दुनिया

कोरोना वायरस: भारत में मौत का आंकड़ा 2500 के पार, अफ्रीका के सभी 54 देशों में संक्रमण पहुंचा

कोरोना वायरस से दुनिया भर में 2.97 लाख लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि संक्रमण के मामले 43 लाख से ज़्यादा हो चुके हैं. भारत में संक्रमण के मामले 78 हज़ार के पार पहुंच गए हैं. ब्रिटेन में भारतीय मूल की महिला की मौत. नॉर्वे आंशिक रूप से अपनी सीमाएं खोल रहा है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से पिछले 24 घंटे में 134 लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 2,549 तक पहुंच गई है. वहीं बुधवार सुबह आठ बजे से संक्रमण के 3,722 नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या 78,003 हो गई.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में 49,219 लोगों का इलाज चल रहा है जबकि अब तक 26,234 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और एक मरीज देश से बाहर जा चुका है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘अब तक 33.63 फीसदी मरीज स्वस्थ हो चुके हैं.’

संक्रमित लोगों में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं.

बुधवार सुबह से बृहस्पतिवार सुबह तक 134 लोगों की मौत हुई. इनमें से सबसे ज्यादा 54 लोगों की मौत महाराष्ट्र में, गुजरात में 29, दिल्ली में 20, पश्चिम बंगाल में नौ, मध्य प्रदेश में सात, राजस्थान में चार, तमिलनाडु में तीन, तेलंगाना और कर्नाटक में दो-दो, आंध्र प्रदेश, बिहार, जम्मू कश्मीर और उत्तर प्रदेश में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई.

देश में अब तक इस वायरस की वजह से 2,549 लोगों की मौत हो चुकी है. महाराष्ट्र में अब तक 975, गुजरात में 566, मध्य प्रदेश में 232, पश्चिम बंगाल में 207, राजस्थान में 121, दिल्ली में 106, उत्तर प्रदेश में 83, तमिलनाडु में 64 और आंध्र प्रदेश में 47 लोगों की मौत हुई.

तेलंगाना में 34, कर्नाटक में 33, पंजाब में 32, हरियाणा और जम्मू कश्मीर में 11-11 तथा बिहार में सात और केरल में छह लोगों की मौत हुई.

मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, झारखंड, चंडीगढ़ और ओडिशा में कोविड-19 से तीन-तीन लोगों की मौत हुई. वहीं हिमाचल प्रदेश और असम में दो-दो लोगों की मौत हुई. मेघालय, उत्तराखंड और पुदुचेरी में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई.

मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार, मृतकों में से 70 फीसदी पहले से ही अन्य बीमारियों से ग्रस्त थे.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार सुबह में नए आंकड़े जारी किए हैं. कोरोना वायरस से देश भर में सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में 25,922 लोग संक्रमित हैं. इसके बाद गुजरात में 9,267, तमिलनाडु में 9,227, दिल्ली में 7,998, राजस्थान में 4, 328, मध्य प्रदेश में 4,173 और उत्तर प्रदेश में 3,729 लोग संक्रमित हैं.

पश्चिम बंगाल में 2,290, आंध्र प्रदेश में 2,137, पंजाब में 1,924, तेलंगाना में 1,367, जम्मू कश्मीर में 971, कर्नाटक में 959, बिहार में 940 और हरियाणा में 793 मामले हैं. केरल में 534, ओडिशा में 538, चंडीगढ़ में 187 और झारखंड में 173 मामले हैं.

त्रिपुरा में संक्रमण के 155 मामले, असम में 80, उत्तराखंड में 72, हिमाचल प्रदेश में 66, छत्तीसगढ़ में 59, लद्दाख में 43 मामले हैं. अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में संक्रमण के 33 मामले हैं, जबकि मेघालय और पुदुचेरी में संक्रमण के 13 और गोवा में सात मामले हैं.

मणिपुर में संक्रमण के दो मामले हैं. वहीं मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश, दादर-नगर हवेली में संक्रमण के एक-एक मामले हैं.

मंत्रालय ने कहा कि आंकड़ों का मिलान आईसीएमआर से किया जा रहा है और राज्यवार आंकड़े पुष्टि और मिलान का विषय हैं.

