भारत

दिवाली पर पटाखे न जलाने की सलाह पर तनिष्क़ के एक और विज्ञापन को लेकर फ़िर विवाद

दिवाली को लेकर बनाए गए तनिष्क़ के इस विज्ञापन में पटाखे न जलाने की बात कहीं गई थी, जिस पर सोशल मीडिया पर एक धड़े की भावनाएं आहत हो गईं. इन लोगों ने हिंदुओं के त्योहारों को कैसे मनाया जाए इस पर ज्ञान न देने की सलाह दी. विवाद के बाद कंपनी के ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पेज से इसे हटा लिया गया है.

कंपनी के नए दिवाली विज्ञापन में अभिनेत्री नीना गुप्ता, निमरत कौर, सयानी गुप्ता और अलाया एफ. ने काम किया है. (फोटो साभार: ट्विटर)

कंपनी के नए दिवाली विज्ञापन में अभिनेत्री नीना गुप्ता, निमरत कौर, सयानी गुप्ता और अलाया एफ. ने काम किया है. (फोटो साभार: ट्विटर)

मुंबई/नई दिल्ली: टाटा समूह के आभूषण ब्रांड तनिष्क ने अपना एक और विज्ञापन को लेकर विवाद होने के बाद इसे आंशिक तौर पर वापस ले लिया है. एक महीने से भी कम समय में यह दूसरी बार है जब तनिष्क को सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग के चलते अपना विज्ञापन वापस लेना पड़ा है.

इससे पहले कथित तौर पर धार्मिक भावनाएं आहत करने को लेकर कंपनी ने अपने ‘एकात्वम’ संग्रह के विज्ञापन को वापस ले लिया था. इस विज्ञापन में दिखाया गया था कि एक मुस्लिम परिवार अपनी हिंदू बहू के लिए पारंपरिक हिंदू गोदभराई की रस्म की तैयारियां कर रहा है. विज्ञापन आने के बाद ट्विटर पर कुछ लोग इसे लव जिहाद बताते हुए #BoycottTanishq ट्रेंड कराने लगे, जिसके बाद तनिष्क़ ने इस विज्ञापन का हटा लिया था.

कंपनी के नए दिवाली विज्ञापन में नीना गुप्ता, निमरत कौर, सयानी गुप्ता और अलाया एफ. ने काम किया है. यह विज्ञापन पिछले हफ्ते बृहस्पतिवार को जारी किया गया, जिसमें पटाखों के बिना दिवाली मनाए जाने की सलाह दी गई थी.

इस विज्ञापन में सयानी गुप्ता कहते हुए दिखती हैं, ‘मैं लंबे समय बाद अपनी मां से मिलने की उम्मीद कर रही हूं. निश्चित तौर पर पटाखे नहीं जलाऊंगी, मुझे नहीं लगता कि किसी को पटाखे जलाने चाहिए, लेकिन ढेर सारे दिए, ढेर सारी खुशियां और ढेर सारी सकारात्मकता हो.’

विज्ञापन के वीडियो में निमरत कौर ने दिवाली पर परिवार के साथ रहने को महत्व को बताती हैं. नीना गुप्ता और अलाया एफ. कहती हैं कि उनके लिए दिवाली मिठाई, खाना और परिवार के बारे में है.

हालांकि सोशल मीडिया पर एक धड़े की भावनाएं विज्ञापन में दिवाली पर पटाखे न जलाने की ‘सलाह’ को लेकर आहत हो गईं. और सोमवार को एक बार फिर बॉयकॉट तनिष्क ट्रेंड करने लगा.

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव सीटी रवि ने ट्वीट किया, ‘क्यों कोई यह सलाह देता है कि हिंदुओं को अपना त्योहार कैसे मनाना चाहिए? कंपनियों को अपने उत्पाद बेचने पर ध्यान देना चाहिए, पटाखे न जलाने पर लेक्चर नहीं देना चाहिए. हम दिये जलाएंगे, मिठाइयां बांटेंगे और ग्रीन पटाखे जलाएंगे. हमारे साथ आइए. आप एकात्वम समझ जाएंगे.’

प्रवीण चौहान नाम के एक ट्विटर यूजर ने कहा, मेरे त्योहारों के दौरान ज्ञान देना बंद कर दो. मेरे त्योहार तुम्हारा सामाजिक जागरूकता अभियान नहीं है.

विज्ञापन में काम करने वाली अभिनेत्री सयानी गुप्ता ने कहा, ‘वायु प्रदूषण का वैश्विक मुद्दे (दिल्ली एनसीआर में इस समय खतरनाक स्थिति होने पर) के राजनीतिकरण और धर्म के नाम पर धर्मांध होने की गवाह बन रही हूं! अविश्वसनीय! चरणबद्ध तरीके की घृणा लोगों पर यही असर डालती है.’

हालांकि ये ट्वीट अब उन्होंने हटा दिया है.

लगभग 50 सेकेंड के विज्ञापन को विवाद के बाद कंपनी के ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पेज से इसे हटा लिया गया है. इस बारे में संपर्क करने पर कंपनी ने टिप्पणी करने से मना कर दिया.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)