भारत

कर्नाटक चुनाव प्रचार के अंतिम दिन बोले राहुल- मोदी को मुझमें ‘ख़तरा’ दिखाई देता है

कर्नाटक विधानसभा चुनाव राउंडअप: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कांग्रेस के दिल में दलितों और पिछड़ों के लिए कोई जगह नहीं. अमित शाह का आरोप, कांग्रेस ‘अलोकतांत्रिक’ तरीके से जीतना चाहती है चुनाव.

Bengaluru: Congress President Rahul Gandhi with senior party leader Mallikarjun Kharge, Karnataka Chief Minister Siddaramaiah and KPCC President G Parameshwara during a press meet, ahead of the Assembly elections 2018, in Bengaluru on Thursday. PTI Photo by Shailendra Bhojak (PTI5_10_2018_000083B)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी. (फोटो: पीटीआई)

बेंगलुरु: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनमें ‘खतरा’ दिखाई देता है और प्रधानमंत्री बनने की उनकी मंशा जाहिर करने के बाद मोदी का उन पर हमला सिर्फ लोगों का ध्यान भटकाने का तरीका है.

राहुल ने संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी के विदेशी मूल का मुद्दा उठाने के लिए मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि ‘उनकी मां इतालवी हैं’ लेकिन वह अनेक भारतीयों से ‘अधिक भारतीय’ हैं.

प्रधानमंत्री बनने की मंशा जाहिर करने के बाद मोदी के उन पर लगातार हो रहे हमलों के बारे में एक प्रश्न के उत्तर में राहुल ने कहा ‘यह चुनाव राहुल पर नहीं है. मैंने अब प्रधानमंत्री से निपटना सीख लिया है. जब वह जवाब नहीं दे पाते तो वह ध्यान भटकाते हैं.’

दरअसल राहुल ने हाल ही में कहा कि यदि उनकी पार्टी साल 2019 के आम चुनाव में सबसे बड़े दल के रूप में उभरती है तो वह प्रधानमंत्री बनेंगे जिसके बाद मोदी ने उनकी आलोचना की. मोदी ने अपनी एक चुनावी रैली में अचरज जताया कि क्या देश इस पद के लिए इतने ‘अपरिपक्व तथा नामदार’ नेता को कभी स्वीकार करेगा.

राहुल ने सोनिया के विदेशी मूल का जिक्र करने के लिए मोदी की आलोचना की और कहा, ‘मेरी मां इतालवी हैं. उन्होंने अपनी जिंदगी का बड़ा हिस्सा भारत में गुजारा है. वह कई अन्य भारतीयों से कहीं अधिक भारतीय हैं.’

उन्होंने कहा, ‘उन्होंने देश के लिए अपना जीवन कुर्बान कर दिया. उन्होंने देश के लिए परेशानियां झेली हैं. जब मोदी इस प्रकार की टिप्पणी करते हैं, तो इससे व्यक्ति की गुणवत्ता के बारे में पता चलता है. अगर उन्हें इस प्रकार की टिप्पणी करने में मजा आता है तो मुझे खुशी है, उनका स्वागत है.’

मोदी ने अपनी चुनावी रैली में सोनिया के विदेशी मूल का मुद्दा उठाया था और चुनौती दी थी कि कांग्रेस प्रमुख कर्नाटक सरकार की उपलब्धियों के बारे में किसी भी भाषा में, चाहे अपनी मां की मातृभाषा में ही 15 मिनट बोल दें.

राहुल ने कर्नाटक में धुआंधार प्रचार को विराम देते हुए संवाददाताओं से बातचीत में गौतम बुद्ध के जीवन से जुड़ी एक घटना का जिक्र किया. उन्होंने कहा, ‘एक बार बुद्ध अपने एक शिष्य के साथ बैठे थे तभी एक व्यक्ति ने उन्हें अपशब्द कहे और उन पर चिल्लाया, जब बुद्ध ने इस पर कोई जबाव नहीं दिया तो शिष्य ने उनसे मौन रहने का कारण पूछा. इस पर उन्होंने कहा गुस्सा उस व्यक्ति का है और चूंकि उन्होंने अपशब्दों पर पलटवार नहीं किया तो वह उस व्यक्ति के पास वापस चला गया.’

राहुल ने कहा, ‘मोदी के अंदर गुस्सा है… उन्हें सबके प्रति गुस्सा है, सिर्फ मैं ही नहीं … उन्हें मुझमें खतरा दिखाई देता है. उनका गुस्सा उनकी समस्या है, मेरी समस्या नहीं.’

