हिंदी सिनेमा

SHK.00_24_59_06.Still004

मुट्ठी भर लोग बॉलीवुड चला रहे हैं: जतिन सरना

वीडियो: अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की अचानक मौत के बाद बॉलीवुड में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया है और इंडस्ट्री में भाई-भतीजावाद की संस्कृति पर सवाल उठने शुरू हो गए हैं. इस मुद्दे पर द वायर के शेखर तिवारी की अभिनेता जतिन सरना से बातचीत.

(फोटो साभार: cinestaan.com)

भारत-चीन के बीच दोस्ती की मिसाल है डॉ. कोटनिस की अमर कहानी

ख़्वाजा अहमद अब्बास के सिनेमाई जीवन, उनकी बहुमुखी प्रतिभा के बारे में बहुत-सी बातें कही लिखी जा चुकी हैं, लेकिन आज हिंदुस्तान और चीन के बीच जारी तल्ख माहौल में उनके उपन्यास डॉ. कोटनिस की अमर कहानी की प्रासंगिकता अधिक जान पड़ रही है.

सुशांत सिंह राजपूत. (फोटो साभार: ट्विटर)

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत अपने घर में मृत पाए गए

सुशांत सिंह राजपूत ने फिल्म काय पो चे से बॉलीवुड में कदम रखा था और शुद्ध देसी रोमांस, डिटेक्टिव ब्योमकेश बक्शी, एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी, केदारनाथ और छिछोरे जैसी फिल्मों में नज़र आ चुके थे.

बासु चटर्जी. (फोटो साभार: ट्विटर/@FilmHistoryPic)

प्रख्यात फिल्मकार बासु चटर्जी का निधन

बासु चटर्जी को सारा आकाश, रजनीगंधा, छोटी-सी बात, उस पार, चितचोर, खट्टा मीठा, बातों बातों में, शौकीन, एक रुका हुआ फैसला और चमेली की शादी जैसी फिल्मों के लिए जाना जाता है. दूरदर्शन पर प्रसारित चर्चित धारावाहिक ब्योमकेश बक्शी और रजनी का निर्देशन भी उन्होंने ही किया था.

वाजिद ख़ान. (फोटो साभार: ट्विटर)

संगीतकार वाजिद ख़ान का निधन

बॉलीवुड में भाई साजिद ख़ान के साथ उनकी जोड़ी ‘साजिद-वाजिद’ के नाम से मशहूर है. ‘वॉन्टेड’, ‘दबंग’ और ‘एक था टाइगर’ जैसी सलमान ख़ान की कई हिट फिल्मों में उन्होंने संगीत दिया है.

गीतकार योगेश. (फोटो साभार: विकिपीडिया/लेंस नायक फोटोग्राफी)

सुप्रसिद्ध गीतकार योगेश का निधन

गीतकार योगेश ने राजेश खन्ना की फिल्म आनंद, जया भादुड़ी की फिल्म मिली, अमोल पालेकर की फिल्म रजनीगंधा, छोटी सी बात और बातों बातों में के अलावा अमिताभ बच्चन की फिल्म मंज़िल के लिए यादगार गीत लिखे थे.

AKS Javed Jafari 25 May.00_50_18_02.Still007

काम पर असर न हो इसलिए एक्टर्स को चुप्पी रखनी पड़ती है: जावेद जाफ़री

वीडियो: कोरोना वायरस और लॉकडाउन से बॉलीवुड पर क्या असर पड़ रहा है?समाज के इस संकट काल में बॉलीवुड सितारों की क्या ज़िम्मेदारी है? इन्हीं सब सवालों पर अभिनेता जावेद जाफ़री से आरफ़ा ख़ानम शेरवानी की बातचीत.

ऋषि कपूर. (फोटो साभार: ट्विटर/@chintskap)

अभिनेता ऋषि कपूर का 67 साल की उम्र में निधन

साल 2018 में ऋषि कपूर के कैंसर से पीड़ित होने के बारे में पता चला था. इसके बाद वे इलाज के लिए अमेरिका चले गए थे और क़रीब एक साल वहां रहने के बाद पिछले साल सितंबर में मुंबई लौटे थे.

इरफ़ान ख़ान. (फोटो साभार: फेसबुक/Irrfan)

प्रख्यात अभिनेता इरफ़ान ख़ान का निधन

साल 2018 में न्यूरोएंडोक्राइन कैंसर होने के बाद इरफ़ान ख़ान के स्वास्थ्य में सुधार नहीं हो सका था. इरफ़ान की 95 वर्षीय मां का चार दिन पहले ही जयपुर में इंतकाल हो गया था. लॉकडाउन के कारण वह उनके अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सके थे.

अभिनेत्री निम्मी. (फोटो साभार: ट्विटर)

हिंदी फिल्मों की मशहूर अभिनेत्री निम्मी का निधन

बरसात, आन, दाग, अमर, उड़न खटोला, बसंत बहार, मेरे महबूब आदि निम्मी की यादगार फिल्मों में से एक हैं. निम्मी को हीरोइन के बाद दूसरा सबसे प्रमुख किरदार निभाने के लिए जाना जाता था.

श्रीराम लागू. (फोटो साभार: ट्विटर)

प्रख्यात अभिनेता श्रीराम लागू का निधन

कलाकार होने के अलावा प्रशिक्षित ईएनटी सर्जन श्रीराम लागू ने विजय तेंदुलकर, विजय मेहता और अरविंद देशपांडे के साथ आज़ादी के बाद महाराष्ट्र में रंगमंच को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाई थी.

(फोटो: पीटीआई)

क्या उर्दू-फ़ारसी के निकलने से क़ानूनी भाषा आम लोगों के लिए आसान हो जाएगी?

हिंदी से फ़ारसी या अरबी के शब्दों को छांटकर बाहर निकाल देना असंभव है. एक हिंदी भाषी रोज़ाना अनजाने ही कितने फ़ारसी, अरबी या तुर्की के शब्द बोलता है, जिनके बिना किसी वाक्य की संरचना तक असंभव है.

अमिताभ बच्चन (फोटो साभार: फेसबुक/अमिताभ बच्चन)

अमिताभ बच्चन को दादा साहेब फाल्के पुरस्कार मिलने के मायने…

समय के साथ अमिताभ बच्चन ने सतत तरीके से अपने को नए-नए रंगों में ढाला है और जोखिम लेने से गुरेज़ नहीं किया. दूसरे प्रतिक्रिया दें, इससे पहले ही वे बदलाव की नब्ज़ पकड़ने में कामयाब रहे.

अभिनेता विजू खोटे. (फोटो साभार: विकिपीडिया)

​हिंदी और मराठी फिल्मों के प्रख्यात अभिनेता ​विजू खोटे का निधन

अभिनेता विजू खोटे ने 300 से ज़्यादा हिंदी और मराठी फिल्मों में काम किया था. फिल्म ‘शोले’ में कालिया और ‘अंदाज अपना-अपना’ में रॉबर्ट का किरदार निभाने के लिए उन्हें जाना जाता है.