भारत

‘द क्विंट’ वेबसाइट के संस्थापक संपादक राघव बहल के घर और दफ्तर पर आयकर विभाग का छापा

राघव बहल ने इस मामले में एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया को पत्र लिखकर चिंता जताई और उनसे सहयोग की मांग की है.

राघव बहल. (फोटो साभार: फेसबुक)

राघव बहल. (फोटो साभार: फेसबुक)

नई दिल्ली: आयकर विभाग ने गुरुवार को कथित कर चोरी से जुड़े एक मामले में द क्विंट वेबसाइट के संस्थापक संपादक राघव बहल के नोएडा स्थित घर और दफ्तर पर छापा मारा है.

अधिकारियों ने बताया कि आयकर विभाग की एक टीम ने तड़के नोएडा स्थित बहल के आवास पर छापा मारा. अधिकारियों ने बताया कि आयकर विभाग के अधिकारियों के एक दल ने तड़के नोएडा स्थित बहल के आवास पर छापा मारा. दल विभिन्न लाभार्थियों को प्राप्त हुए ‘लंबी अवधि के फ़र्ज़ी पूंजीगत लाभ’ के मामले से जुड़े दस्तावेज़ और अन्य सबूत तलाश रहा है.

अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में बहल के अलावा तीन अन्य लाभार्थियों और पेशेवरों जे. लालवानी, अनूप जैन और अभिमन्यु के परिसरों की भी तलाशी ली जा रही है. अधिकारियों ने बताया कि विदेश में स्थित कपंनियों के साथ उनके व्यापार संबंधों की जांच की जा रही है.

राघव बहल समाचार पोर्टल ‘द क्विंट’ और ‘नेटवर्क 18’ समूह के संस्थापक और जाने-माने मीडिया कारोबारी हैं. बहल क्विंटिलिअन मीडिया प्राइवेट लिमिटेड के मालिक हैं. इसी से ‘द क्विंट’ वेबसाइट चलती है. क्विंटिलिअन कंपनी का ‘द न्यूज़ मिनट’ वेबसाइट में भी हिस्सेदारी है. इनकम टैक्स के अधिकारियों ने ‘द न्यूज़ मिनट’ के बेंगलुरु ऑफिस में भी जांच की थी.

राघव बहल ने इस मामले में एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया को एक पत्र लिखकर चिंता जताई है. उन्होंने लिखा, ‘जब मैं मुंबई में था, तब सुबह इनकम टैक्स के दर्जनों अफसर मेरे घर और ‘द क्विंट’ के दफ्तर पर सर्वे के लिए पहुंचे. हम पूरी तरह से टैक्स चुकाते हैं और हम उन्हें इससे संबंधित सभी वित्तीय दस्तावेज उपलब्ध कराएंगे.’

उन्होंने कहा, ‘हम ईमानदारी से कर भरने वाले प्रतिष्ठान हैं. हम सभी उचित वित्तीय दस्तावेज़ उपलब्ध कराएंगे. हालांकि, मैंने अभी-अभी मेरे परिसर में मौजूद अधिकारी, श्रीमान यादव से बात की है और उनसे गंभीरता से अनुरोध किया है कि वह अन्य कोई चिट्ठी/दस्तावेज़ न देखें या न उठाएं, क्योंकि उसमें पत्रकारिता से जुड़ी बेहद गंभीर/संवेदनशील सामग्री हो सकती है.’

उन्होंने आगे लिखा, ‘मैंने एक अफसर मिस्टर यादव से बात की है और उनसे गुजारिश की है कि वह किसी भी अन्य मेल और दस्तावेज को न देखें या उठाएं, जिसमें बहुत गंभीर और संवेदनशील पत्रकारिता की सामग्री हो. अगर वो ऐसा करेंगे तो हम इसका कड़ा विरोध करेंगे. मुझे उम्मीद है कि एडिटर्स गिल्ड इस मामले में हमारा साथ देगा.’

बहल ने कहा कि उन्हें अनधिकृत तरीके से दस्तावेज़ों की प्रति बनाने के लिए अपने स्मार्टफोन का दुरुपयोग नहीं करना चाहिए.

बहल ने ट्वीट किया है, ‘यदि वह ऐसा करते हैं तो वह ‘बेहद गंभीर क़दम’ उठाएंगे.’

मीडिया में जारी किए गए एक अन्य बयान में बहल ने कहा था कि वह दिल्ली लौट रहे हैं. उनकी पत्नी और मां आवास में ही हैं और उन्हें किसी से बातचीत करने की अनुमति नहीं है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments