राजनीति

पश्चिम बंगाल: टीएमसी नेता के घर पर वीवीपैट और ईवीएम मिले, चुनाव अधिकारी निलंबित

विधानसभा चुनाव राउंड-अप: भाजपा ने ममता बनर्जी पर कार्रवाई की मांग करते हुए आरोप लगाया कि मुसलमानों को अपनी पार्टी के पक्ष में आने की बात कर उन्होंने नियमों का उल्लंघन किया है. प्रियंका गांधी वाड्रा ने असम विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण के मतदान के बीच मंगलवार को चुनाव आयोग के ग़ैर-ज़िम्मेदार होने और भाजपा पर नकारात्मक राजनीतिक करने का आरोप लगाया. तमिलनाडु में शशिकला का नाम मतदाता सूची से हटाए जाने पर उनके वकील ने क़ानूनी कार्रवाई करने की बात कही.

वीवीपैट की प्रतीकात्मक तस्वीर. (फोटो: पीटीआई)

वीवीपैट की प्रतीकात्मक तस्वीर. (फोटो: पीटीआई)

उलुबेरिया (पश्चिम बंगाल): पश्चिम बंगाल के हावड़ा जिले में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के एक नेता के घर पर चार इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) और लगभग इतनी ही संख्या में वोटर वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) मशीन मिलने के बाद एक चुनाव अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को बताया कि यह घटना उलुबेरिया उत्तर निर्वाचन क्षेत्र के तुलसीबेरिया गांव की है.

उन्होंने बताया कि ग्रामीणों ने मंगलवार तड़के टीएमसी नेता के घर के बाहर चुनाव आयोग का स्टीकर लगा एक वाहन देखा, जिसके बाद उन्होंने विरोध शुरू कर दिया.

अधिकारी ने बताया कि उसके बाद मालूम चला कि खंड 17 के अधिकारी तपन सरकार ईवीएम के साथ टीएमसी नेता के घर पर गए थे.

उन्होंने बताया कि ईवीएम और वीवीपैट जब्त कर लिए गए हैं और अधिकारी को निलंबित कर दिया गया है.

उन्होंने बताया, ‘चार मशीनों का आज के मतदान में इस्तेमाल नहीं किया जा रहा है. हमने जिला निर्वाचन अधिकारी से एक रिपोर्ट मांगी है.’

खंड अधिकारी ने दावा किया कि वह इलाके में बहुत देर से पहुंचा और मतदान केंद्र बंद मिला, जिसके बाद उसने रात अपने रिश्तेदार के घर पर ठहरने का फैसला किया, क्योंकि उसके पास दूसरा कोई ‘सुरक्षित स्थान’ रुकने के लिए नहीं था.

गड़बड़ी का आरोप लगा रहे स्थानीय लोगों के प्रदर्शन के बीच केंद्रीय बलों की बड़ी टीम को इलाके में तैनात करना पड़ा. यहां तक कि भीड़ को शांत कराने पहुंचे प्रखंड विकास अधिकारी (बीडीओ) का भी घेराव किया गया.

भाजपा प्रत्याशी चिरन बेरा ने आरोप लगाया कि यह घटना चुनाव में धांधली करने की टीएमसी की योजना का हिस्सा है. सत्तारूढ़ पार्टी ने इस आरोप से इनकार किया है.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘यह टीएमसी की पुरानी आदत है. पुरानी आदतें छोड़ने में वक्त लगता है. उन्हें रंगे हाथों पकड़ा गया जो उनकी मंशा को दिखाता है.’

भाजपा कार्यकर्ता मतदान केंद्रों पर जबरन कब्जा कर रहे हैं: ममता बनर्जी

कालचिनी: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को आरोप लगाया कि भाजपा कार्यकर्ता मतदान केंद्रों पर जबरन कब्जा कर रहे हैं और तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवारों समेत पार्टी कार्यकर्ताओं पर हमला कर रहे हैं.

बनर्जी ने कहा कि वह ‘डराने-धमकाने के इस प्रकार के हथकंडों’ से नहीं घबराएंगी.

ममता बनर्जी. (फोटो: पीटीआई)

ममता बनर्जी. (फोटो: पीटीआई)

बनर्जी ने अलीपुरद्वार जिले में कालचिनी में एक जनसभा के दौरान आरोप लगाया कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने आरामबाग से तृणमूल कांग्रेस प्रत्याशी सुजाता मंडल का पीछा किया और एक मतदान केंद्र के पास उनके सिर पर चोट पहुंचाई.

