भारत

गुजरात: तीन शिक्षकों पर प्रताड़ना का आरोप लगाकर दलित मिड-डे मील प्रबंधक ने की आत्महत्या

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गृह क्षेत्र वडनगर का मामला. आरोप लगाया गया है कि मृतक के दलित होने के नाते तीनों शिक्षक उन्हें प्रताड़ित कर रहे थे.

Vadnagar

गुजरात के वडनगर में मिड-डे मील योजना के तहत काम करने वाले एक दलित युवक ने कथित तौर पर आत्महत्या कर ली है. एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, मृतक महेश चौहान यहां के एक प्राथमिक विद्यालय में मिड-डे मील योजना में बतौर प्रबंधक काम करता था. मृतक के सुसाइड नोट ने अनुसार, तीन शिक्षकों द्वारा प्रताड़ित होने के चलते उन्होंने कथित तौर पर कुएं में कूदकर जान दे दी.

वडनगर पुलिस के अनुसार, आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में तीनों शिक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. सुसाइड नोट के आधार पर महेश की पत्नी इलाबेन ने तीनों शिक्षकों के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई है.

महेश की पत्नी ने एफआईआर में आरोप लगाया है कि तीनों शिक्षकों के शोषण से तंग आकर उनके पति ने आत्महत्या की है. शिकायत में यह भी आरोप लगाया गया है कि महेश के दलित होने के नाते तीनों शिक्षक उन्हें प्रताड़ित कर रहे थे.

एफआईआर के अनुसार, महेश ने वडनगर तालुका के पास एक गांव के कुएं में कूदकर आत्महत्या कर ली. पुलिस अधिकारी के अनुसार महेश के शव के पास सुसाइड नोट बरामद हुआ है.

इलाके के पुलिस इंस्पेक्टर आरएल खराडी ने कहा, ‘तीनों शिक्षकों की पहचान मोमिन हसन अब्बासभाई, विनोद प्रजापति और अमाजी ठाकोर के रूप में हुई है. इनके खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने (आईपीसी की धारा 306) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है.’

गुजरात के सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री ईश्वर परमार ने इस घटना की जांच के आदेश दिए है और अधिकारियों द्वारा सौंपी जाने वाली रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई का आश्वासन दिया है.

बता दें वडनगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का गृह क्षेत्र भी है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, अभी तक तीनों शिक्षकों को गिरफ्तार नहीं किया गया है. एफआईआर के अनुसार, महेश स्कूल में लगभग एक साल से बतौर मिड डे मील प्रबंधक 1600 रुपये मासिक वेतन पर काम कर रहे थे.

महेश की पत्नी इलाबेन भी उसी स्कूल में बतौर कुक काम करती हैं. उन्होंने आरोप लगाया है कि तीनों शिक्षक नाश्ते-पानी के लिए उसके पति से पैसे खर्च करवाते थे और उनका परिवार आर्थिक तंगी से गुजर रहा है.

इंस्पेक्टर आरएल खराडी ने बताया कि महेश की मौत के बाद से ही तीनों शिक्षक छुट्टी पर चले गए हैं. उन्होंने आगे कहा, ‘हमने एफआईआर लिया है और जांच के लिए एससी/एसटी सेल के डिप्टी एसपी को मामला सौंप दिया है.’

Comments