मोदी के निजी हमलों पर गांधी ने कहा, ‘मैंने अब उनसे निपटना सीख लिया है, जब उन्हें लगता है कि वह ऐसी जगह आ रहे हैं जहां बचने का कोई स्थान नहीं है तो वह ध्यान भटकाते हैं और गुस्सा पैदा करते हैं. हम उन्हें ध्यान भटकाने और गुस्सा पैदा नहीं करने देंगे.’

यह पूछे जाने पर कि जब भी वह किसी प्रार्थना स्थल खासतौर पर मंदिर जाते हैं तो भाजपा उन्हें ‘चुनावी हिंदू’ करार देती है उन्होंने कहा, ‘जब मैं किसी मंदिर में जाता हूं तो भाजपा ‘असहज ’ महसूस करती है.’ उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि भाजपा को हिंदू शब्द का अर्थ पता है और उन्हें चुनावी हिंदू कहना उनकी मानसिक स्थिति को दिखाता है.’

राफेल लड़ाकू विमान की खरीद पर, जिसके बारे में भाजपा और प्रधानमंत्री ने अच्छे सौदे का दावा किया, गांधी ने कहा, ‘प्रधानमंत्री और उनके 45 हजार करोड़ ऋण वाले उस कारोबारी दोस्त के लिए यह बहुत अच्छा सौदा है जिसने अपने जीवन में कभी विमान नहीं बनाया.’ उन्होंने कहा कि मोदी ने हर विमान के लिए 1,500 करोड़ रुपये का भुगतान किया जबकि संप्रग सरकार ने 700 करोड़ रुपये पर काम किया था.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मोदी सरकार ने देश की विदेश नीति को बर्बाद कर दिया है. राहुल ने दलितों की हत्या और उन पर हमलों में खामोश रहने के लिए मोदी की आलोचना की. उन्होंने कहा, ‘जब रोहित वेमुला की मौत होती है, वह एक शब्द नहीं कहते. जब उना में दलितों को पीटा जाता है वह खामोश रहते हैं.’

कांग्रेस अध्यक्ष ने भाजपा पर हमले जारी रखते हुए कर्नाटक के प्रभावशाली रेड्डी बंधुओं को बचाने का आरोप भाजपा और प्रधानमंत्री पर लगाया. उन्होंने कहा कि रेड्डी बंधुओं को बचाने के लिए सरकार ने केंद्रीय जांच ब्यूरो को केंद्रीय अवैध खनन ब्यूरो में तब्दील कर दिया है.

मोदी ने चार साल में एक बार भी मीडिया का सामना नहीं किया

कर्नाटक विधानसभा चुनाव प्रचार के आखिरी दिन एक संवाददाता सम्मेलन करने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए गुरुवार को कहा कि मोदी ने पिछले चार वर्षों में एक बार भी मीडिया के सवालों का सामना नहीं किया.

राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘बेंगलुरु में क्षेत्रीय और राष्ट्रीय प्रेस से मिलकर अच्छा लगा. समय के अभाव के कारण मैं सबके सवाल नहीं ले सका, इसके लिए माफी चाहता हूं.’ उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री ने चार साल में एक बार भी संवाददाता सम्मेलन नहीं किया. मैं आगे और संवाददाता सम्मेलन करता रहा रहूंगा.’

कांग्रेस के दिल में दलितों और पिछड़ों के लिए कोई जगह नहीं: मोदी

बेंगलुरु: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि कांग्रेस के दिल में दलितों और पिछड़े वर्गों के लिए कोई जगह नहीं है, वहीं उनकी सरकार डॉ बी आर आंबेडकर के शक्तिशाली और समृद्ध भारत के सपने को साकार करने का प्रयास कर रही है.

दलितों के मुद्दे पर कांग्रेस के रुख को लेकर उस पर प्रहार करते हुए मोदी ने कहा कि विपक्षी दल ने आंबेडकर के प्रति कोई सम्मान नहीं दिखाया. उन्होंने आरोप लगाया कि आंबेडकर ने जब 1952 में लोकसभा चुनाव और 1953 में लोकसभा उपचुनाव लड़ा था तो कांग्रेस ने उन्हें हरवाने के लिए पूरी ताकत झोंक दी थी.

