राजनीति

मोदी और शाह की जोड़ी देश के लिए हानिकारक: कांग्रेस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले चार साल में विकास जन आंदोलन बन गया है. अमित शाह ने कहा कि मोदी ने वंशवाद की राजनीति को ख़त्म किया.

New Delhi: Prime Minister Narendra Modi is greeted by BJP President Amit Shah as he arrives for BJP Parliamentary Board meeting after Karnataka Assembly elections result 2018, in New Delhi, on Tuesday. (PTI Photo/Kamal Kishore) (PTI5_15_2018_000209B)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: 26 मई को केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार के चार साल पूरा होने के मौके पर कांग्रेस, सपा, माकपा समेत आम आदमी पार्टी ने निशाना साधा है. कांग्रेस का कहना है कि बीते चार सालों में काम कुछ नहीं हुआ, सिर्फ बातें की गईं.

वहीं आम आदमी पार्टी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछले चार सालों में सिर्फ़ जन विरोधी फैसले लिए गए.

इसके उलट अपने चार साल के कार्यकाल को लेकर शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 2014 में आज ही के दिन हमने भारत के बदलाव की दिशा में काम करने की अपनी यात्रा शुरू की थी. पिछले चार वर्षों में विकास जन आंदोलन बन चुका है.

वहीं मोदी सरकार के चार सालों पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तुष्टीकरण एवं वंशवाद की राजनीति ख़त्म की है और विकास की राजनीति की शुरुआत की है.

शनिवार को जारी एक बयान में कांग्रेस ने राष्ट्रीय सुरक्षा, काला धन, भ्रष्टाचार, रोज़गार, महंगाई, दलितों और कमज़ोर लोगों की सुरक्षा और किसानों के मुद्दों को लेकर सरकार पर विफल रहने का आरोप लगाया और दावा किया कि चार साल में यह बात साबित हो गई कि मोदी जी और अमित शाह की जोड़ी देश के लिए हानिकारक है.

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘बीते चार वर्षों में सिर्फ बात ही बात और जनता के साथ विश्वासघात. काम कुछ नहीं हुआ, सिर्फ बातें की गईं. मोदी सरकार के चार साल को सिर्फ चार शब्दों में बयान किया जा सकता है- प्रपंच, प्रचार, प्रतिशोध और झूठ.’

उन्होंने कहा, ‘चार साल में यह साबित हो गया है कि मोदी जी और अमित शाह की जोड़ी देश के लिए हानिकारक है.’

पार्टी ने ‘विश्वासघात: 4 साल में सिर्फ बात ही बात’ शीर्षक से पुस्तिका भी जारी की.

कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत ने कहा कि चार साल में हर वर्ग के लोग दुखी और भयभीत हैं. प्रधानमंत्री मोदी की तरह कोई दूसरा प्रधानमंत्री नहीं हुआ जो इस पद की गरिमा को इतने नीचे ले गया हो.

उन्होंने कहा, ‘देश मे करीब छह लाख गांव हैं. इनसे पूछना चाहिए कि अगर इन्होंने 18 हज़ार गांवों में बिजली पहुंचाई तो पांच लाख 82 हज़ार गांवों में बिजली कौन पहुंचाया?’

New Delhi: Senior Congress leaders Ghulam Nabi Azad, Ashok Gehlot, AICC National Spokesperson Randeep Singh Surjewala and All India Mahila Congress President Sushmita Dev release a booklet "India Betrayes ... In Four Years of BJP's Misrule" during a press conference, in New Delhi on Saturday. (PTI Photo/Kamal Singh) (PTI5_26_2018_000059B)

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आज़ाद, अशोक गहलोत और पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने शनिवार को नई दिल्ली में मोदी सरकार के चार साल पूरे होने पर ‘विश्वासघात: 4 साल में सिर्फ़ बात ही बात’ नाम का बुकलेट जारी किया. (फोटो: पीटीआई)

गहलोत ने कहा कि कांग्रेस मुक्त भारत की बात करने वाले ख़ुद मुक्त हो जाएंगे. कांग्रेस कभी ख़त्म नहीं होगी.

