Indian Cricket

1971 में वेस्टइंडीज में टेस्ट मैच जीतने वाली भारतीय टीम. (साभार: बीसीसीआई)

1971, वह साल जब भारतीय क्रिकेट ने एक नए युग में प्रवेश किया

1971 में भारतीय क्रिकेट टीम ने इंग्लैंड और वेस्टइंडीज़ को उनकी ज़मीन पर हराया था और देश में क्रिकेट को लेकर नई उम्मीदों और उत्साह का प्रसार हुआ था. उस समय में जवान हो रहे लोगों के लिए यह केवल खेल के मैदान में मिली जीत पर खुश होने का नहीं, बल्कि जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में सामूहिक क्षमताओं से रूबरू होने का पल था.

इंदिरा गांधी. (फाइल फोटो: पीटीआई)

1971: वह साल जब भारत ने अपने बारे में अच्छा महसूस किया

भारतीय इतिहास में 1971 एक ऐसे साल के तौर पर दर्ज है, जब मुश्किल यथार्थ के बीच भी भारत ने अपने बारे में अच्छा महसूस किया. यह सिर्फ उम्मीद का साल नहीं था, भारत में छिपे जीत के जज़्बे की आत्मपहचान का वर्ष भी था.

महेंद्र सिंह धोनी. (फोटो साभार: फेसबुक/@MSDhoni)

महेंद्र सिंह धोनी: पल दो पल का क़िस्सा नहीं, मक़बूल दास्तान

जनवरी 2017 में जबसे महेंद्र सिंह धोनी ने भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी छोड़ी, तबसे करिअर के अंतिम ढाई सालों में उन्हें तारीफ़ से ज़्यादा आलोचना मिली. टीम के हर कमज़ोर प्रदर्शन के बाद उनके संन्यास के कयास लगने शुरू हो जाते, लेकिन आंकड़े बताते हैं कि इन सालों में भी उनकी चमक फ़ीकी नहीं पड़ी थी.

**EDS: RPT, ADDS MASTERCARD WORD** New Delhi: Indian cricketer Mahendra Singh Dhoni during the launch of 'Mastercard Team Cashless India', a nationwide initiative to accelerate and adoption of digital payment, in New Delhi, Wednesday, Oct. 16, 2019. (PTI Photo/Manvender Vashist) (PTI10_16_2019_000034B)

धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 90 टेस्ट, 350 वनडे और 98 टी20 मैच खेलकर करीब 17,000 रन बनाए और विकेट के पीछे 829 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा है. 2007 में टी20 विश्व कप, 2011 वनडे विश्व कप और 2013 में उन्होंने चैंपियंस ट्राफी जीता है. वह एकमात्र क्रिकेट कप्तान हैं, जिसने आईसीसी के इन तीन ख़िताबों पर क़ब्ज़ा किया है. सुरेश रैना ने भी संन्यास की घोषणा की.

HBB 2 July 2020.00_36_57_04.Still002

मुझे जिहादी-आतंकवादी कहा गया, तब तय किया चुप नहीं रहूंगा: इरफ़ान पठान

वीडियो: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व ऑलराउंडर इरफ़ान पठान ने हाल ही में पूर्व भारतीय कोच ग्रेग चैपल का बचाव किया था. उन्होंने कहा था कि उनका करिअर बर्बाद करने के लिए लोग चैपल को दोष देते हैं, लेकिन इसमें उनका कोई हाथ नहीं है. इसे लेकर ट्विटर पर लोगों ने उन्हें ट्रोल किया. यहां तक कह दिया कि वे अगला आतंकी हाफ़िज़ सईद बनना चाहते हैं. इस मुद्दे पर द वायर की आरफ़ा ख़ानम शेरवानी ने उनसे बातचीत की.

महेंद्र सिंह धोनी. (फोटो: रॉयटर्स)

धोनी के साथ बीसीसीआई ने क़रार तोड़ा, पूर्व क्रिकेट कप्तान केंद्रीय अनुबंध सूची से बाहर

बीसीसीआई ने धोनी के अलावा दिनेश कार्तिक, ख़लील अहमद और अंबाती रायडु से भी क़रार ख़त्म कर लिया है. वहीं कप्तान विराट कोहली, उप-कप्तान रोहित शर्मा और तेज गेंदबाज़ जसप्रीत बुमराह ‘ए प्लस’ ग्रेड में बने हुए हैं, जिन्हें अनुबंध के तहत प्रति वर्ष सात करोड़ रुपये मिलते हैं.

sunil gavaskar-twitter

देश के हालात ठीक नहीं, युवा सड़कों पर हैंः सुनील गावस्कर

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने कहा कि देशभर में विरोध प्रदर्शन से बने मौजूदा मुश्किल हालात से भारत उबर जाएगा, जैसे अतीत में वह संकट की कई स्थितियों से निपटने में सफल रहा है.

Kolkata: Former Indian cricket captain Sourav Ganguly during a promotional event for Complan 'Kom Protein Cholbe Na' (Say No To Less Protein) movement, in Kolkata on Thursday. PTI Photo (PTI5_10_2018_000205B)

सौरव गांगुली का बीसीसीआई अध्यक्ष बनना तय, अमित शाह के बेटे को मिलेगा सचिव पद

पूर्व क्रिकेटर सौरव गांगुली ने बीसीसीआई के अध्यक्ष पद की होड़ में बृजेश पटेल को पछाड़ दिया है और अब इस पद के लिए वे अकेले उम्मीदवार हैं.

अम्बाती रायुडू. (फोटो साभार: ​बीसीसीआई)

विश्वकप टीम से बाहर किए गए अम्बाती रायुडू ने क्रिकेट से संन्यास लिया

अम्बाती रायुडू ने अब तक संन्यास लेने की आधिकारिक घोषणा नहीं की है. बताया जा रहा है कि रायुडू को विश्वकप के लिए अधिकारिक स्टैंडबाय लिस्ट में रखा गया था, लेकिन ऑलराउंडर विजय शंकर के चोटिल होने के बाद उनकी जगह मयंक अग्रवाल को टीम में शामिल कर लिया गया.

भारतीय बल्लेबाज़ विराट कोहली. (फोटो: रॉयटर्स)

अगर दूसरे देशों के क्रिकेटर पसंद हैं तो आपको भारत में नहीं रहना चाहिए: विराट कोहली

सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति ने लिखा कि उन्हें भारतीयों से ज़्यादा अंग्रेज़ और आॅस्ट्रेलियाई ​क्रिकेट खिलाड़ी पसंद हैं और विराट कोहली एक ओवररेटेड बल्लेबाज़ हैं.

Major Dhyanchand

हॉकी के जादूगर ध्यानचंद को भारत रत्न देने से क्यों कतरा रही हैं सरकारें?

सचिन तेंदुलकर को महज़ 24 घंटे के अंदर भारत रत्न देने का फैसला लेने वाली सरकारें चार बार सिफारिश के बावजूद मेजर ध्यानचंद को भारत रत्न देने का मन अब तक नहीं बना पाई हैं.