उन्होंने कहा, ‘इस वजह से बाबा साहब को हार और अपमान का सामना करना पड़ा. कांग्रेस कम से कम एक चीज दिखा दे जो उसने बाबा साहब के सम्मान में की हो.’ मोदी ने नमो ऐप के माध्यम से भाजपा के अनुसूचित जाति-अनुसूचित जनजाति और ओबीसी तथा झुग्गी मोर्चा के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘कांग्रेस के दिल में दलितों और पिछड़े वर्गों के लिए कोई जगह नहीं है. दशकों से यह हो रहा है. जब तक कांग्रेस सत्ता में थी, बाबा साहब को भारत रत्न नहीं दिया गया.’

उन्होंने कहा कि आंबेडकर का सपना एक ऐसे भारत का था जिसमें सभी आगे बढ़ें. उन्होंने कहा कि भाजपा अनेक योजनाओं के माध्यम से उनके सपने को पूरा करने का प्रयास कर रही है. मोदी ने कहा कि सरकार सामाजिक न्याय और समानता के लिए प्रयासरत है. उन्होंने कहा कि ‘स्टैंड अप’ और ‘मुद्रा’ योजनाएं अनुसूचित जाति-जनजाति, ओबीसी और महिलाओं के वित्तीय सशक्तीकरण में प्रमुख भूमिका निभा रही हैं.

Bengaluru: Prime Minister Narendra Modi addresses a public rally for the Karnataka assembly elections, in Bengaluru on Thursday. PTI Photo by Shailendra Bhojak (PTI5_3_2018_000163B)

(फोटो: पीटीआई)

प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा में इन श्रेणियों के सर्वाधिक सांसद हैं. आजादी के बाद पहली बार अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने अनुसूचित जनजाति के लिए अलग मंत्रालय बनाया था. उन्होंने कहा कि वाजपेयी जी की सरकार में ही एक अलग राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग बनाया गया. उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, झारखंड और छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकारें हैं जहां बड़ी संख्या में आदिवासी जनसंख्या रहती है.

मोदी ने कहा कि भाजपा असम, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर और त्रिपुरा जैसे पूर्वोत्तर राज्यों में भी सत्ता में है और नगालैंड तथा मेघालय में गठबंधन सरकार का हिस्सा है. उन्होंने कहा, ‘यह दिखाता है कि आदिवासी लोग पूरी तरह भाजपा का समर्थन कर रहे हैं.’ प्रधानमंत्री ने कहा कि कर्नाटक चुनाव के लिए भाजपा के घोषणापत्र में अनुसूचित जनजातियों के सशक्तीकरण के लिए चलाये जाने वाले कार्यक्रमों का ब्योरा है.

उन्होंने कहा कि चित्रदुर्ग, मैसूरू, उत्तर कन्नड़ और बागलकोट में सरकार व्यावसायिक प्रशिक्षण के लिए चार प्रशिक्षण केंद्र खोलेगी. प्रधानमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने कभी ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने के बारे में नहीं सोचा. उन्होंने कहा कि समुदाय की मांग के बावजूद हर बार वे इसमें रोड़े पैदा करते हैं. मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने के सरकार के कदम को रोकने के लिए संसद नहीं चलने दी.

उच्चतम न्यायालय ने कांग्रेस घोषणापत्र पर मुतालिक की याचिका खारिज की

नई दिल्ली: उच्चतम न्यायायल ने कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस के घोषणापत्र को लेकर राष्ट्रीय हिंदू सेना के प्रमुख प्रमोद मुतालिक की ओर से दायर याचिका बुधवार को खारिज कर दी.

मुतालिक ने इस याचिका में आरोप लगाया था कि कांग्रेस अपने घोषणापत्र के जरिए कर्नाटक में धर्म के आधार पर अल्पसंख्यकों का वोट पाना चाहती है.

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति एएम खानविलकर और डीवाई चंद्रचूड़ की एक खंडपीठ ने कहा कि ऐसे कई फैसले हैं जिनमें स्पष्ट किया गया है कि चुनावी प्रक्रिया शुरू होने के बाद अदालतों को उसमें हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए.

खंडपीठ ने यह भी कहा कि सामाजिक और आर्थिक पिछड़ापन से उन्हें निजात दिलाने के बारे में अल्पसंख्यक समुदाय से किये गये वादे को धर्म के आधार पर वोट मांगना नहीं कहा जा सकता. संविधान पीठ ने भी अपने फैसले में इसे सही ठहराया है.

हालांकि अदालत ने कहा कि चुनावी प्रक्रिया समाप्त होने के बाद मुतालिक विधिक समाधान का सहारा ले सकते हैं.

