भारत

दिल्ली हिंसा: देखते ही गोली मारने के आदेश, नए विशेष पुलिस आयुक्त नियुक्त

दिल्ली पुलिस ने इस बात की पुष्टि की कि जाफराबाद में प्रदर्शन स्थल पर इकट्ठा हुए प्रदर्शनकारी वहां से चले गए हैं.

25 फरवरी को उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सुरक्षाकर्मी. (फोटो: पीटीआई)

25 फरवरी को उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सुरक्षाकर्मी. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में हिंसा पर नियंत्रण के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मंगलवार रात आईपीएस अधिकारी एसएन श्रीवास्तव को सीआरपीएफ से वापस बुलाकर दिल्ली पुलिस का विशेष आयुक्त (कानून-व्यवस्था) नियुक्त किया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

उनकी नियुक्ति की खबर उत्तर पूर्वी दिल्ली में पुलिस को उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का आदेश जारी करने के बाद आई है.

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव बीएल संतोष ने विशेष पुलिस की आयुक्ति और गोली मारने का आदेश के बारे में ट्वीट करने के साथ जाफराबाद में सीएए विरोधी प्रदर्शन स्थल के प्रदर्शनकारियों द्वारा खाली कराने के बारे में भी बताया.

पुलिस ने इस बात की पुष्टि की कि शनिवार से प्रदर्शन स्थल पर इकट्ठा हुए प्रदर्शनकारी वहां से चले गए हैं.

श्रीवास्तव एजीएमयूटी कैडर के 1985 बैच के अधिकारी हैं, जिनके 29 फरवरी को अमूल्य पटनायक के विस्तारित कार्यकाल के खत्म होने के बाद दिल्ली पुलिस के नए प्रमुख के रूप में कार्यभार संभालने की संभावना है.

दिल्ली सरकार के गृह विभाग द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है कि अधिकारी को दिल्ली पुलिस के इस पद पर ‘तत्काल प्रभाव’ से नियुक्त किया जा रहा है.

श्रीवास्तव केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) में विशेष महानिदेशक (प्रशिक्षण) के पद पर कार्यरत थे. सीआरपीएफ ने भी गृह मंत्रालय के आदेश के बाद अधिकारी के नए पद संभालने संबंधी आदेश जारी किया.

पुलिस ने भजनपुरा और खजूरी खास में किया फ्लैग मार्च

उत्तर पूर्व दिल्ली के भजनपुरा और खजूरी खास इलाके में मंगलवार को आगजनी और पथराव होने के बाद पुलिस ने फ्लैग मार्च किया. भजनपुरा में बैटरी की एक दुकान जला दी गयी. उस दुकान में तोड़फोड़ की गयी. सड़क पर जली हुई बैटरियां बिखरी नजर आयीं.

स्थानीय व्यक्ति राकेश कुमार ने कहा कि करीब साढ़े तीन बजे यह यह घटना घटी. उन्होंने कहा, ‘हम नहीं जानते कि स्थिति कैसे बिगड़ी. हम अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतिंत है. मेरा परिवार अपने घर के नजदीक ऐसी चीज देखकर डरा हुआ है.’

विशेष पुलिस आयुक्त सतीश गोलचा और प्रवीर रंजन ने फ्लैग मार्च की अगुवाई की. विशेष पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था, उत्तरी क्षेत्र) गोलचा ने कहा, ‘ हम उपयुक्त कार्रवाई कर रहे हैं. जरूरी बल का इस्तेमाल किया जा रहा है. भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आंसू गैस और हल्के लाठीचार्ज का इस्तेमाल किया गया है. हम बदमाशों को हिरासत में लेंगे और उनके विरूद्ध उपयुक्त कार्रवाई की जाएगी.’

उन्होंने कहा, ‘फिलहाल इलाके में पथराव रुक गया है. जबतक स्थिति नियंत्रण में नहीं आ जाती, हम वहां बने रहेंगे. यदि जरूरत महसूस हुई तो हम अतिरिक्त सुरक्षाबल तैनात करेंगे.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)