उन्होंने कहा, ‘कृषि क्षेत्र का बुरा हाल है. कृषि क्षेत्र की विकास दर सबसे निचले स्तर पर पहुंच गई है. गन्ना किसानों के बकाये का भुगतान नहीं हो रहा है. बेरोज़गारी का बुरा हाल है. दो करोड़ नौकरियों का वादा किया गया था लेकिन रोज़गार की हालत और ख़राब हो गई.’

उन्होंने दावा किया, ‘हिंसा और नफरत का माहौल है. अनुसूचित जाति, जनजाति, ओबीसी और अल्पसंख्यकों पर हमले हो रहे हैं. इस सरकार ने जो माहौल बनाया है उससे कमज़ोर तबकों के लोग परेशान हैं. इस सरकार ने एससी/एसटी कानून को कमज़ोर करने का काम किया है.’

पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आज़ाद ने कहा, ‘राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर प्रधानमंत्री ने चुनाव में बहुत बातें कीं. इसी मुद्दे पर उन्होंने चुनाव में लाभ हासिल करने की कोशिश की. उनको इसका फायदा भी मिला. लेकिन राष्ट्रीय सुरक्षा का आज क्या हाल है?

उन्होंने कहा, ‘आज देश के भीतर कमज़ोर लोग सुरक्षित महसूस नहीं करते. अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर हमला हो रहा है. हमारा फौजी भी जो चाहे वो बोल नहीं सकता. मोदी सरकार में कोई सुरक्षित नहीं है.’

आज़ाद ने कहा, ‘1996 के बाद जम्मू कश्मीर में हालात ठीक हुए थे, लेकिन मोदी के चार वर्षों में सबसे ज़्यादा जवान शहीद हुए, सबसे ज़्यादा नागरिक मारे गए और सीमा पर सबसे अधिक संघर्ष विराम का उल्लंघन हुआ. इतने ज़्यादा आतंकी हमले कभी नहीं हुए.’

उन्होंने कहा, ‘क्या सभी पड़ोसी देशों के साथ हमारे रिश्ते ठीक हैं? डोकलाम में क्या हुआ, सबको पता है. इसके बाद भी प्रधानमंत्री बिना एजेंडा के चीन के दौरे पर गए.’

उन्होंने कहा, ‘भ्रष्टाचार को लेकर बड़ी-बड़ी बातें की गईं. काला धन वापस नहीं लाए लेकिन सफेद धन बाहर भेज दिया. नीरव मोदी, विजय माल्या जैसे लोगों के ज़रिये हज़ारों करोड़ रुपये बाहर भेज दिए.’

आज़ाद ने कहा कि राफेल सौदे में क्या हुआ सबको पता है. इस पर प्रधानमंत्री कोई जवाब नहीं देते.

उन्होंने कहा, ‘हमारी सरकार की तुलना में इस सरकार के समय देश की जीडीपी कम रही है. निर्यात घटा है.’

नारे गढ़ने में अव्वल रही मोदी सरकार: राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नरेंद्र मोदी सरकार के चार साल पूरा होने के मौके पर शनिवार को प्रधानमंत्री पर निशाना साधा और दावा किया कि यह सरकार कामकाज में फिसड्डी और नारे गढ़ने में अव्वल रही.

राहुल ने ट्वीट कर कहा, ‘चार साल का रिपोर्ट कार्ड: कृषि में फेल, विदेश नीति में फेल, ईंधन की कीमतों में फेल और रोज़गार सृजन में फेल.’

आरोप लगाया, ‘मोदी सरकार ने नारे गढ़ने, ख़ुद के प्रचार में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है. योग में बेहद ख़राब प्रदर्शन किया है.’

उन्होंने आरोप लगाया, ‘मोदी शानदार जुमलेबाज़ हैं, जटिल मुद्दों को लेकर संघर्ष किया है.’

पिछले चार सालों में विकास जन आंदोलन बन गया है: नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अपनी सरकार की चौथी वर्षगांठ पर अपनी उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए कहा कि पिछले चार सालों में विकास एक जन आंदोलन बन गया है.

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘2014 में आज ही के दिन हमने भारत के बदलाव की दिशा में काम करने की अपनी यात्रा शुरू की थी.’