कर्नाटक चुनाव जीतने को व्याकुल हो रही है कांग्रेस: शाह

बेंगलुरु: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने गुरुवार को आरोप लगाया कि कांग्रेस कर्नाटक चुनाव ‘अलोकतांत्रिक’ तरीके से जीतना चाहती है तथा ‘मतदाता पहचानपत्र मामले’ से उसकी व्याकुलता पता चलती है. राज्य में 12 मई को होने जा रहे चुनाव के लिए अपनी पार्टी के प्रचार अभियान को सम्पन्न करते हुए उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि भाजपा अपने बूते पर सरकार बनाएगी.

उन्होंने दावा कि भाजपा 224 सदस्यीय विधानसभा में कम से कम 130 सीटें जीतेगी तथा किसी अन्य पार्टी के सहयोग की जरूरत नहीं पड़ेगी. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस अलोकतांत्रिक तरीके से चुनाव जीतना चाहती है … पिछले तीन दिन में हुए घटनाक्रम से भारत भर में वे लोग सदमे में हैं जो लोकतंत्र की मजबूती को लेकर चिंतित रहते हैं.’

उन्होंने यह बात यहां एक फ्लैट में फर्जी मतदाता पहचान पत्र बरामद होने की घटना का उल्लेख करते हुए कही. पूरे राज्य का व्यापक दौरा करने वाले शाह यहां संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.

Bengaluru: BJP National President Amit Shah addresses a press conference ahead of Karnataka Assembly election 2018 in Bengaluru on Thursday. PTI Photo by Shailendra Bhojak

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (फोटो: पीटीआई)

इससे पहले उन्होंने बादामी विधानसभा क्षेत्र में एक विशाल रोड शो किया. मुख्यमंत्री सिद्धारमैया बादामी के साथ साथ मैसूरू की चामुण्डेश्वरी सीट से भी चुनाव लड़ रहे हैं. भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘जिस प्रकार से एक फ्लैट में फर्जी मतदाता कार्ड बन रहे थे … जिस प्रकार से मतदाताओं को शामिल करने के लिए आवेदनपत्रों के काउंटर फॉयल पाये गये, जिस प्रकार वहां कलर प्रिंटर एवं कंप्यूटर पाये गये, इससे पता चलता है कि कांग्रेस चुनाव जीतने के लिए कितनी व्याकुल है.’

शाह ने एक प्रश्न के जवाब में कहा कि बीएस येदियुरप्पा मुख्यमंत्री के रूप में कार्यकाल पूरा करेंगे ( भाजपा के सत्ता में आने की स्थिति में). उन्होंने कहा कि खनन व्यवसायी जनार्दन रेड्डी का भाजपा से कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि ‘ मैंने जो कह दिया, वह अंतिम (बात) है.’ रेड्डी अवैध खनन मामले में आरोपी हैं.

कांग्रेस पर रेड्डी बंधुओं .. जी सोमशेखर रेड्डी और जी करूणाकर रेड्डी एवं उनके सहयोगियों को चुनाव में उतारने के लिए भाजपा पर हमला करती रही है.

प्रधानमंत्री जी, क्या आप भ्रष्टाचार पर सवालों का जवाब देने की हिम्मत करेंगे: कांग्रेस

नई दिल्ली: कर्नाटक में विधानसभा चुनाव प्रचार के आखिरी दिन कांग्रेस ने बीएस येदियुरप्पा और रेड्डी बंधुओं के खिलाफ चल रहे मामलों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर फिर हमला बोला और सवाल किया कि क्या मोदी भ्रष्टाचार के सवालों का जवाब देने की हिम्मत कर पाएंगे?

पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने चुनाव प्रचार खत्म होने से करीब आधा घंटा पहले ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए कहा, ‘प्रिय प्रधानमंत्री, क्या आप कर्नाटक की जनता द्वारा पूछे जा रहे भ्रष्टाचार से जुड़े सवालों का जवाब देंगे?’ उन्होंने सवाल किया, ‘क्या यही है ना खाऊंगा, ना खाने दूंगा मॉडल?’

सुरजेवाला ने एक वीडियो पोस्ट किया जिसमें येदियुरप्पा और रेड्डी बंधुओं पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों का उल्लेख है. कर्नाटक में चुनाव प्रचार आज शाम पांच बजे खत्म हो गया. राज्य की 223 सीटों के लिए 12 मई को मतदान होगा.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments