भारत

रेल में अतिरिक्त सामान ले जाने पर यात्रियों को देना होगा छह गुना जुर्माना

रेल बोर्ड के सूचना एवं प्रचार निदेशक वेद प्रकाश ने कहा कि यह कदम यात्रियों की सुविधा सुनिश्चित करने और डिब्बों के अंदर होने वाली भीड़ से निपटने के लिए उठाया गया है.

passengers railway-platform-carrying-luggage Reuters

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: भारतीय रेलवे में यात्रा करना यात्रियों के लिए किसी भयावह स्वप्न से कम नहीं होता. रेलवे रेल यात्री सेवाएं प्रदान करने के मामले में हमेशा आलोचनाएं सहता रहा है. हालांकि, बावजूद इसके रेल यात्री सुविधाओं में तो कोई खास इजाफा नहीं हुआ, लेकिन रेल यात्री किराया जरूर समय-समय पर बढ़ता रहा है.

इसी कड़ी में विमान यात्रा की तरह ही अब ट्रेन में सीमा से अधिक सामान ले जाने पर यात्रियों को सतर्क रहना होगा. क्योंकि रेलवे अब यात्रा के दौरान अधिक सामान ले जाने पर निर्धारित राशि से छह गुना अधिक जुर्माना लगाने का प्रावधान करने जा रहा है.

रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि ट्रेन के डिब्बों में अत्यधिक सामान ले जाने को लेकर लगातार मिल रही शिकायतों के मद्देनजर भारतीय रेलवे ने अपने तीन दशक पुराने सामान अनुज्ञा नियम को सख्ती से लागू करने का निर्णय लिया है. इसके तहत यात्रियों को अधिक सामान ले जाने पर निर्धारित राशि से छह गुना अधिक राशि बतौर जुर्माना देनी होगी.

निर्धारित मानदंड के अनुसार, स्लीपर क्लास और सेकेंड क्लास में यात्री बिना अतिरिक्त भुगतान किए क्रमश: 40 किलोग्राम और 35 किलोग्राम तक सामान ले जा सकते हैं और पार्सल कार्यालय में अतिरिक्त भुगतान कर वे क्रमश: 80 किलोग्राम और 70 किलोग्राम सामान ले जा सकते हैं. अतिरिक्त सामान मालगाड़ी में रखा जाता है.

रेल बोर्ड के सूचना एवं प्रचार निदेशक वेद प्रकाश ने कहा, ‘अगर यात्री को निर्धारित सीमा से अधिक सामान बिना बुक कराए ले जाते पाया गया तो सामान पर निर्धारित राशि से छह गुना अधिक भुगतान करना होगा. यह कदम यात्रियों की सुविधा सुनिश्चित करने और डिब्बों के अंदर होने वाली भीड़ से निपटने के लिए उठाया गया है.’

अधिकारी ने कहा कि यात्रियों द्वारा ले जाए जा रहे सामान पर निगरानी रखने के लिए आकस्मिक दौरे किए जाएंगे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments