भारत

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव परिणाम: भाजपा निर्णायक जीत की ओर

68 सदस्यों वाली विधानसभा में भाजपा 45 सीटों पर आगे चल रही हैं, वहीं सत्तारूढ़ कांग्रेस महज़ 19 सीटों पर बढ़त बनाए हुए है.

virbhadra dhumal (1)

(बाएं से) वीरभद्र सिंह और प्रेम कुमार धूमल

नई दिल्ली: हिमाचल प्रदेश में 1993 से चल रही सत्ता-विरोधी लहर ने इस बार के विधानसभा चुनाव में भी महत्वपूर्ण भूमिका अदा किया है. 68 सीटों वाली इस विधानसभा में भाजपा निर्णायक जीत की ओर बढ़ रही है. उसे करीब 48.5 प्रतिशत मत मिले हैं.

वहीं, सत्तारूढ़ कांग्रेस को इस चुनाव में पराजय का सामना करना पड़ रहा है. कुल दिए गये मतों का करीब 41.4 प्रतिशत हिस्सा ही मिल पाया है. इस चुनाव में माकपा ने भी अपना खाता खोला है. उसे एक सीट पर जीत मिली है. ठियोग विधानसभा सीट से माकपा के राकेश सिंघा ने भाजपा के राकेश वर्मा को हरा दिया है.

हिमाचल प्रदेश के चुनाव मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के लिए धक्का पहुंचाने वाले हैं. यशवंत सिंह परमार के बाद वीरभद्र सिंह हिमाचल प्रदेश के सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहे हैं. हालांकि वो अर्की विधानसभा सीट से जीतने में कामयाब रहे हैं लेकिन राज्य में पार्टी को जीत दिलाने में असफल रहे हैं.

वीरभद्र सिंह ने अर्की से भाजपा उम्मीदवार रत्तन पाल सिंह को 5000 मतों से हराया है. शिमला ग्रामीण सीट से उनके बेटे विक्रमादित्य सिंह भी अपने निकटतम प्रत्याशी भाजपा के प्रमोद शर्मा से 4500 मतों से आगे चल रहे हैं.

वहीं दूसरी ओर भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल सुजानपुर सीट से पीछे चल रह हैं. दो निर्दलीय उम्मीदवार, देहरा से होशियार सिंह 5000 मतों से आगे चल रहे हैं. पिछली बार यह सीट भाजपा के रविंदर सिंह रवि ने 15, 293 वोट से जीती थी. इस बार वह पीछे चल रहे हैं.

इसी तरह जोगिंदरपुर सीट से निर्दलीय उम्मीदवार प्रकाश सिंह राणा अपने निकटतम भाजपा प्रत्याशी गुलाब सिंह ठाकुर से 10 हजार मतों से आगे चल रहे हैं. ठाकुर ने पिछली बार इस सीट से 5900 मतों से जीत हासिल की थी.

पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश में विधानसभा सीट ज्यादा बड़ी नहीं होती है. इसलिए प्रत्याशियों में जीत का अंतर काफी कम होता है. अभी राज्य की कई सीटों पर कड़ा मुकाबला चल रहा है. अभी दून सीट पर भाजपा के परमजीत सिंह, कांग्रेस के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी रामकुमार से 80 वोटों से आगे चल रहे हैं.

इसी तरह झंडुता सीट पर भाजपा के जीत राम कटवाल, कांग्रेस उम्मीदवार बीरू राम किशोर से 113 मतों से आगे चल रहे हैं. किन्नौर सीट पर भाजपा के तेजवंत सिंह नेगी कांग्रेस उम्मीदवार से 151 मतों से आगे चल रहे हैं. वहीं नगरौटा सीट पर कांग्रेस के जीएस बाली भाजपा के अरुण कुमार से 886 मतों से आगे चल रहे हैं.