भारत

मध्य प्रदेशः देवास में सफाईकर्मियों पर कुल्हाड़ी से हमला, चार गिरफ़्तार

यह घटना देवास के खातेगांव इलाके के कोयला मोहल्ले की है. सफाईकर्मियों पर हमला करने के मुख्य आरोपी आदिल ख़ान के ख़िलाफ़ राष्ट्रीय सुरक्षा क़ानून के तहत केस दर्ज किया गया है.

(फोटो साभारः ट्विटर)

(फोटो साभारः ट्विटर)

भोपालः मध्य प्रदेश के देवास जिले में शनिवार को सफाईकर्मियों पर हमला किया गया, जिसमें एक सफाईकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गया है.

यह घटना देवास जिले के खातेगांव में हुई. पुलिस ने इस संबंध में चार लोगों को गिरफ्तार किया है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, सफाईकर्मियों पर हमला करने के मुख्य आरोपी आदिल खान के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत केस दर्ज किया गया है.

खातेगांव पुलिस थाने के प्रभारी निरीक्षक सज्जन सिंह मुकाती ने बताया कि एक सफाईकर्मी आशीष राजौर की शिकायत पर पुलिस ने आदिल खां, आदिल के पिता हबीब खां और गोप खां को आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार किया है.

पुलिस अधिकारी ने बताया, देवास जिले के कोयला मोहल्ला इलाके में शनिवार को तीन सफाईकर्मी आशीष, दीपक कलोसिया और चंकी मनोहर नाली की सफाई कर रहे थे. इसी दौरान आदिल ने यह कहते हुए उन पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया कि नाली साफ करने से बहुत बदबू आती है. बचाव में तीनों सफाईकर्मी वहां से भागे तो आदिल ने तीनों का पीछा किया और दीपक एवं चंकी पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया.

उन्होंने बताया कि शोर सुनकर अन्य लोगों के आ जाने के बाद आदिल वहां से भाग गया. उन्होंने बताया कि आदिल के साथ उसका भाई आरिफ और पिता हबीब भी सफाईकर्मियों को मारने दौड़े थे.

पुलिस ने आदिल और उसके पिता हबीब खां को कन्नौद के पास जंगल से गिरफ्तार कर लिया.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, इस घटना में शामिल आदिल के भाई आरिफ को बीते शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया. एएसपी ग्रामीण नीरज चौरसिया ने बताया कि आदिल और हबीब ने बताया कि एक स्थानीय व्यक्ति ने उन्हें कहा था कि सरकार और स्वास्थ्य अधिकारी कथित रूप से एक खास समुदाय के लोगों पर हमला कर रहे हैं और उन्हें इसका ‘बदला’ लेना चाहिए.

पुलिस के अनुसार, आरोपी आदिल ने पूछताछ में बताया कि बंद के दौरान कोयला मोहल्ला की जामा मस्जिद के सदर गोप खां (60) ने उन्हें हमले के लिए उकसाया था और कहा था कि ये लोग हम नमाजियों को मार रहे हैं. इसी बहकावे में आकर हमने उक्त घटना को अंजाम दिया.

प्रभारी निरीक्षक मुकाती ने बताया कि पुलिस ने गोप खां को भी आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार किया है.

सफाईकर्मी पर कुल्हाड़ी से हमले के मामले में सफाई कर्मचारियों के संगठन ने उस मोहल्ले में जाने से इनकार कर दिया है.

मालूम हो कि इससे पहले मध्य प्रदेश के इंदौर में डॉक्टरों की एक टीम पर हमला किया गया था.

इंदौरे के टाटपट्टी बाखल इलाके में बीते एक अप्रैल को कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए अभियान चला रहे स्वास्थ्यकर्मियों पर लोगों ने पथराव कर दिया था. इससे दो महिला डॉक्टरों के पैर में चोटें आई थीं.

दोनों महिला डॉक्टर कोरोना वायरस के खिलाफ अभियान चला रहे स्वास्थ्य विभाग के पांच सदस्यीय दल में शामिल थीं. यह दल कोरोना वायरस संक्रमण के एक मरीज के संपर्क में आये लोगों को ढूंढने गया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)