Baghpat

पुलिस दबिश के दौरान महिलाओं की मौत के मामले में यूपी सरकार को एनएचआरसी का नोटिस

बागपत ज़िले के छपरौली थाना क्षेत्र में पुलिस की दबिश के दौरान ज़हर खाने वाली मां और दो बेटियों की मौत के मामले में आरोपी दारोगा को निलंबित कर दिया गया है. वहीं, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने प्रदेश के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को नोटिस भेज चार हफ्ते के अंदर विस्तृत रिपोर्ट तलब की है.

यूपी: पुलिस दबिश के दौरान ज़हर खाने वाली बागपत की मां-बेटी की भी मौत

घटना बागपत ज़िले के छपरौली थाना क्षेत्र की है, जहां पुलिस की दबिश के दौरान आरोपी की मां और दो बहनों ने ज़हर खा लिया था. छपरौली थाने के दारोगा समेत छह लोगों के ख़िलाफ़ उत्पीड़न और आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कर जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है. इस महीने यूपी पुलिस की दबिश के दौरान महिलाओं की मौत की यह चौथी घटना है.

यूपी पुलिस की दबिश के दौरान आरोपी की मां और दो बहनों ने खाया ज़हर, एक की मौत

उत्तर प्रदेश के बागपत ज़िले के छपरौली थाना क्षेत्र का मामला. पुलिस ने बताया कि प्राप्त जानकारी के मुताबिक आरोपी की मां और दोनों बहनों को डर था कि आरोपी के नहीं पकड़े जाने पर पुलिस उनको हिरासत में ले सकती है. इस महीने ये चौथी घटना है, जब यूपी पुलिस की दबिश के दौरान कथित तौर पर चार महिलाओं की मौत हो चुकी है.

पांच साल तक सोए हुए विपक्ष ने नहीं, किसान आंदोलन ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश को जगाया है

पश्चिमी उत्तर प्रदेश, जहां किसान आंदोलन का असर दिखा था, वहां के 19 विधानसभा क्षेत्रों में से भाजपा सिर्फ़ छह सीटें हासिल कर पाई है. अगर इस चुनावी नतीजे से किसी एक निष्कर्ष पर पहुंचा जाए तो वह यह है कि जनता के मुद्दों पर चला सच्चा जन आंदोलन ही ध्रुवीकरण के रुझानों को पलट सकता है और आगे चलकर यही भाजपा को पराजित कर सकता है.

तंगी के लिए कथित तौर पर प्रधानमंत्री को ज़िम्मेदार ठहराकर दंपति ने ज़हर खाया, पत्नी की मौत

उत्तर प्रदेश के बागपत ज़िले के बड़ौत का मामला है. आर्थिक तंगी से जूझ रहे एक जूता व्यापारी और उनकी पत्नी ने इसके लिए कथित तौर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ज़िम्मेदार बताते हुए फेसबुक लाइव के दौरान ज़हर खा लिया. व्यापारी ने वीडियो में आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री छोटे व्यापारियों और किसानों के हितैषी नहीं हैं.

यूपी के चीनी मिलों से रूझान: ‘भाजपा किसान नहीं, कारोबारियों की पार्टी है’

वीडियो: उत्तर प्रदेश में इसी साल चुनाव होने वाले हैं. पश्चिमी उत्तर प्रदेश गन्ने कि मिठास के लिए मशहूर है लेकिन ये मिठास काफ़ी समय से कम हो गई है. इसका कारण है किसानों को गन्ने का भुगतान समय पर न होना. द वायर की टीम बागपत की मलकपुर चीनी मिल गई और यहाँ पर गन्ना किसानों से बातकर उनकी समस्याओं को जानने की कोशिश की.

यूपी: बागपत में किसान आंदोलन से जुड़े नेताओं को दो लाख के बॉन्ड का नोटिस

रालोद पार्टी के पूर्व विधायक वीरपाल सिंह राठी ने कहा कि 31 जनवरी को बड़ौत तहसील में एक महापंचायत में शामिल होने से एक दिन पहले उन्हें और छह अन्य लोगों को नोटिस मिला था. महापंचायत में फैसला किया गया था कि क्षेत्र के लोग दिल्ली की सीमाओं पर जारी आंदोलन में शामिल होने के लिए गाजीपुर और सिंघू बॉर्डरों के लिए कूच करेंगे.

यूपीः बागपत ज़िले में धरना दे रहे किसानों को पुलिस ने कथित तौर पर जबरन हटाया

तीन कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ किसान बागपत ज़िले के बड़ौत थाना क्षेत्र स्थित राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे पिछले साल 19 दिसंबर से धरना दे रहे थे. किसानों का आरोप है कि पुलिस ने देर रात लाठी चार्ज कर उन्हें हटा दिया, जबकि पुलिस इससे इनकार कर रही है.

उत्तर प्रदेश: जैन प्रतिमा क्षतिग्रस्त करने वाले एबीवीपी के चार कार्यकर्ताओं की सदस्यता रद्द

बीते 22 दिसंबर को बड़ौत के दिगंबर जैन कॉलेज में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के चार सदस्यों ने श्रुतदेवी की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर दिया था, जिसके बाद संगठन ने माफ़ी मांगी थी. इन चारों के ख़िलाफ़ दंगा करने सहित आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

उत्तर प्रदेश: बागपत में बग़ैर अनुमति दाढ़ी रखने पर दरोगा निलंबित

अधिकारियों ने बताया कि दरोगा इंतसार अली को दो बार विभागीय अनुमति लेने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन अब तक उन्होंने ऐसा नहीं किया. नियमों की लगातार अनदेखी करने के कारण यह कार्रवाई की गई है. नियमों के अनुसार, सिखों के अलावा अन्य किसी को भी दाढ़ी रखने के लिए विभाग से अनुमति लेनी पड़ती है.

यूपी: मस्जिद के इमाम का आरोप, दाढ़ी नोचकर ‘जय श्रीराम’ बोलने को किया मजबूर, मारपीट की

मामला उत्तर प्रदेश के बागपत जिले का है. पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पाण्डेय ने बताया कि करीब 12 युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरु कर दी गई है.

उत्तर प्रदेश: सेना के दो जवानों की भीड़ ने लाठी-डंडों से की पिटाई

सीओ रामानंद कुशवाहा ने बताया कि सेना के दो जवान एक रेस्टोरेंट में खाना खा रहे थे. इसी दौरान उनकी एक शख़्स के साथ बहस हो गई और लड़ाई होने लगी. पूरे मामले में केस दर्ज कर रेस्टोरेंट के 7-8 कर्मचारियों को गिरफ़्तार किया गया है.

मोदी सरकार में मुस्लिमों के साथ ठीक व्यवहार न होने का आरोप लगाकर परिवार ने हिंदू धर्म अपनाया

बागपत जिले में हत्या के एक मामले की विवेचना से पीड़ित लोग संतुष्ट नहीं थे, जिसके चलते परिवार के 13 लोगों ने जिलाधिकारी को शपथपत्र देकर हिंदू धर्म स्वीकार कर लिया है.