भारत

बीते 24 घंटे में कोविड-19 के रिकॉर्ड मामले दर्ज, ठीक होने की दर क़रीब 31 फीसदी: स्वास्थ्य मंत्रालय

स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, देश में बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 4,213 मामले सामने आए हैं, जो एक दिन की सर्वाधिक संख्या है और संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 67,152 हो गए हैं.

(फोटोः पीटीआई)

(फोटोः पीटीआई)

नई दिल्लीः देश में बीते 24 घंटों में कोरोना के रिकॉर्ड 4,213 मामलों की बढ़ोतरी हुई है, जो कि एक दिन की सर्वाधिक संख्या है. इसके बाद देश में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 67,152 हो गए हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, कोरोना से ठीक हुए मरीजों की संख्या में सर्वाधिक उछाल आया है. देश में कोरोना के सक्रिय मामले 44,029 हो गए हैं जबकि मृतकों की संख्या 2,206 हो गई है.

मंत्रालय का कहना है कि 20,196 मरीज कोरोना से ठीक हो गए हैं और उन्हें डिस्चार्ज कर दिया है.

द हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक, इस अवधि के दौरान इलाज के बाद 1,511 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज हो गए जिसके बाद रिकवरी की कुल दर 30.76 फीसदी हो गई है.

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) का कहना है कि अब तक 16,09,037 सैंपलों की जांच की गई है.

मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, बीते 24 घंटों में 10 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से कोरोना का कोई नया मामला सामने नहीं आया.

पश्चिम बंगाल में कोरोना से 14 और मौतें हुई हैं जिसके बाद राज्य में मृतकों की संख्या बढ़कर 113 हो गई है. इन 14 मौतों में से अकेले कोलकाता में 10 मौत हुई है. राज्य में कोरोना के 153 नए मामले भी सामने आए हैं, जो अब तक की सबसे बड़ी संख्या है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोमवार को विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक से पहले कैबिनेट सेक्रेटरी राजीव गौबा ने कोरोना की स्थितो को लेकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों और गृह सचिवों से बात की थी.

गौबा ने बताया कि रेलवे ने 3.5 लाख प्रवासी मजदूरों की घर वापसी के लिए 350 श्रमिक विशेष ट्रेनें चलाईं.

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक, कोरोना के सक्रिय पुष्ट मामलों के आधार पर हमें पता चला है कि इनमें से सिर्फ 2.48 फीसदी मामलों में ही आईसीयू की जरूरत है, सिर्फ 1.94 फीसदी मामलों को ही ऑक्सीजन की जरूरत है, जबकि 0.40 फीसदी मामलों में ही वेंटिलेटर सपोर्ट की जरूरत है.

इस संबंध में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि दुनियाभर के 20 देशों में जहां कोरोना के अधिकतम मामले दर्ज हुए हैं, वहां की कुल आबादी भारत की आबादी (135 करोड़) के लगभग समान है और इन देशों में अब तक के सामूहिक मामले भारत की तुलना में लगभग 84 गुना है.

उन्होंने कहा कि मृत्यु दर के मामले में इन शीर्ष 20 देशों में भारत में मौतों की संख्या की तुलना में 200 गुना अधिक मौतें हुई हैं.

डॉ. हर्षवर्धन ने कहा, ‘केंद्र सरकार ने अब तक राज्यों को 72 लाख एन-95 मास्क और 36 लाख पीपीई किट भेजी है. रेलवे ने 5,231 कोचों को कोविड केयर सेंटर्स में तब्दील किया है.’