भारत

कोरोना वायरस: मुंबई में मुस्लिम डिलीवरी बॉय से सामान लेने से इनकार करने वाला व्यक्ति गिरफ़्तार

ठाणे ज़िले के कशीमीरा इलाके का मामला. पुलिस ने धार्मिक भावना को आहत करने के उद्देश्य से दुर्भावनापूर्ण हरकत करने का मामला दर्ज किया है.

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो: पीटीआई)

(प्रतीकात्मक तस्वीर: पीटीआई)

ठाणे: महाराष्ट्र के ठाणे जिले के कशीमिरा इलाके में कथित तौर पर मुस्लिम डिलीवरी बॉय से सामान लेने से इंकार करने के आरोप में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. कशीमीरा रोड जया पार्क इलाके में बरकत उस्मान पटेल नामक डिलीवरी बॉय सामान पहुंचाने गए थे.

एक पुलिस अधिकारी के अनुसार, बीते 21 अप्रैल को गजानन चतुर्वेदी (51) के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 295 ए (धार्मिक भावना को आहत करने के उद्देश्य से दुर्भावनापूर्ण हरकत करना) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

मीरा रोड के रहने वाले 32 वर्षीय बरकत उस्मान एक ऑनलाइन रिटेल स्टोर में नौकरी करते हैं.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, 21 अप्रैल को बरकत की नौवीं डिलीवरी सुबह 9:40 बजे जया पार्क स्थित एक युवती के घर पर थी. बरकत जब युवती को सामान का पार्सल देने वाले थे तो उनके पिता गजानन ने उन्हें सामान लेने से रोक दिया.

उस बरकत ने इस घटना का एक वीडियो भी बनाया है और जिसे उन्होंने पुलिस को सौंपा दिया है. वीडियो में आरोपी आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए नजर आ रहा है.

बरकत ने बताया, ‘महिला (युवती) पार्सल लेना चाह रही थीं लेकिन पुरुष (गजानन) ने मना कर दिया. जब उन्होंने ये कहा कि वो मुसलमानों से पार्सल नहीं लेंगे तो मैंने बिना कुछ कहे अपने फोन पर इसकी रिकॉर्डिंग शुरू कर दी. यह बहुत दुखद था.’

कोरोना वायरस के मद्देनजर सामान पहुंचाने वालों को हिदायत दी गई है कि वे सोसायटी के अंदर ना जाएं. ग्राहकों को फोन कर गेट पर बुलाएं और सामान सौंप दें.

बरकत ने कहा, ‘जबसे लॉकडाउन लागू कर दिया गया तब से ग्राहक उनके साथ ज़्यादा सम्मानपूर्वक बरताव कर रहे हैं. ये काम करते हुए हम काफ़ी जोख़िम उठा रहे हैं. ज़्यादातर ग्राहक समझते हैं कि हम बाहर क्यों घूम रहे हैं.’

कशीमीरा पुलिस थाने के वरिष्ठ इंस्पेक्टर संजय हजारे ने बताया कि आरोपी को उसके घर से गिरफ्तार करने के बाद कोर्ट में पेश किया गया था. कोर्ट ने उसे हिरासत में भेज दिया है.