नॉर्थ ईस्ट

बीफ बैन को लेकर मेघालय भाजपा के एक और नेता ने इस्तीफा दिया

भाजपा से इस्तीफा देने के बाद बाचू मरक ने कहा, ‘मैं अपने लोगों की भावनाओं को लेकर समझौता नहीं कर सकता. बीफ खाना हमारी संस्कृति और परंपरा का हिस्सा है. हमें भाजपा की गैरकानूनी विचारधारा स्वीकार नहीं है.’

cow

(फाइल फोटो: पीटीआई)

तूरा (मेेघालय): पशुओं को काटने के लिए बाजार में बेचने पर केंद्र सरकार के प्रतिबंध को लेकर मेघालय के नॉर्थ गारो हिल्स जिले के भाजपा अध्यक्ष बाचू मरक ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है.

बाचू का इस्तीफा उस वक्त हुआ है जब सप्ताह भर पहले वेस्ट गारो हिल्स के भाजपा जिला अध्यक्ष बर्नार्ड एन. मरक ने इसी मुद्दे पर पार्टी छोड़ दी थी.

भाजपा से इस्तीफा देने के बाद बाचू ने कहा, ‘मैं गारो के लोगों की भावनाओं को लेकर समझौता नहीं कर सकता. एक गारो के तौर पर यह मेरी जिम्मेदारी है कि मैं अपने समुदाय के हित की रक्षा करूं. बीफ खाना हमारी संस्कृति और परंपरा का हिस्सा है. हम पर भाजपा की गैरकानूनी विचारधारा थोपना हमें स्वीकार नहीं है.’

उन्होंने पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष शिबुन लिंगदोह को अपना दस्तीफा सौंपा. हाल ही में मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने के मौके पर बाचू ने गारो हिल्स में बिची (चावल की बीयर) और बीफ पार्टी का प्रस्ताव दिया था जिसको लेकर पार्टी के नेतृत्व ने आलोचना की थी.

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता नलिन कोहली ने बाचू के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की चेतावनी दी थी. बाद में बाचू ने फेसबुक पर अपने इस्तीफे की घोषणा करते हुए कहा था, मेरी परंपरा और संस्कृति मेरी पहली प्राथमिकता है और पार्टी सबसे बाद में है. हर बार बीफ ही मुद्दा क्यों, सूअर, मुर्गे-मुर्गियां, बकरी और दूसरे पशु मुद्दा क्यों नहीं हैं.

भाजपा से पहले ही इस्तीफा दे चुके बर्नार्ड मराक 10 जून को तुरा के ईडेन बारी में बीफ पार्टी का आयोजन करेंगे और बाचू के इसमें शामिल होने की संभावना है.

वहीं, दूसरी ओर भाजपा ने उन खबरों को फर्जी और द्वेषपूर्ण झूठ करार दिया, जिनमें कहा गया था कि पार्टी मेघालय में गोमांस पर प्रतिबंध लगाना चाहती है. पार्टी ने कहा कि ऐसा कोई भी फैसला राज्य सरकार के हाथ में है.

मेघालय में भाजपा के प्रभारी नलिन कोहली ने इस द्वेषपूर्ण झूठ को फैलाने के लिए कांग्रेस को दोषी ठहराया और आरोप लगाया कि अगले साल चुनावी मैदान बनने जा रहे इस राज्य में कांग्रेस राजनीतिक एजेंडे का सांप्रदायीकरण कर रही है.

कोहली ने कहा कि पार्टी ने बाचू मरक केे इस्तीफे का स्वागत किया क्योंकि पार्टी उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने जा रही है. वह और कुछ अन्य लोग पार्टी की संभावनाओं को नुकसान पहुंचाने का काम कर रहे हैं.

कोहली ने कहा, ‘सत्य से परे कुछ भी नहीं है क्योंकि हमारी संवैधानिक व्यवस्था के तहत, केंद्र सरकार उस क्षेत्र का अतिक्रमण नहीं कर सकती, जिसमें राज्य सरकार को फैसला लेना होता है.’

उन्होंने कहा कि मेघालय का भाजपा का एकसूत्री एजेंडा सबका साथ सबका विकास है और वह विकास के अपने सकारात्मक एजेंडे पर विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए तैयार हो रही है.

उन्होंने कहा कि वह मुकुल संगमा की कांग्रेस सरकार के तहत किए गए भारी भ्रष्टाचार, अधूरे वादों और विकास की कमी को भी उजागर करेगी. उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि वह अपने प्रदर्शन पर बहस से भाग रही है.