उन्होंने कहा, ‘पिछले चार वर्षों में, विकास एक जीवंत जन आंदोलन बन गया है, देश का हरेक नागरिक भारत के विकास पथ से अपने को जुड़ा हुआ महसूस कर रहा है. 125 करोड़ भारतीय भारत को नई ऊंचाइयों पर ले जाने का काम कर रहे हैं.’

‘साफ नीयत, सही विकास’ हैशटैग के साथ मोदी ने अपनी सरकार की उपलब्धियों को रेखांकित करने वाली कई चार्टों, ग्राफिक्स और वीडियो की एक लंबी श्रृंखला भी पोस्ट किया.

उन्होंने कहा, ‘मैं अपने देशवासियों का हमारी सरकार में उनके अविश्वसनीय भरोसा के लिए आभार व्यक्त करता हूं. यह समर्थन और स्नेह पूरी सरकार के लिए प्रेरणा और ताकत का सबसे बड़ा श्रोत है.’

प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ‘इसी जोश और समर्पण के साथ’ लोगों की सेवा करती रहेगी.

उन्होंने लिखा, ‘हमारे लिए, हमेशा ‘पहले भारत’ है.’

मोदी ने कहा कि पूरी सत्यनिष्ठा और साफ नीयत के साथ उनकी सरकार ने ‘भविष्योन्मुख और लोगों के अनुकूल फैसले’ लिए हैं, जो एक नए भारत की नींव रखने का काम कर रहा है.

मोदी सरकार ने वंशवाद की राजनीति ख़त्म की, विकास की राजनीति शुरू की: शाह

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तुष्टीकरण एवं वंशवाद की राजनीति ख़त्म की है और विकास की राजनीति की शुरुआत की है.

शाह ने एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान अपनी सरकार के चार साल पूरा करने पर उसकी उपलब्धियां भी गिनायीं.

उन्होंने कहा कि वर्ष 2016 में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पार सर्जिकल स्ट्राइक कर इस सरकार ने देश के दुश्मनों पर विजय पाने की अपनी राजनीतिक इच्छाशक्ति का प्रदर्शन किया है.

शाह ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तुष्टीकरण, वंशवाद और जातिवाद की राजनीति ख़त्म की और विकास की राजनीति की शुरुआत की.’

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इस सरकार ने सत्ता में आते ही एक साल के अंदर लंबे समय से लंबित ‘वन रैंक वन पेंशन’ के मुद्दे का समाधान किया.

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने काले धन पर रोक के लिए एक एसआईटी के गठन जैसे कई उपाय किए. वर्ष 2014 के चुनाव प्रचार के दौरान काले धन का मुद्दा भाजपा के कई अहम चुनावी मुद्दों में से एक था.

शाह ने कहा, ‘मोदी सरकार संवेदनशील है और यह गांवों के विकास के लिए प्रतिबद्ध है.’

शाह ने यह उल्लेख किया कि ग्रामीण क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करने के साथ शहरी इलाकों पर भी उचित ध्यान दिया गया.

मोदी ने भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन दिया, विश्व अर्थव्यवस्था में भारत ‘आकर्षक स्थान’: जेटली

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि बीते चार साल में मोदी सरकरार ने ‘भ्रष्टाचार मुक्त’ प्रशासन दिया है और भारत आज विदेशी निवेश पर निर्भर ‘पांच उभरती अर्थव्यवस्थाओं’ की सूची से निकलकर वैश्विक मंच पर ‘आकर्षक गंतव्य’ बन गया है.

जेटली ने केंद्र में सत्तारूढ़ राजग सरकार के चार साल पूरे होने पर सोशल मीडिया वेबसाइट ‘फेसबुक’ पर अपनी टिप्पणी में यह बात कही है. उन्होंने कहा है कि सरकार का ध्यान, अब तक की गई पहलों को मजबूत बनाने पर रहेगा.

जेटली ने लिखा है कि इसे पहले संप्रग सरकार के दस साल में देश में स्वतंत्रता के बाद, सबसे भ्रष्ट सरकार देखने को मिली थी.

