राजनीति

भाजपा को पश्चिम बंगाल में ‘यात्रा’ निकालने से कोई नहीं रोक सकता: अमित शाह

कलकत्ता उच्च न्यायालय ने भाजपा को कूच बिहार में ‘रथयात्रा’ निकालने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है. भाजपा ने आदेश के ख़िलाफ़ उच्च न्यायालय की खंडपीठ में शुक्रवार को अपील दाख़िल की.

Jaipur: BJP President Amit Shah addresses a press conference, in Jaipur, Wednesday, Dec. 05, 2018. (PTI Photo)(PTI12_5_2018_000035B)

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली/कोलकाता/कूच बिहार (पश्चिम बंगाल): भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को कहा कि पार्टी पश्चिम बंगाल में ‘यात्राएं’ निश्चित तौर पर निकालेगी और उसे ऐसा करने से कोई भी नहीं रोक सकता है.

कलकत्ता उच्च न्यायालय ने एक दिन पहले भाजपा को कूच बिहार में ‘रथयात्रा’ निकालने की अनुमति देने से इनकार कर दिया था क्योंकि राज्य की ममता बनर्जी सरकार ने ऐसा होने पर इससे सांप्रदायिक तनाव और हिंसा फैलने का अंदेशा जताया था.

मालूम हो कि इस रथयात्रा को पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को हरी झंडी दिखाने वाले थे.

इसके बाद अदालत ने पश्चिम बंगाल के सभी ज़िलों के पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिया था कि भाजपा के सभी ज़िलाध्यक्षों का पक्ष सुनने के बाद पार्टी द्वारा निकाली जाने वाली ‘रथयात्रा’ रैलियों के आयोजन पर उसे 21 दिसंबर तक रिपोर्ट दें.

जस्टिस तपब्रत चक्रवर्ती ने नौ जनवरी को सुनवाई के अगले दिन तक रैली स्थगित करने का निर्देश देते हुए कहा कि रथयात्रा की अनुमति देने की भाजपा की अर्ज़ी को इस स्तर पर मंजूर नहीं किया जा सकता.

इधर, शाह ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘हम निश्चित तौर पर यात्रााएं निकालेंगे और हमें कोई नहीं रोक सकता. पश्चिम बंगाल में बदलाव के प्रति भाजपा प्रतिबद्ध है. ‘यात्राएं’ रद्द नहीं, सिर्फ़ स्थगित हुई हैं.’

ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पश्चिम बंगाल सरकार पर तीखा हमला बोलते हुए शाह ने आरोप लगाया कि देश में सर्वाधिक सियासी हत्याएं राज्य में हुई हैं.

उन्होंने कहा, ‘पूरा पश्चिम बंगाल प्रशासन सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस के लिए काम कर रहा है.’

रथयात्रा के लिए मंज़ूरी नहीं मिलने के ख़िलाफ़ भाजपा अदालत में

भाजपा ने पश्चिम बंगाल में रथयात्रा की अनुमति से इनकार करने के कलकत्ता उच्च न्यायालय की एकल पीठ के फैसले के खिलाफ उच्च न्यायालय की खंडपीठ में शुक्रवार को अपील दाखिल की.

जस्टिस बी. सोमद्दर और जस्टिस ए. मुखर्जी की खंडपीठ ने भाजपा को अपील दाख़िल करने की अनुमति देते हुए कहा कि वह मामले में शुक्रवार दोपहर सुनवाई करेगी.

पीठ ने भाजपा के वकीलों को निर्देश दिया की सुनवाई के लिए मामला लिए जाने से पहले अपील की प्रतिलिपि पश्चिम बंगाल सरकार और अन्य प्रतिवादियों को दी जाए.

भाजपा को शुक्रवार से रथयात्रा शुरू होने की उम्मीद: दिलीप घोष

पश्चिम बंगाल भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि उनकी पार्टी को न्यायपालिका में पूरा विश्वास है और उम्मीद है कि पार्टी शुक्रवार से रथयात्रा शुरू कर सकेगी.
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह शुक्रवार को यहां से रथयात्रा को हरी झंडी दिखा सकते हैं. इसे पश्चिम बंगाल में पार्टी का अब तक का सबसे बड़ा अभियान बताया जा रहा है.

घोष ने कहा, ‘हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है और उम्मीद करते हैं कि न्याय मिलेगा. हमें आशा है कि हम आज (शुक्रवार) से रथयात्रा कार्यक्रम शुरू कर सकेंगे.’

रथयात्रा पर अनिश्चितता के बाद भाजपा ने आपात बैठक बुलाई

पश्चिम बंगाल में भाजपा के रथयात्रा कार्यक्रम पर अनिश्चितता की स्थिति के बाद पार्टी ने आगे की रणनीति तय करने के लिए शुक्रवार को यहां आपात बैठक बुलाई.
भाजपा ने कहा कि वह उच्च न्यायालय के अंतिम आदेश का इंतजार करेगी. उच्च न्यायालय ने शुक्रवार दोपहर में भाजपा की अपील पर सुनवाई करने को कहा था.

सुबह 10:30 बजे शुरू हुई आपात बैठक में भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के साथ अरविंद मेनन, शिव प्रकाश, दिलीप घोष और मुकुल रॉय जैसे अन्य वरिष्ठ नेता भाग ले रहे हैं.

कुछ पार्टी नेताओं ने नाम ज़ाहिर नहीं करने की शर्त पर कहा कि अगर भाजपा प्रस्तावित रथयात्रा नहीं निकाल पाती तो इससे पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच गलत संदेश जाएगा.

राज्य के एक वरिष्ठ भाजपा नेता ने कहा, ‘हम अदालत के फैसले का इंतजार कर रहे हैं. हमने दोपहर दो बजे पार्टी कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई है.’

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के अब यात्रा के लिए नहीं आने की खबरों पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है. घोष ने इससे पहले आज कहा था कि उनकी पार्टी को न्यायपालिका पर पूरा विश्वास है और उम्मीद है कि पार्टी शुक्रवार से रथयात्रा शुरू कर सकेगी.

घोष और अन्य पार्टी नेताओं ने यहां मदन मोहन मंदिर में पूजा भी की.

 (समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)

Comments