लेसोथे में भी मामला सामने आया, पूरे अफ्रीका महाद्वीप में पहुंचा संक्रमण

मेसेरु (लेसोथो): दक्षिणी अफ्रीका के छोटे से देश लेसोथो में बुधवार को कोरोना वायरस के पहले मामले की पुष्टि हुई. इसी के साथ अफ्रीका के अब सभी 54 देशों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सामने आ गए हैं.

लेसोथो के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि हाल में देश में आया एक व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है, लेकिन उसमें बीमारी के कोई लक्षण नहीं थे. मरीज को पृथक कर दिया गया है.

20 लाख की आबादी वाला लेसोथे दक्षिण अफ्रीका से सटा है, जहां इस महाद्वीप में सबसे ज्यादा मामले सामने आए हैं. दक्षिण अफ्रीका में कोविड-19 के 12,074 मामले आए हैं, जबकि 217 लोगों की मौत हो चुकी है.

दुनिया भर में 2.97 लाख से अधिक की मौत

दुनियाभर में कोरोना वायरस की चपेट में आकर अब तक 297,491 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और संक्रमण के मामले 4,364,172 हो गए हैं.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

इस महामारी से सबसे प्रभावित देश अमेरिका में मंगलवार तक 84,387 लोगों की मौत हो चुकी थी और संक्रमण के मामले 1,390,764 हो चुके हैं.

अमेरिका के जॉन्स हॉप्किन्स विश्वविद्यालय के अनुसार, अमेरिका के बाद दूसरे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्रिटेन में मौत का आंकड़ा 33,263 हो गया है, जबकि संक्रमण के कुल मामले 230,985 पहुंच चुके हैं.

ब्रिटेन के बाद इटली में अब तक 31,106 लोग इस महामारी से दम तोड़ चुके हैं और संक्रमण के मामले बढ़कर 222,104 हो गए हैं.

इसी तरह स्पेन में संक्रमण का आंकड़ा 228,691 पहुंच गया है और इस देश में अब तक 27,104 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. वहीं, फ्रांस में मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 27,077 हो गई है, जबकि यहां संक्रमण के मामले 178,184 तक पहुंच चुके हैं.

ब्रिटेन: भारतीय मूल की महिला डॉक्टर की मौत

लंदन: पिछले लंबे समय से कोरोना वायरस संक्रमण से जूझ रहीं भारतीय मूल की महिला चिकित्सक डॉ. पूर्णिमा नायर (55) की मौत हो गई.

केरल की मूल निवासी नायर इंग्लैंड में काउंटी डरहम के बिशप ऑकलैंड में स्टेशन व्यू मेडिकल सेंटर में सेवाएं दे रही थीं. उनकी स्टॉकटन-ऑन-टीज में नॉर्थ टीज अस्पताल में मौत हो गई. वह लंबे समय से कोविड-19 से संक्रमित थीं.

नायर कोरोना वायरस को काबू की कोशिशों में प्रत्यक्ष रूप से योगदान दे रहे ब्रिटेन के चिकित्सक समुदाय की 10वीं सदस्य मानी जा रही हैं, जिनकी इस संक्रमण के कारण मौत हुई है.

चिकित्सा केंद्र ने एक संदेश में कहा, ‘केंद्र को हमारी प्रिय एवं मूल्यवान सहयोगी और मित्र डॉ. पूर्णिमा नायर की मौत की घोषणा करते हुए बहुत दुख हो रहा है.’

बिशप ऑकलैंड की सांसद डेहेन्ना डेविडसन ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा, ‘डॉ. नायर हमारे समुदाय की जानी-मानी और अहम सदस्य थीं. हम सभी को उनकी कमी बहुत खलेगी. मैं उनके परिवार, मित्रों और सहकर्मियों के प्रति संवेदनाएं प्रकट करती हूं.’

डॉ. नायर के सहकर्मियों, मित्रों और उनके मरीजों ने भी सोशल मीडिया के जरिए उन्हें श्रद्धांजलि दी.

चीन में 15 नए मामले, वुहान में 1.1 करोड़ लोगों की जांच शुरू

बीजिंग/वुहान: चीन में बृहस्पतिवार को कोरोना वायरस के 15 नए मामले सामने आए जिनमें से 12 मरीजों में बीमारी के लक्षण नहीं दिखे.

