भारत

यूपी: कोविड संकट के बीच क्षेत्र में लगे भाजपा विधायक के लापता होने के पोस्टर

मामला बाराबंकी ज़िले का है, जहां रामनगर विधानसभा क्षेत्र के एक गांव अद्रा में यहां के भाजपा विधायक शरद अवस्थी के लापता होने के पोस्टर लगे हैं. पोस्टर पर पता बताने वाले को हज़ार रुपये देने की बात कहते हुए लिखा है कि अवस्थी चुनाव के बाद से एक बार भी गांव नहीं आए. गांव की समस्याएं लेकर लोग उनके आवास पर जाते हैं तो वे नहीं मिलते.

सोशल मीडिया पर वायरल रामनगर सीट से भाजपा विधायक शरद अवस्थी का पोस्टर.

सोशल मीडिया पर वायरल रामनगर सीट से भाजपा विधायक शरद अवस्थी का पोस्टर.

बाराबंकी: उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले के रामनगर इलाके में क्षेत्रीय भाजपा विधायक शरद अवस्थी के लापता होने के पोस्टर लगाए गए हैं. उसमें विधायक का पता बताने वाले को एक हजार रुपये इनाम दिए जाने की घोषणा लिखी गई है.

रामनगर सीट से भाजपा विधायक शरद अवस्थी का पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. यह पोस्टर रामनगर विधानसभा क्षेत्र के अद्रा गांव में लगाए गए हैं. पोस्टर पर लिखा है कि रामनगर से लापता विधायक का पता बताने वाले को 1000 रुपये का नकद इनाम दिया जाएगा.

पोस्टर पर लिखा है कि विधायक शरद अवस्थी विधानसभा चुनाव के बाद से एक बार भी गांव नहीं आए. गांव में तमाम समस्याएं हैं. उन्हें लेकर जब विधायक से मिलने के लिए उनके आवास पर लोग जाते हैं तो वह नहीं मिलते. ऐसे में वह अपनी समस्याएं किसके सामने रखें.

पोस्टर में यह भी आरोप लगाया गया है कि कोरोना संकटकाल में भी विधायक ने इलाके के लोगों की कोई मदद नहीं की.

विधायक अवस्थी ने इस बारे में पूछे जाने पर बताया कि उनके खिलाफ पोस्टर चस्पाने का काम समाजवादी पार्टी के नेताओं के इशारे पर उन्हें बदनाम करने के लिए किया गया है.

उन्होंने दावा किया कि वह पिछले लोकसभा चुनाव के बाद से अब तक 10 बार अपने क्षेत्र में जा चुके हैं.

अपने खिलाफ पोस्टर लगाए जाने की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे विधायक अवस्थी ने बताया कि अद्रा गांव में कुछ दिन पहले नाली बनाने को लेकर विवाद हो गया था.

उन्होंने कहा कि वह कोविड-19 महामारी से राहत के कार्यों में व्यस्त थे, इसलिए मौके पर नहीं पहुंच सके, जिससे नाराज होकर लोगों ने उनके खिलाफ पोस्टर लगा दिए हैं.

न्यूज़ 18 के मुताबिक भाजपा विधायक शरद अवस्थी इससे पहले भी विवादों में रहे थे. उन पर बीते दिनों कोरोना महामारी के संकट के दौरान अपने रुतबे का इस्तेमाल कर गाड़ियों में ऑक्सीजन सिलेंडर भर-भरकर फरार होने का आरोप लगा था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)