कोविड-19

कोविड-19: यूपी के भाजपा विधायक सुरेश श्रीवास्तव की मौत के तीसरे दिन उनकी पत्नी का भी निधन

उत्तर प्रदेश में भाजपा के लखनऊ पश्चिम क्षेत्र के विधायक सुरेश श्रीवास्तव का निधन बीते 23 अप्रैल को कोरोना वायरस संक्रमण से हो गया था. उनकी पत्नी मालती श्रीवास्तव भी संक्रमित थीं, उनका इलाज लखनऊ के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में चल रहा था. 23 अप्रैल की सुबह ही प्रदेश के औरैया जिले के सदर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक रमेश चंद्र दिवाकर ने भी कोरोना वायरस संक्रमण के चलते दम तोड़ दिया था.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के लखनऊ पश्चिम क्षेत्र के विधायक सुरेश श्रीवास्तव के निधन के तीसरे दिन ही उनकी पत्नी मालती श्रीवास्तव का भी निधन हो गया.

पारिवारिक सूत्रों के अनुसार, दोनों पति-पत्नी कोरोना संक्रमित थे और उन दोनों का लखनऊ के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (पीजीआई) में इलाज चल रहा था. बीते रविवार को इसी संस्थान में मालती श्रीवास्तव की मृत्यु हो गई.

इसके पहले भारतीय जनता पार्टी के लखनऊ पश्चिम क्षेत्र के 76 वर्षीय विधायक सुरेश कुमार श्रीवास्तव का बीते 23 अप्रैल की शाम निधन हो गया.

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने शुक्रवार को बताया था कि लखनऊ पश्चिम के विधायक सुरेश कुमार श्रीवास्तव का लखनऊ के संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में इलाज के दौरान निधन हो गया. श्रीवास्तव ने उनके निधन पर दुख प्रकट किया.

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह एवं प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल ने दिवंगत विधायक सुरेश कुमार श्रीवास्तव की पत्नी मालती श्रीवास्तव के असामयिक निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है.

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने ईश्वर से दिवंगत पुण्यात्मा की शांति के लिए प्रार्थना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदनाए व्यक्त की है.

उल्लेखनीय है कि 1996 के विधानसभा मध्यावधि चुनाव में सुरेश कुमार श्रीवास्तव पहली बार विधानसभा के सदस्य निर्वाचित हुए. इसके बाद 2002 में चौदहवीं विधानसभा और 2017 में लखनऊ पश्चिम से तीसरी बार विधानसभा के सदस्य निर्वाचित हुए.

मालूम हो कि 23 अप्रैल की सुबह ही उत्तर प्रदेश के औरैया जिले के सदर विधानसभा क्षेत्र के 56 वर्षीय भाजपा विधायक रमेश चंद्र दिवाकर ने भी कोरोना वायरस संक्रमण के चलते दम तोड़ दिया था.

औरैया सदर के भाजपा विधायक रमेश चंद्र दिवाकर कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे और मेरठ के एक अस्पताल में उनका उपचार चल रहा था. वह पिछले चार दिनों से अस्पताल में भर्ती थे और दो दिनों से उनकी हालत गंभीर थी.

इसके अगले दिन 24 अप्रैल को उनके पिता 92 वर्षीय रामदत्त दिवाकर का लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया था.

सूत्रों के मुताबिक, विधायक की पत्नी भी कोविड-19 संक्रमित पाई गई हैं, उनका इलाज कानपुर के एक अस्पताल में चल रहा है.

देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच मध्य प्रदेश की कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया की भी 24 अप्रैल को एक निजी अस्पताल में कोरोना वायरस संक्रमण के इलाज के दौरान मौत हो गई. वह 49 वर्ष की थीं.

भूरिया विधानसभा में अलीराजपुर जिले के जोबट क्षेत्र की नुमाइंदगी करती थीं.

बीते 17 अप्रैल को पांचवें चरण के चुनाव के दौरान पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के मुरारई सीट से टीएमसी के निर्वतमान विधायक अब्दुर रहमान की कोरोना वायरस की वजह से मौत हो गई थी.

इसके अलावा बंगाल चुनाव मैदान में उतरे तीन प्रत्याशियों की मौत भी कोविड-19 संक्रमण से हो चुकी है. उत्तर 24 परगना जिले की खड़दह सीट से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार काजल सिन्हा का निधन बीते 25 अप्रैल को कोरोना संक्रमण की वजह से हो गया था.

इससे पहले पहले रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी (आरएसपी) की ओर से मुर्शिदाबाद जिले के जंगीपुरा सीट से चुनाव मैदान में उतरे प्रदीप कुमार नंदी की मौत भी बीते 16 अप्रैल को कोरोना संक्रमण की वजह से हो गई थी. उनसे पहले 15 अप्रैल को मुर्शिदाबाद जिले की शमशेरगंज सीट से कांग्रेस उम्मीदवार रेजाउल हक की भी संक्रमण से मौत हो चुकी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)