उन्होंने कहा, ‘हमारी अनुसूचित जाति उम्मीदवार सुजाता, जब मतदान केंद्र पहुंचीं, तो उन्होंने (भाजपा कार्यकर्ताओं ने) उन्हें गंभीर चोट पहुंचाई. उन्होंने खानाकुल में भी एक अन्य उम्मीदवार पर हमला किया. कैनिंग ईस्ट में सुरक्षा बलों ने हमारे उम्मीदवार शौकत मुल्ला को एक मतदान केंद्र में प्रवेश नहीं करने दिया. राज्य भर में हमारे उम्मीदवारों, पार्टी कार्यकर्ताओं पर हमले की इस प्रकार की कई घटनाएं हुई हैं.’

मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें सुबह से हमले और हिंसा की कम से कम 100 शिकायतें मिली हैं और निर्वाचन आयोग को इस बारे में जानकारी दी गई है, लेकिन इसका कोई लाभ नहीं हुआ.

बनर्जी ने आरोप लगाया कि भाजपा की रैलियों में ‘कम संख्या में लोगों के आने’ के बाद दिल्ली में उनके नेतृत्व ने यह गहरा षड्यंत्र रचा.

उन्होंने कहा, ‘सुरक्षा बलों से मतदान केंद्र पर कब्जा करने के प्रयासों को नहीं रोकने को कहा गया है.’

उन्होंने कहा, ‘चुनाव शुरू होने के बाद से हमारे चार कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है, लेकिन कोई कदम नहीं उठाया गया. आप (भाजपा) हमें इस प्रकार की हरकतों से डरा-धमका नहीं सकते.’

मुसलमानों से तृणमूल के पक्ष में मतदान की अपील के खिलाफ भाजपा पहुंची निर्वाचन आयोग

नई दिल्ली: भाजपा ने सोमवार को निर्वाचन आयोग का दरवाजा खटखटाकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. पार्टी ने आरोप लगाया कि राज्य विधानसभा चुनाव में मुसलमानों को अपनी पार्टी के पक्ष में एक साथ आने तथा मतदान करने की बात कर उन्होंने नियमों का उल्लंघन किया है.

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के नेतृत्व में भाजपा सचिव सुनील देवधर और राज्यसभा सदस्य जीवीएल नरसिम्हा राव ने निर्वाचन आयोग के शीर्ष अधिकरियों को एक ज्ञापन सौंपा और ममता के खिलाफ कार्रवाई की मांग की.

नकवी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि ममता बनर्जी ने चुनावी भाषण में मुस्लिम मतदाताओं से अपील की थी कि वे विभिन्न दलों के बीच अपने मतों का विभाजन न करें और तृणमूल कांग्रेस के पक्ष में एक साथ मतदान करें.

उन्होंने कहा, ‘ऐसा करके उन्होंने न सिर्फ चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन किया है बल्कि जनप्रतिनिधि कानून, 1951 का भी आपराधिक उल्लंघन किया है. इसके लिए ममता बनर्जी और उनकी पार्टी के खिलाफ निर्वाचन आयोग को कार्रवाई आरंभ करनी चाहिए.’

उन्होंने इसी प्रकार की कार्रवाई द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के नेता एमके स्टालिन के खिलाफ करने की मांग की.

भाजपा नेता ने आरोप लगाया कि स्टालिन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देकर उनकी छवि धूमिल करने की कोशिश की.

नकवी ने कहा कि स्टालिन ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री पिछले दिनों जब चुनाव प्रचार के सिलसिले में तमिलनाडु पहुंचे थे तो अपने साथ नोटों भरा बैग लेकर आए थे.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन है.

ममता ने किया ‘सेल्फ गोल’, मुसलमान भी हुए दूर: मोदी

कूचबिहार: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर करारा हमला बोला और दावा किया कि वोटों का बिखराव न हो इसके लिए मुसलमानों से एकजुट हो जाने की उनकी अपील स्पष्ट करती है कि तृणमूल कांग्रेस विधानसभा चुनाव की जंग हार गई है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फोटो साभार: पीआईबी)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फोटो साभार: पीआईबी)

प्रधानमंत्री ने कूचबिहार में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए दावा किया यदि उन्होंने इसी प्रकार सभी हिंदुओं को एकजुट हो जाने और भाजपा को मत देने की अपील की होती तो उन्हें निर्वाचन आयोग के आठ-दस नोटिस मिल गए होते और देश भर के अखबारों में उनके खिलाफ संपादकीय छप जाते.

ममता बनर्जी पर तुष्टीकरण की राजनीति करने का आरोप लगाते हुए मोदी ने कहा कि उन्हें लोगों के तिलक लगाने और भगवा वस्त्र पहनने पर भी अब ऐतराज होने लगा है.

उन्होंने कहा कि ऐसी राजनीति कर ममता बनर्जी ने ‘सेल्फ गोल’ कर लिया है और साथ ही यह स्वीकार कर लिया है कि वह चुनाव हार चुकी हैं.

