भारत

विवादों में घिरी फिल्म पद्मावती की रिलीज़ की तारीख़ टली

फिल्म के निर्माताओं ने कहा, ‘हम एक ज़िम्मेदार, क़ानून का पालन करने वाले कॉरपोरेट नागरिक हैं. फिल्म रिलीज़ करने के लिए ज़रूरी मंज़ूरी जल्द ही हासिल कर लेंगे.’

padmavati 2

फिल्म पद्मावती का पोस्टर. (फोटो साभार: फेसबुक)

मुंबई: विवादों में घिरी पद्मावती के निर्माताओं ने रविवार को कहा कि उन्होंने संजय लीला भंसाली की इस फिल्म को रिलीज़ करने की प्रस्तावित तारीख़ टाल दी है.

समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा को दिए गए बयान में वायाकॉम18 मोशन पिक्चर्स के एक प्रवक्ता ने कहा कि उन्होंने स्वेच्छा से यह फैसला किया है. फिल्म को रिलीज़ करने की तारीख एक दिसंबर 2017 से आगे बढ़ा दी गई है.

प्रवक्ता ने कहा कि वायाकॉम18 मोशन पिक्चर्स देश के कानून और केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) जैसी वैधानिक संस्थाओं का पूरा सम्मान करती है.

उन्होंने कहा, ‘एक ज़िम्मेदार और क़ानून का पालन करने वाले कॉरपोरेट नागरिक के तौर पर वह स्थापित प्रक्रियाओं एवं परंपराओं का पालन करने के लिए प्रतिबद्ध है.’

बयान के मुताबिक, ‘हमें यकीन है कि हम फिल्म रिलीज़ करने के लिए ज़रूरी मंज़ूरी जल्द ही हासिल कर लेंगे.’

सीबीएफसी यानी सेंसर बोर्ड से प्रमाण-पत्र हासिल करने से पहले ही विभिन्न मीडिया चैनलों को यह फिल्म दिखाए जाने से बिफरे बोर्ड के प्रमुख प्रसून जोशी शनिवार को पद्मावती के निर्माताओं पर जमकर बरसे थे.

सीबीएफसी ने फिल्म को वापस निर्माता के पास भेज दिया था, क्योंकि प्रमाणन का आवेदन अधूरा था.

बयान में कहा गया, ‘हम एक ज़िम्मेदार, क़ानून का पालन करने वाले कॉरपोरेट नागरिक हैं और देश के कानून एवं केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड सहित हमारी सभी संगठनों एवं वैधानिक संस्थाओं के प्रति हमारा पूरा सम्मान है.’

बयान के मुताबिक, ‘हम उचित समय पर फिल्म की रिलीज़ की नई तारीख घोषित करेंगे. हम पसंद आने वाली ऐसी कहानियां बयान करने के प्रति प्रतिबद्ध हैं जो पूरी दुनिया में हमारे दर्शकों को भाए, जैसे हमने टॉयलेट: एक प्रेम कथा, क्वीन, भाग मिल्खा भाग और कई अन्य परियोजनाएं के साथ किया.’

स्टूडियो ने दोहराया कि यह फिल्म एक उत्कृष्ट सिनेमाई कृति है जिसमें राजपूत वीरता, गरिमा एवं परंपरा को पूरे वैभव के साथ पेश किया गया है.

बयान के मुताबिक, ‘यह फिल्म एक ऐसी कहानी का स्पष्ट चित्रण है जो हर भारतीय को गर्व से भर देगा और कहानी बयान करने के हमारे देश के गुर को दुनिया भर में दिखाएगा.’

इस साल की शुरुआत में भंसाली की ओर से फिल्म की शूटिंग शुरू करने के बाद से ही पद्मावती विवादों में है.

जयपुर में राजपूत करणी सेना नाम के एक संगठन के सदस्यों ने भंसाली से बदसलूकी भी की थी. जयपुर और कोल्हापुर में फिल्म के सेटों को तोड़ दिया गया था.

इस फिल्म का पहला पोस्टर बीते अक्टूबर में रिलीज किया गया था, जिसके बाद विभिन्न राजपूत संगठनों एवं अन्य ने दावा किया था कि निर्देशक ने ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़-मरोड़कर पेश किया है.

भंसाली और मुख्य भूमिका निभा रहीं दीपिका पादुकोण को धमकियां मिली हैं. मुंबई पुलिस ने उनकी सुरक्षा कड़ी कर दी है.

इस बीच, फिल्मी हस्तियां भंसाली और उनकी टीम के समर्थन में आ गई हैं. कई अग्रणी कलाकारों ने इसे रचनात्मक आजादी पर हमला क़रार दिया है.