राजनीति में भ्रष्टाचार का खेल, बैंकिंग सिस्टम हुआ फेल: अखिलेश

लखनऊ: केंद्र की मोदी सरकार के चार साल पूरे होने के मौके पर सपा मुखिया अखिलेश यादव ने शायराना अंदाज़ में मुबारक़बाद दी और तंज़ भी कसा.

अखिलेश ने ट्वीट किया, ‘राजनीति में भ्रष्टाचार का खेल, बैंकिंग सिस्टम हुआ फ़ेल.’

उन्होंने लिखा, ‘पेट्रोल-डीज़ल के दाम उच्चतम, डॉलर के मुक़ाबले रुपया न्यूनतम. देश से घोटालेबाज़ फ़रार, विदेशों से दिखावे के क़रार.’

अखिलेश ने कहा, ‘महंगाई पर जीएसटी की मार. दलित, ग़रीब, महिला पर वार. किसान, बेरोज़गार, कारोबारी बेहाल, मुबारक़ हो ये चार साल.’

मोदी के नेतृत्व में सुपर पावर बनेगा भारत : योगी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार के चार वर्ष भारत के ‘नव उत्कर्ष’ का कार्यकाल रहे है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत अब दुनिया की महाशक्ति बनेगा.

योगी ने केंद्र की मोदी सरकार के चार वर्ष पूरे होने पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय के साथ संयुक्त प्रेस वार्ता की. उन्होंने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री मोदी के साथ साथ केंद्र सरकार के मंत्रियों को बधाई दी.

योगी ने कहा, ‘मुझे पूरा भरोसा है कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत दुनिया में अब सुपर पावर बनेगा.’

उन्होंने केंद्र सरकार की सभी योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा, ‘मोदी के नेतृत्व में देश विश्व गुरू बनने की राह पर है.’

उन्होंने कहा कि ‘सबका साथ सबका विकास’ के साथ केंद्र की सरकार ने काम किया है. हर तबके तक केंद्र की सरकार पहुंची है. चार साल भारत के नव उत्कर्ष का कार्यकाल है.

चार साल में पूरी तरह से नाकाम साबित हुई है मोदी सरकार: मायावती

लखनऊ: केंद्र की मोदी सरकार के चार वर्ष के कार्यकाल को विफल और नाकाम बताते हुये बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने कहा कि सवा सौ करोड़ आम जनता के जीवन को प्रभावित करने वाली ज़बर्दस्त महंगाई और ग़रीबी के कारण यह सरकार हर मोर्चे पर नाकाम साबित हुई है.

मायावती ने कहा कि वैसे तो भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं भी अपने हर काम को ऐतिहासिक क़रार देते रहते हैं और शायद यही कारण है कि इनके कार्यकाल में पेट्रोल व डीज़ल की कीमत पूरे देश में इतनी ज़्यादा बढ़ गई है कि अब इससे जनता को काफी परेशानियां उठानी पड़ रही हैं. इन कीमतों को कम करना अत्यंत ज़रूरी है नहीं तो हमारी पार्टी भी इसके विरोध में धरना-प्रदर्शन आदि करने के लिए मजबूर हो जाएगी.

बसपा प्रमुख ने कहा कि इसके साथ ही देश में ग़रीबी, बेरोज़गारी, महंगाई व भ्रष्टाचार तथा लोगों के जीवन में हर प्रकार की हिंसा व तनाव का स्तर भी इस भाजपा सरकार में ऐतिहासिक स्तर पर काफी ज़्यादा बढ़ गया है. इसके साथ-साथ सर्वसमाज में से ख़ासकर दलितों, आदिवासियों, पिछड़ा वर्गों, मुस्लिम व अन्य धार्मिक अल्पसंख्यक समाज के लोगों के ऊपर हर स्तर पर हो रहे अन्याय तथा अत्याचार भी इस सरकार में ऐतिहासिक तौर पर काफी ज़्यादा बढ़े है.

चार साल में सिर्फ जनविरोधी फैसले किए मोदी सरकार ने: आप

आम आदमी पार्टी (आप) ने मोदी सरकार की चार साल की उपलब्धियों को नकारते हुए शनिवार को कहा कि भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार ने बीते चार सालों में सिर्फ जनविरोधी फैसले ही किए हैं.

