भारत

जमीन विवाद को लेकर इलाहाबाद में सेवानिवृत्त दरोगा की पीट-पीटकर हत्या

इलाहाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नितिन तिवारी ने बताया कि मृतक के परिजनों ने 10 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है. घटनास्थल के पास से मिले सीसीटीवी फुटेज में तीन हमलावरों की पहचान कर ली गई है. इनमें से एक हमलावर मोहम्मद यूसुफ को गिरफ्तार कर लिया गया है.

(फोटो: फेसबुक)

(फोटो: फेसबुक)

इलाहाबाद: उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद जिले के शिवकुटी थाना अंतर्गत तेलियरगंज के शिलाखाना में सेवानिवृत्त दरोगा अब्दुल समद खां को सोमवार को लाठी और लोहे की छड़ से पीट-पीटकर कथित तौर पर मार डाला गया. पुलिस ने तीन आरोपियों में से एक मोहम्मद यूसुफ को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नितिन तिवारी ने बताया कि मृतक के परिजनों ने 10 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है. घटनास्थल के पास से मिले सीसीटीवी फुटेज में तीन हमलावरों की पहचान कर ली गई है. इनमें से एक हमलावर मोहम्मद यूसुफ को गिरफ्तार कर लिया गया है.

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नितिन तिवारी ने बताया कि मृतक के परिजनों ने 10 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है. घटनास्थल के पास से मिले सीसीटीवी फुटेज में तीन हमलावरों की पहचान कर ली गई है. इनमें से एक हमलावर मोहम्मद यूसुफ को गिरफ्तार कर लिया गया है.

कर्नलगंज थाना के क्षेत्राधिकारी आलोक मिश्र ने बताया कि बाकी दो हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है. मुख्य आरोपियों में हिस्ट्रीशीटर जुनैद कमाल के बेटे शेबू और यूसुफ एवं एक रिश्तेदार इब्ने शामिल हैं.

उन्होंने बताया कि मृतक का जुनैद कमाल के परिवार से पिछले 20-30 साल से जमीन का मुकदमा चल रहा है. दोनों पक्ष आपस में रिश्तेदार हैं. सोमवार को कुछ कहासुनी होने के बाद सुबह करीब दस बजे जब सेवानिवृत्त दरोगा अब्दुल समद अपने घर से कहीं जा रहे थे तो जुनैद के बेटे शेबू ने उन पर हमला कर दिया.

बाद में इस हमले में यूसुफ और इब्ने भी शामिल हो गए. अब्दुल को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां सोमवार देर शाम उनकी मौत हो गई.

ये बताया जा रहा है कि जुनैद आपराधिक प्रवृत्ति का व्यक्ति है और उसपर लगभग 20 मामले दर्ज हैं, जिसमें हत्या का प्रयास के साथ अन्य अपराध शामिल है.

(समाचार एजेंसी भाषा के इनपुट के साथ)

Comments