कांग्रेस को अडानी-अंबानी से मिला धन: लोकपाल ने मोदी का दावा ‘चुनावी प्रोपेगंडा’ बता ख़ारिज किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान के दौरान कांग्रेस पर अंबानी और अडानी से टेंपो में बोरी भरकर पैसे लेने का आरोप लगाया था. सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता प्रशांत भूषण ने कहा है कि इस दावे पर लोकपाल की टिप्पणी मोदी के राजनीतिक बड़बोलेपन को उजागर करती है.

‘पुलिस चौकी के सामने रेप हुआ और उन्हें भनक तक नहीं लगी, इससे अपराधियों के हौसले बुलंद होंगे’

बताया जा रहा है कि 27 जून को दिल्ली के नरेला में नौ साल की लड़की का सामूहिक बलात्कार हुआ, और उसकी नृशंस हत्या कर दी गई. परिजनों के अनुसार, जिस जगह उनकी बेटी का शव मिला, उसके ठीक सामने पुलिस चौकी है.

नरेंद्र मोदी की तीसरी पारी में मुसलमानों पर हमलों का नया दौर शुरू

चुनाव परिणाम के बाद आपराधिक मामलों में तेजी आई है, लेकिन यह मानना गलत होगा कि चुनाव अभियान के दौरान हिंसा कम हुई थी. यह हिंसा भाषा और भाषणों के माध्यम से हुई, जिसे प्रधानमंत्री तथा भाजपा के अन्य बड़े नेता अंजाम दे रहे थे.

संथाल आदिवासी, आरएसएस कार्यकर्ता: ओडिशा के नए मुख्यमंत्री

क्योंझर के निवासी मोहन माझी संथाल जनजाति के सदस्य हैं. संथाल भारत के सबसे बड़े आदिवासी समुदायों में से एक है. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू भी संथाल हैं. वह क्योंझर के सीमावर्ती मयूरभंज ज़िले की निवासी हैं. ये दोनों ज़िले मिलकर राज्य का अत्यंत विस्तृत आदिवासी भूगोल रचते हैं.

हम सियासत और वोट के लिए किसी जाति-धर्म का अपमान नहीं कर सकते: पप्पू यादव

वीडियो: बिहार के पूर्णिया से नवनिर्वाचित सांसद पप्पू यादव का कहना है कि निर्दलीय चुनाव लड़ने के बावजूद वे ख़ुद को कांग्रेसी ही मानते हैं और उनका समर्थन कांग्रेस को है. उनसे बातचीत.

दिल्ली के अस्पताल की आग में खोई परिवार की रोशनी; पिछले बरस नवजात खोया, इस बरस बच्ची

पूर्वी दिल्ली के विवेक विहार स्थित बेबी केयर न्यू बॉर्न हॉस्पिटल में लगी आग में साहिबाबाद के राज कुमार की इकलौती संतान, उनकी पंद्रह दिनों की बेटी नहीं रही. पिछले साल एक सरकारी अस्पताल में उचित सुविधाओं के अभाव में अपने पहले बच्चे को खोने वाले राज कुमार इस बार बेटी के इलाज में कोई कोताही नहीं रखना चाहते थे.

लोकसभा चुनाव: 2020 दंगों के बाद पहले चुनाव में किसे चुनेंगे उत्तर पूर्वी दिल्ली के मतदाता?

ग्राउंड रिपोर्ट: 2020 में दंगों की चपेट में रहे उत्तर पूर्वी दिल्ली संसदीय क्षेत्र के मतदाता बंटे हुए हैं. जहां एक तबका भाजपा का परंपरागत मतदाता है, वहीं कई लोग सांप्रदायिक राजनीति से इतर स्थानीय मुद्दों पर बात कर रहे हैं. यहां भाजपा के मनोज तिवारी और 'इंडिया' गठबंधन के कन्हैया कुमार के बीच मुक़ाबला है.

दिल्ली लोकसभा चुनाव: क्या ‘इंडिया’ गठबंधन भाजपा का विजय अभियान रोक पाएगा?

राष्ट्रीय राजधानी में भले ही कांग्रेस और आम आदमी पार्टी साथ हैं, लेकिन कई संसदीय क्षेत्रों के दौरे के बाद सामने आया कि जनता अरविंद केजरीवाल और उनकी पार्टी को ही भाजपा के समक्ष प्रमुख चुनौती के तौर पर देखती है. दिल्ली में 25 मई को मतदान होना है.

‘बीजापुर मुठभेड़ फ़र्ज़ी, मृतकों का माओवादियों से कोई संबंध नहीं’

छत्तीसगढ़ के बीजापुर ज़िले में सुरक्षा बलों ने 10 मई को एक मुठभेड़ में 12 कथित माओवादियों को मारने का दावा किया है. मृतकों के परिजनों का कहना है कि 12 में से 10 मृतक पीडिया और ईतावर गांव के निवासी थे और खेती-किसानी किया करते थे.

भाजपा के लगातार धर्म के नाम पर वोट मांगने पर चुनाव आयोग की चुप्पी क्या कहती है

लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 की धारा 123 की उपधारा 3 और 3(ए) कहती हैं कि धर्म के आधार पर और धार्मिक प्रतीकों का इस्तेमाल करते हुए वोट के लिए अपील करना भ्रष्ट आचरण है. लेकिन मौजूदा लोकसभा चुनाव के दौरान संबंधित क़ानून का बार-बार उल्लंघन होते हुए देखा जा रहा है.