वैश्विक महामारी का दूसरा दौर शुरू होने की आशंकाओं के बीच इस जानलेवा संक्रामक रोग का केंद्र रहे वुहान शहर में 1.1 करोड़ लोगों की कोविड-19 के लिए बड़े पैमाने पर जांच शुरू हो गई है.

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचसी) ने बताया कि तीन मामले स्थानीय हैं जिनमें से दो लियाओनिंग प्रांत और एक जिलिन प्रांत में सामने आया.

एनएचसी ने बताया कि बुधवार तक चीन मुख्य भूभाग पर संक्रमितों की संख्या 82,929 थी, जिनमें से 101 मरीजों का अब भी इलाज चल रहा है. चीन में अब तक कुल 4,633 लोग इस संक्रामक रोग के चलते जान गंवा चुके हैं.

जिलिन की उप महापौर गाई डोंगपिंग ने बुधवार को पत्रकारों को बताया कि शहर में स्थानीय रूप से संक्रमण के 21 मामले सामने आए हैं जिनमें से दो मरीजों को बीमारी के लक्षण नहीं थे.

हांगकांग स्थित साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने उनके हवाले से कहा, ‘मौजूदा स्थिति बहुत गंभीर और जटिल है तथा इससे संक्रमण के और फैलने का खतरा है. इस महामारी को रोकने के लिए जिलिन महामारी रोकथाम एवं नियंत्रण समूह ने जिलिन के शहरी इलाके में रोकथाम संबंधी कदमों को लागू करने का फैसला किया है.’

एनएचसी ने बताया कि 712 लोगों में बीमारी के लक्षण दिखाई नहीं दिए. इनमें हुबेई प्रांत और उसकी राजधानी वुहान में 574 मामले शामिल हैं.

वुहान में स्थानीय स्वास्थ्य आयोग ने कहा कि बुधवार को कोरोना वायरस के किसी नए मामले की पुष्टि नहीं हुई. इस बीच वुहान ने अपनी 1.1 करोड़ की आबादी की जांच कराने का व्यापक अभियान बुधवार को शुरू कर दिया.

पाकिस्तान में 1,452 नए मामले, 33 और लोगों की मौत

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में कोरोना वायरस से संक्रमण के 1,452 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 35,788 पर पहुंच गई है, जबकि 33 और लोगों की मौत होने के साथ ही मृतक संख्या 770 हो गई है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के अनुसार, पंजाब प्रांत में कोरोना वायरस के 13,561, सिंध में 13,341, खैबर-पख्तूनख्वा में 5,252, बलूचिस्तान में 2,239, इस्लामाबाद में 822, गिलगित-बाल्टिस्तान में 482 और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में 91 मामले सामने आए.

मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटे में 1,452 नए मरीज आने के साथ देश में संक्रमितों की कुल संख्या 35,788 हो गई है.

उसने बताया कि कुल 9,695 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं.

अभी तक कोरोना वायरस से संक्रमण की 330,750 जांच की गई है जिनमें से 13,051 लोगों की जांच बीते 24 घंटे में की गई है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के पाकिस्तान चैप्टर द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार स्थानीय लोगों में संक्रमण के फैलने की दर अधिक है जो खतरनाक है.

बलूचिस्तान में स्थानीय संक्रमण के सबसे अधिक 93 प्रतिशत मामले सामने आए. इसके बाद सिंध में 92 प्रतिशत, पंजाब में 85 फीसदी, खैबर पख्तूनख्वा में 84 प्रतिशत और गिलगित-बाल्तिस्तान में 63 प्रतिशत मामले सामने आए.

इस बीच पेशावर उच्च न्यायालय को 31 मई तक के लिए बंद कर दिया गया है. उच्च न्यायालय के कुछ कर्मचारियों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद यह कदम उठाया गया है.

जापान: विशेषज्ञों ने ज्यादातर हिस्सों से आपातकाल हटाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी

टोक्यो: जापान में कोरोना वायरस संबंधी कार्यबल के विशेषज्ञों ने बृहस्पतिवार को सरकार की उस योजना को मंजूरी दे दी, जिसमें टोक्यो और कई अन्य जोखिम वाले स्थानों को छोड़कर अधिकतर क्षेत्रों से आपातकाल निर्धारित समय से पहले हटाने का प्रस्ताव है.

वित्त मंत्री याशुतोशी निशिमुरा ने कार्यबल की बैठक में भाग लेने के बाद कहा कि विशेषज्ञों ने देश के 47 प्रांतों में से 39 से आपात स्थिति हटाने की योजना को मंजूरी दे दी है. टोक्यो, ओसाका, क्योटो और होक्काइदो सहित आठ अन्य क्षेत्रों के लिए अलग उपाय करने का प्रस्ताव है. इन क्षेत्रों में जोखिम अब भी अधिक है.

प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने सात अप्रैल को टोक्यो और छह अन्य शहरी प्रांतों में एक महीने के लिए आपातकाल लागू करने की घोषणा की थी. बाद में इसे पूरे देश में 31 मई तक के लिए लागू कर दिया गया.

संक्रमण की रफ्तार थमने के संकेत के साथ आबे प्रतिबंधों में ढील दिए जाने के पक्ष में हैं.

जापान में कोरोना वायरस से संक्रमण के 16,000 से अधिक पुष्ट मामले हैं, जबकि इससे लगभग 680 लोगों की मौत हुई है.

नॉर्वे आंशिक रूप से खोल रहा है देश की सीमाएं

कोपेनहेगन: नॉर्वे यूरोप के अन्य देशों के ऐसे लोगों के लिए अपनी सीमाएं खोल रहा है, जिनके यहां आवास हैं अथवा परिवार हैं और वे यहां आना चाहते हैं.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

न्याय मंत्री मोनिका माइलैंड ने बीते बुधवार को कहा कि नॉर्वे यूरोपीय आर्थिक क्षेत्र जिसमें यूरोपीय संघ के सदस्य देश, ब्रिटेन, आइसलैंड , लिचटेंस्टीन शामिल हैं, के लोगों के लिए अपनी सीमाएं खोल रहा है.

नॉर्वे यूरोपीय संघ में शामिल नहीं है लेकिन उसने ब्रिटेन, आइसलैंड , लिचटेंस्टीन के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं, जो ऐसे देशों को यूरोपीय संघ के बड़े बाजार तक पहुंच उपलब्ध कराता है.

उन्होंने कहा कि इसका मतलब यह भी है कि कामगारों को भी नॉर्वे में प्रवेश का अवसर मिलेगा.

नॉर्वे में अब तक इस जानलेवा बीमारी से 229 लोगों की मौत हो चुकी है और संक्रमण के मामले 8,175 हो गए हैं.

सिंगापुर प्रवासी कामगारों के संबंध में लागू पाबंदियां जून से चरणबद्ध तरीके से हटाएगा

सिंगापुर: सिंगापुर कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए प्रवासी श्रमिकों के संबंध में लागू की गई पाबंदियों को जून से चरणबद्ध तरीके से हटाएगा.

वहीं सिंगापुर के श्रमशक्ति मंत्री जोसेफिन टेओ ने जनता से देश में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि से अत्यधिक चिंतित नहीं होने के लिए कहा.

सिंगापुर में बृहस्पतिवार दोपहर तक की स्थिति के अनुसार कोविड-19 के 752 नए मामले सामने आए जिससे देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 26,098 हो गए और मरने वालों की संख्या 21 है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपने प्रारंभिक दैनिक अपडेट में कहा कि कुल मामलों में काफी संख्या विदेशी श्रमिक डॉरमेट्री यानी सामुदायिक शयनागारों में रहने वाले विदेशी वर्क परमिट धारक कामगारों की है.

दो मामले सिंगापुरवासी या स्थायी निवासियों (विदेशियों) के हैं.

राष्ट्रीय विकास मंत्री लारेंस वॉग ने मंगलवार को कहा था कि डॉरमेट्री में रहने वाले सभी 323,000 विदेशी श्रमिकों की जांच की जाएगी. काम शुरू करने की इजाजत देने से पहले यह सुनिश्चित किया जाएगा कि ये सभी संक्रमण मुक्त हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)