New Delhi: AAP leaders Sanjay Singh and Dilip Pande address a press conference on four years of BJP's government at the Centre, in New Delhi on Saturday. PTI Photo (PTI5_26_2018_000065B)

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह (दाएं) और दिलीप पांडे (बाएं) ने मोदी सरकार के चार साल पूरे होने पर शनिवार को नई दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस की. (फोटो: पीटीआई)

आप के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने संवाददाताओं से कहा, ‘चार साल में जितने फैसले लिए वे पूरी तरह से जनविरोधी रहे. मोदी जी ने जीएसटी और आधार का पहले विरोध किया पर केंद्र में आते ही उनको लागू किया.’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उनके वादों की याद दिलाते हुए सिंह ने कहा कि विदेशों में जमा कालाधन वापस लाकर सभी देशवासियों के बैंक खातों में 15 लाख रुपये जमा करने, दो करोड़ लोगों को रोज़गार देने, किसानों को फसल का डेढ़ गुना दाम दिलाने, महिला सुरक्षा, महंगाई से मुक्ति, डिजिटल इंडिया, मेक इन इंडिया, स्वच्छ भारत, हर परिवार को मकान देने जैसे तमाम वादे और दावे अब साल 2024 तक के लिये स्थगित हो गए. उन्होंने कहा ‘मोदी जी अब कह रहे है कि ये सब मिलेगा, लेकिन 2024 में. तब तक भारत माता की जय.’

सिंह ने कहा कि चार साल बाद देश के युवा अब तक रोज़गार के लिए भटक रहे हैं और किसान फसल की डेढ़ गुना कीमत पाने के लिए तरस रहे है. उन्होंने कहा ‘डेढ़ गुना कीमत तो छोड़िए, किसानों को मंदसौर की मंडी में एक और दो रुपये प्रति किलोग्राम कीमत पर लहसुन बेचना पड़ रहा है और जान भी गंवानी पड़ रही है.’

सिंह ने कहा कि कालाधन वापस लाकर हर देशवासी को 15 लाख रुपये देने के वादे के उलट मोदी जी ने नोटबंदी कर देशवासियों की जो थोड़ी बहुत जमा पूंजी थी उसे भी छीन लिया. महिला सुरक्षा के वादे की हकीकत यह है कि सरकार बजट प्रावधान के मुताबिक महिला पर 15 पैसे प्रतिदिन ख़र्च कर रही है. उन्होंने कहा कि चार साल में मोदी सरकार ने हर वर्ग को निराश करने और हर व्यक्ति को कंगाल करने का काम किया है.

चार साल में देश और देशवासियों की आजीविका पर सिर्फ़ हमले बढ़े: येचुरी

माकपा महासचिव सीताराम येचुरी ने मोदी सरकार के चार सालों में आम आदमी की आजीविका पर संकट सहित देश पर चौतरफा हमले बढ़ने की बात कही है.

येचुरी ने पार्टी के मुखपत्र ‘पीपुल्स डेमोक्रेसी’ में अपने लेख में कहा, ‘केंद्र की भाजपा सरकार के चार सालों में देश के रूप में भारत पर और देश के लोगों की आजीविका पर अप्रत्याशित हमले देखने को मिले.’

उन्होंने कहा कि बीते चार सालों में देश पर चार तरह के हमले लगातार तेज़ हुए.

पहला, आर्थिक सुधारों के नवउदारवादी मॉडल को आक्रामक तरीके से लागू करने से अधिकांश लोगों की आजीविका तहस नहस हो रही है.

दूसरा, तेजी से बढ़ते सांप्रदायिक ध्रुवीकरण से देश में सामाजिक सौहार्द का तानाबाना नष्ट हुआ है.

तीसरा, संसदीय लोकतंत्र, संवैधानिक संस्थाओं और प्राधिकारियों पर लगातार हमले हो रहे हैं.

चौथा, भारत की स्वतंत्र विदेश नीति के साथ पूरी तरह से समझौता करने के कारण देश की संप्रभुता अमेरिकी साम्राज्यवाद के प्रभाव में दिख रही है.

येचुरी ने कहा कि ये चारों हमले मिलकर देश और देश के लोगों पर सामूहिक हमले साबित हुए हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments