजॉन स्टोर्स और पीएक्सटी संगठनों में होंगी.

रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी अपनी छंटनी योजनाओं को इतनी जल्दी सार्वजनिक नहीं करना चाहता था. अमेजॉन के सीईओ एंडी जेस्सी ने स्वीकार किया है कि ई-कॉमर्स दिग्गज को छंटनी की खबर की पुष्टि करनी पड़ी, क्योंकि उनके एक साथी ने सार्वजनिक रूप से जानकारी लीक कर दी थी.

उन्होंने ब्लॉग पोस्ट में बताया कि छंटनी की घोषणा करने से पहले अमेजॉन सबसे पहले प्रभावित कर्मचारियों को सूचित करना चाहता था.

उन्होंने कहा, ‘हम आम तौर पर इन परिणामों के बारे में संवाद करने की प्रतीक्षा करते हैं, जब तक कि हम उन लोगों से बात नहीं कर लेते जो सीधे प्रभावित होते हैं. हालांकि, क्योंकि हमारे एक साथी ने इस जानकारी को लीक कर दिया था, इसलिए हमने तय किया कि इस समाचार को पहले साझा करना बेहतर होगा, ताकि आप विवरण सीधे मुझसे सुन सकें.’

ई-कॉमर्स वेबसाइट ने पुष्टि की है कि वह 18 जनवरी से प्रभावित कर्मचारियों के साथ संवाद करना शुरू कर देगी, जो एक सप्ताह के बाद है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)