दुनिया

बिना मंज़ूरी संचालन करते पाए जाने पर रामदेव के चैनलों पर कार्रवाई करेंगे: नेपाल प्रशासन

बीते सप्ताह योग गुरु रामदेव और उनके सहयोगी बालकृष्ण ने नेपाल में अपने दो टीवी चैनल- आस्था नेपाल टीवी और पतंजलि नेपाल टीवी लॉन्च किए हैं. नेपाल के सूचना एवं प्रसारण विभाग ने बताया है कि दोनों चैनलों ने पंजीकरण के लिए आवेदन नहीं किया गया है और न ही किसी क़ानूनी प्रक्रिया का पालन हुआ है.

बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण. (फोटो साभार: फेसबुक/पतंजलि )

काठमांडू: नेपाल सरकार का कहना है कि अगर यह पाया गया कि योग गुरु रामदेव के टीवी चैनल बिना मंजूरी या बिना उचित प्रक्रिया के देश में काम कर रहे हैं तो उनके दोनों टीवी चैनलों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

रिपोर्ट के अनुसार, नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ नेपाल-माओवादी सेंटर के अध्यक्ष पुष्प कमल दहल (प्रचंड) ने शुक्रवार को रामदेव और उनके निकट सहयोगी आचार्य बालकृष्ण की मौजूदगी में संयुक्त रूप से दो टीवी चैनल आस्था नेपाल टीवी और पतंजलि नेपाल टीवी लॉन्च किए.

ये चैनल धार्मिक और योग संबंधी कार्यक्रमों के प्रसारण के लिए हैं. हालांकि, नेपाल के सूचना एवं प्रसारण विभाग के महानिदेशक गोगन बहादुर हमाल ने कहा कि दोनों चैनलों ने पंजीकरण के लिए आवेदन नहीं किया है और न ही किसी कानूनी प्रक्रिया का पालन किया है.

हमाल ने कहा, ‘अगर हमें पता चला कि भारत के योग गुरु रामदेव और आचार्य बालकृष्ण के पतंजलि नेपाल और आस्था नेपाल चैनल ने बिना किसी कानूनी औपचारिकता के टीवी कार्यक्रमों के प्रसारण के लिए बुनियादी ढांचा तैयार किया है तो हम कार्रवाई करेंगे.’

हमाल ने कहा, ‘हमें विश्वास नहीं हो रहा कि पतंजलि नेपाल ने बयान जारी किया है. हमने सच्चाई का पता लगाने के लिए जांच समिति बनाई है. अगर उन्होंने बिना मंजूरी और बिना उचित प्रक्रिया का पालन किए नेपाल से टीवी चैनलों के संचालन संबंधी तैयारी की है तो हम उचित कार्रवाई करेंगे.’

हालांकि, पतंजलि योगपीठ नेपाल ने बयान जारी कर कहा है कि वह पहले ही कंपनी के रजिस्ट्रार कार्यालय से टीवी चैनलों के लिए सत्यापन प्रक्रिया से गुजर रहा है और टीवी चैनलों के लिए मंजूरी हेतु प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

बयान में कहा गया कि हमने वास्तव में टीवी चैनलों का प्रसारण नहीं किया. हमने इसके लिए सिर्फ तकनीकी तैयारियां की हैं. हमने सिर्फ टीवी ब्रॉडकास्टिंग ऑफिस बिल्डिंग का उद्घाटन किया है.

टीवी चैनलों का उद्देश्य योगी, आयुर्वेदिक शिक्षा, संस्कृति, साहित्य और आध्यात्मिक दर्शन से संबंधित कार्यक्रमों का प्रसारण करना है.

इस घटनाक्रम पर टिप्पणी करते हुए पतंजलि के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने कहा कि आस्था टीवी के पास नेपाल में डाउनलिंकिंग के लिए लाइसेंस हैं, जो 2024 तक वैध है.

उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री देउबा ने दो चैनलों आस्था नेपाल टीवी और पतंजलि नेपाल टीवी के लिए ट्रायल रन 19 नवंबर 2021 को शुरू किया है और इन चैनलों के कंटेंट नेपाली भाषा में हैं. पूर्ण प्रसारण के लिए ट्रायल रन हेतु व्यावसायिक अनुमति के लिए 30 दिनों का समय मिला है.’

उन्होंने कहा कि 19 दिसंबर के बाद निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार पूर्ण प्रसारण शुरू होगा.

उन्होंने कहा, ‘नेपाल के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने इस तथ्य को पहले ही स्वीकार कर लिया है कि आस्था नेपाल टीवी और पतंजलि नेपाल टीवी को नियमों और नियमन के बाद ही शुरू किया जाएगा.’

इस बीच, नेपाल के स्थानीय पत्रकारों के संगठन फेडरेशन आफ नेपालीज जर्नलिस्ट्स ने बयान जारी कर कहा है कि देश में मीडिया में विदेशी निवेश की अनुमति नहीं है और पतंजलि चैनलों की लांचिंग कानून का उल्लंघन है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)