प्रधानमंत्री ने दावा किया कि राज्य में भाजपा के पक्ष लहर है और पार्टी बंगाल में अगली सरकार बनाएगी.

पश्चिम बंगाल में अपनी हर चुनावी रैली में ममता बनर्जी को ‘दीदी-ओ-दीदी’ कहकर संबोधित करने वाले मोदी ने यहां रणनीति बदलते हुए अपने संबोधन में उन्हें ‘आदरणीय दीदी-ओ-दीदी’ कहकर संबोधित किया. ज्ञात हो कि तृणमूल कांग्रेस ने प्रधानमंत्री द्वारा ‘दीदी-ओ-दीदी’ कहने के अंदाज पर आपत्ति जताई थी और इसे महिलाओं का अपमान करार दिया था.

उन्होंने कहा, ‘आदरणीय दीदी, अभी हाल में आपने कहा कि सभी मुसलमान एक हो जाओ, वोट बंटने मत दो. आप ये कह रही हैं, इसका मतलब है कि आपको यकीन हो गया है कि जिस मुस्लिम वोटबैंक को आप अपनी सबसे बड़ी ताकत मानती थीं, वह भी आपके हाथ से निकल गया है. मुस्लिम भी आपसे दूर हो गए हैं. आपको सार्वजनिक तौर पर ऐसा कहना पड़ रहा है, इसी से पता चलता है कि आप यह जंग हार गई हैं.’

उन्होंने कहा, ‘लेकिन अगर हमने ये कहा होता कि सारे हिंदू एकजुट हो जाओ, भाजपा को वोट दो तो हमें निर्वाचन आयोग के 8-10 नोटिस मिल गए होते. सारे देश के संपादकीय हमारे खिलाफ होते.’

प्रधानमंत्री ने कहा कि फुटबॉल के खेल में एक ‘सेल्फ गोल’ (अपने खिलाफ किया गया गोल) होता है.

उन्होंने कहा, ‘आप चुनाव के मैदान में सेल्फ गोल कर चुकी हैं. आपने खुद ही अपनी सच्चाई स्वीकार कर ली है.’

प्रधानमंत्री ने ममता बनर्जी के उस बयान पर भी तंज कसा जिसमें उन्होंने कहा था कि क्या भाजपा कोई भगवान है, जो कह रही है राज्य में उसकी सरकार बनेगी.

मोदी ने कहा, ‘चुनाव में कौन हार रहा है और कौन जीत रहा है, यह पता करने के लिए भगवान को कष्ट देने की जरूरत नहीं है. यह तो जनता जनार्दन, जो भगवान का रूप होती है, का चेहरा देखकर पता चलता है.’

प्रधानमंत्री ने एक बार फिर दावा किया कि पश्चिम बंगाल में दो मई के बाद भाजपा की सरकार बननी तय है. उन्होंने घोषणा की कि सरकार बनते ही कैबिनेट की पहली बैठक में किसान सम्मान निधि लागू की जाएगी और किसानों के खाते में सीधे पैसे हस्तांतरित किए जाएंगे.

भाजपा नेता के विवादास्पद बयान पर निर्वाचन आयोग ने जारी किया नोटिस

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में भाजपा के बीरभूम जिला अध्यक्ष ध्रुव साहा के विवादास्पद बयान के बाद निर्वाचन आयोग ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

साहा ने कहा था कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने के बाद ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ का नारा लगाने वालों को ‘(पुलिस के) एनकाउंटर’ का सामना करना पड़ेगा.

नानूर में चुनाव प्रचार अभियान के दौरान दिए गए साहा के भाषण की वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो गई है. इस बाबत आयोग ने उन्हें 24 घंटे में जवाब देने को कहा है.

साहा ने कहा, ‘दो मई को भाजपा बंगाल में सरकार बनाएगी. जिन्होंने देश से गद्दारी की, पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाया उन्हें दो मई के बाद निश्चित तौर पर (पुलिस) के एनकाउंटर का सामना करना पड़ेगा.’

पश्चिम बंगाल के गोघाट में भाजपा समर्थक की पत्नी की हत्या

गोघाट: पश्चिम बंगाल के हुगली जिले में मतदान शुरू होने से कुछ घंटे पहले एक भाजपा समर्थक की पत्नी की कथित रूप से हत्या कर दी गयी. पुलिस ने मंगलवार को इस बारे में बताया.

पुलिस ने बताया कि घटना राजनीतिक रूप से संवेदनशील जिले के गोघाट इलाके में सोमवार रात करीब 11 बजे घटी.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

उन्होंने बताया कि माधवी अदक उस वक्त घायल हो गईं जब कुछ लोग उनके घर में घुस आए और उनके पति पर हमला करने लगे.

