भारत

आप की जीत को कांग्रेस नेताओं ने विकास की जीत और विभाजनकारी एजेंडे की हार कहा

पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने कहा कि आप की जीत बेवक़ूफ़ बनाने तथा फेंकने वालों की हार है. दिल्ली के लोगों ने भाजपा के ध्रुवीकरण, विभाजनकारी और ख़तरनाक एजेंडे को हराया है.

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, अभिषेक मनु सिंघवी, पी. चिदंबरम, कपिल सिब्बल और मल्लिर्जुन खड़गे. (फोटो: पीटीआई)

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद, अभिषेक मनु सिंघवी, पी. चिदंबरम, कपिल सिब्बल और मल्लिर्जुन खड़गे. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा में आम आदमी पार्टी (आप) की जीत पर देशभर की विपक्षी पार्टियों ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बधाई दी और भाजपा की हार को सांप्रदायिक राजनीति की हार बताया है. इन प्रमुख विपक्षी पार्टियों में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी), डीएमके, एनसीपी, माकपा, भाकपा व अन्य पार्टियां शामिल हैं.

बता दें कि, दिल्ली विधानसभा चुनाव में 70 सीटों के आधिकारिक रुझान सामने आ चुके हैं जिसमें आप 63 सीटों पर आगे है जबकि भाजपा सात सीटों पर आगे चल रही है. पिछले चुनाव में शून्य पर रही कांग्रेस इस बार भी खाता खोलते हुए नहीं दिख रही है.

हालांकि, कांग्रेस पार्टी की बुरी हार के बाद भी कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं ने आम आदमी पार्टी की जमकर तारीफ की है. उन्होंने दिल्ली विधानसभा चुनाव में आप की जीत को विकास की जीत बताते हुए भाजपा के ध्रुवीकरण, विभाजनकारी और खतरनाक एजेंडे की हार बताया.

पूर्व वित्त मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा, ‘आप की जीत हुई, बेवकूफ बनाने तथा फेंकने वालों की हार. दिल्ली के लोग, जो भारत के सभी हिस्सों से हैं, ने भाजपा के ध्रुवीकरण, विभाजनकारी और खतरनाक एजेंडे को हराया है. मैं दिल्ली के लोगों को सलाम करता हूं जिन्होंने 2021 और 2022 में अन्य राज्यों जहां चुनाव होंगे के लिए मिसाल पेश की है.’

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि दिल्ली की जनता ने केवल विकास को चुना और भाजपा का असली चेहरा पूरे देश में पहचाना जा रहा है.

दिल्ली विधानसभा चुनावों में कांग्रेस का खाता भी नहीं खुलने के सवाल पर कमलनाथ ने मंगलवार को मीडिया से कहा, ‘यह तो पहले से हम जानते थे. पर सबसे बड़ी बात है कि इतनी लम्बी-चौड़ी बातें करने वाली भाजपा का क्या परिणाम हुआ. मोदी जी तो दिल्ली के सबसे ज्यादा करीब हैं. अगर लोग संतुष्ट होते तो भाजपा को चुन लेते.’

यह पूछे जाने पर कि दिल्ली की जनता ने शाहीन बाग जैसे मुद्दे को नकार दिया, मुख्यमंत्री ने कहा, ‘उन्होंने (जनता) केवल विकास की बात की. भारतीय जनता पार्टी का सही चेहरा पूरे देश में पहचाना जा रहा है.’

एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि यह लोगों का ध्यान मोड़ने की राजनीति है. भाजपा नेता और मोदी जी बेरोजगारी के बारे में, कृषि क्षेत्र के बारे में बात नहीं करते, बल्कि राष्ट्रवाद, पाकिस्तान और सीएए पर बात करते हैं.

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में जीत के लिए आम आदमी पार्टी व अरविंद केजरीवाल को बधाई दी है.

पायलट ने विधानसभा चुनाव परिणाम आने के बाद आप व केजरीवाल को बधाई देते हुए ट्वीट किया, ‘जोरदार जीत के लिए आम आदमी पार्टी व अरविंद केजरीवाल को बधाई। दिल्ली को और बेहतर बनाने के लिए आपको शुभकामनाएं.’

पायलट ने लिखा, ‘जनता बोली है. लोकतंत्र मजबूत हुआ है. उम्मीद है कि कटुता समाप्त होगी.’

वहीं, वरिष्ठ कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा, आज मैंने टीवी चैनल, अदालत और संसद के अपने दोस्तों से पूछा. मुझे बताया गया कि भाजपा 15 सीटों के आस-पास रहेगी. कुछ इसी तरह की उम्मीद है. आप ने शिक्षा, स्वास्थ्य और अन्य क्षेत्रों में अच्छा काम किया है. कांग्रेस को शीला दीक्षित के विकल्प के रूप में एक चेहरे की तलाश करनी चाहिए और अब से चार सालों तक उसका समर्थन करना चाहिए.

वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव जीतने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बधाई दी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)