भारत

जीडीपी की वृद्धि दर तीन साल के निचले स्तर पर

चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर 5.7 प्रतिशत पर आ गई है.

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली नई दिल्ली में गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए. फोटो: (पीटीआई)

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली नई दिल्ली में गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए. फोटो: (पीटीआई)

देश की सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर चालू वित्त वर्ष की पहली अप्रैल-जून की तिमाही में घटकर 5.7 प्रतिशत पर आ गई है. यह इसका तीन साल का निचला स्तर है.

इससे पिछली तिमाही (जनवरी-मार्च) में जीडीपी की वृद्धि दर 6.1 प्रतिशत रही थी. 2016-17 की पहली तिमाही की संशोधित वृद्धि दर 7.9 प्रतिशत थी. विनिर्माण गतिविधियों में सुस्ती के बीच लगातार तीसरी तिमाही में नोटबंदी का असर दिखाई दिया.

बता दें कि बुधवार को आरबीआई ने लंबे इंतजार के बाद नोटबंदी के आंकडे जारी किए थे. आरबीआई की रिपोर्ट कहती है कि नोटबंदी के बाद चलन से बाहर किए गए 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों में से लगभग 99 फीसदी बैंकिंग सिस्टम में वापस लौट आए हैं.इस आंकडे से नोटबंदी के उद्देश्य और सफलता को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं.

वैसे नोटबंदी को लेकर आरबीआई की ओर से जारी आंकड़ों पर घिरी सरकार के लिए अर्थव्यवस्था की सुस्त रफ्तार पर बचाव करना मुश्किल होगा.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)