अदक के परिवार ने आरोप लगाया कि घटना के पीछे तृणमूल कांग्रेस का हाथ है. हालांकि सत्तारूढ़ पार्टी ने इन आरोपों से इनकार किया है.

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, ‘महिला ने हमलावरों को रोकने का प्रयास किया. इसके बाद हमलावरों ने महिला की पिटाई की, जिससे उसकी मौत हो गई. इसके बाद बदमाश वहां से फरार हो गए.’

भाजपा ने घटना के संबंध में स्थानीय पुलिस थाना में शिकायत दर्ज कराई है.  उन्होंने बताया कि जांच जारी है और घटना में शामिल लोगों को पकड़ने का प्रयास किया जा रहा है.

असम: प्रियंका ने चुनाव आयोग के गैरजिम्मेदार होने का आरोप लगाया

नयी दिल्ली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने असम विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण के मतदान के बीच मंगलवार को चुनाव आयोग के गैरजिम्मेदार होने और भाजपा पर नकारात्मक राजनीतिक करने का आरोप लगाया.

उन्होंने प्रदेश के लोगों का आह्वान भी किया कि वे प्रगति की गारंटी का रास्ता चुनें.

प्रियंका ने फेसबुक पोस्ट में कहा, ‘आज असम में अंतिम चरण का चुनाव है. मेरी सभी मतदाता बहनों-भाइयों से अपील है कि लोकतांत्रिक प्रक्रिया को मजबूत करने के लिए भारी संख्या में मतदान करें.’

उन्होंने कहा, ‘गैरजिम्मेदार चुनाव आयोग व सत्ताधारी दल की नकारात्मक राजनीति के दौर में असम की जनता आज प्रगति व उन्नति की गारंटी का रास्ता चुनेगी.’

असम में 40 सीटों पर मतदान हो रहा है. इसके साथ ही यहां सभी 126 विधानसभा सीटों पर मतदान की प्रक्रिया संपन्न हो जाएगी.

तमिलनाडु: मतदाता सूची से हटाया गया शशिकला का नाम

चेन्नई: तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता की विश्वस्त सहयोगी रहीं वीके शशिकला के वकील ने चेन्नई में सोमवार को कहा कि शशिकला का नाम मतदाता सूची से हटा दिया गया है और यह अन्याय है.

उन्होंने कहा कि शशिकला इसे लेकर दुखी हैं और इसके लिए जिम्मेदार रहे अधिकारी के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी.

वीके शशिकला (फोटो: पीटीआई)

वीके शशिकला (फोटो: पीटीआई)

शशिकला के वकील एन. राजा संतूर पांडियन ने कहा कि तमिलनाडु में मंगलवार को होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले चेन्नई की थाउजेंड लाइट्स विधानसभा सीट की मतदाता सूची से शशिकला का नाम हटा दिया गया है.

पांडियन ने एक तमिल टीवी चैनल से कहा कि अधिकारियों ने उन्हें बताया कि शशिकला का नाम 31 जनवरी 2019 को हटाया गया था, जब उस साल लोकसभा चुनाव होने वाले थे.

भारतीय जनता पार्टी केरल में दस सीटें जीतेंगी : नलिन

मेंगलुरु: भाजपा के कर्नाटक इकाई के अध्यक्ष नलिन कुमार कटील ने मंगलवार को दावा किया कि केरल में 2016 में हुये विधानसभा चुनाव में एक सीट हासिल कर अपना खाता खोलने वाली भारतीय जनता पार्टी इस साल कम से कम दस सीट जीतेगी.

केरल में विधानसभा के लिए मंगलवार को सुबह सात बजे मतदान शुरू हुआ। प्रदेश में विधानसभा की 140 सीटें हैं.

पुत्तूर में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए भाजपा नेता ने भरोसा जताया कि पार्टी मंजेश्वर एवं कासरगोड़ विधानसभा सीटों पर जीतेगी.

भाजपा के केरल प्रदेश अध्यक्ष के. सुरेंद्रन, मंजेश्वर से पार्टी के उम्मीदवार हैं.

कटील ने कहा कि भाजपा आठ अन्य सीटों पर भी चुनाव जीतेगी. उन्होंने कहा कि इनमें मौजूदा नेमॉम विधानसभा सीट भी शामिल है.

चुनाव प्रचार में शामिल रहे कटील ने कहा कि केरल के युवाओं एवं महिलाओं के बीच भाजपा की लोकप्रियता है.

भाजपा नेता ने दावा किया कि माकपा की अगुवाई वाली एलडीएफ और कांग्रेस की अगुवाई वाली विपक्षी यूडीएफ पर से लोगों का भरोसा उठ गया है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)