भारत

नाराज़ किसानों और बेरोज़गारी के चलते भाजपा को चुनाव में नुकसान उठाना पड़ा: गुजरात मुख्य सचिव

गुजरात सरकार के मुख्य सचिव जेएन सिंह ने कहा कि किसानों को उचित मूल्य और युवाओं को रोजगार मिलता तो भाजपा के ख़िलाफ़ वोटिंग नहीं होती.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

अहमदाबाद: गुजरात सरकार के मुख्य सचिव जेएन सिंह ने गुरुवार को कहा कि राज्य में नाराज किसान और बेरोजगारी के चलते बीते विधानसभा चुनाव में भाजपा के खिलाफ वोटिंग हुई. वे गुजरात चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (जीसीसीआई) के परिसर में परिधान निर्यात संवर्धन परिषद (एईपीसी) के 12वें क्षेत्रीय कार्यालय के उद्घाटन के अवसर पर बोल रहे थे.

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार सिंह ने अपने भाषण में कहा, ‘विधानसभा चुनाव में दो कारणों के चलते सत्ताधारी पार्टी के खिलाफ वोटिंग हुई. पहला कारण किसानों की नाराजगी खासकर के सौराष्ट्र और दूसरा कारण युवा वर्ग में बेरोजगारी. ये क्यों हुआ? कुछ तो सही नहीं है.’

उन्होंने आगे कहा, ‘मुझे लगता है कि यह एईपीसी एक पहल है, जो यहां आ रहा है और परिधान क्षेत्र को बढ़ावा देगा. जब हम परिधान क्षेत्र को बड़े पैमाने पर ले जाएंगें तो इसमें रोजगार भी पर्याप्त पैदा होगा. हम उम्मीद करते हैं कि गुजरात एक प्रमुख परिधान केंद्र बने, पूरे गुजरात से बेरोजगारी को दूर किया जाना चाहिए.’

सिंह ने चुनाव में किसानों की नाराजगी पर कहा कि मूंगफली और कपास के लिए फसल ऋण और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) प्रमुख कारण थे.

परिधान क्षेत्र को मजबूत होने से कपड़े खरीदने और बेचने का काम बढ़ेगा. कपड़े के निर्माण के लिए परिधान फैक्ट्री खुलेंगी. खपत ज्यादा होगी तो कपास की मांग बढ़ेगी और इसके चलते कपास किसानों को फायदा मिलेगा.

विधानसभा चुनाव में सत्ताधारी भाजपा को 99 सीट तो वहीं विपक्ष की कांग्रेस को 77 सीट मिले हैं. सौराष्ट्र में भाजपा को 48 सीटों में से 19 सीट मिली है, जो 2012 में 30 सीट थी. कांग्रेस ने इस क्षेत्र में 28 सीट जीती हैं, जबकि 2012 में उसे सिर्फ 15 सीटें मिली थीं.