भारत

बुलंदशहर हिंसा: अपर पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) का तबादला, लखनऊ पीएसी मुख्यालय भेजे गए

इससे पहले बुलंदशहर एसएसपी, स्याना क्षेत्राधिकारी और चिंगरावठी पुलिस चौकी के प्रभारी का तबादला कर दिया गया था. बुलंदशहर हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और सुमित कुमार नाम के युवक की मौत हो गई थी.

Bulandshahr: The police chowki which was attacked by the mob in Monday's violent protests over the alleged illegal slaughter of cattle, in Bulandshahr, Tuesday, Dec. 4, 2018. The violence left a police inspector Subodh Kumar Singh dead. (PTI Photo) (PTI12_4_2018_000046B)

बुलंदशहर हिंसा के दौरान चिंगरावठी चौकी में भी आग लगा दी गई थी. (फोटो: पीटीआई)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने बुलंदशहर के अपर पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) रईस अख्तर को हटाकर लखनऊ पीएसी मुख्यालय भेज दिया है. उनके स्थान पर ग़ाज़ियाबाद में पुलिस नियंत्रण कक्ष में तैनात रहे मनीष मिश्र को भेजा गया है.

बुलंदशहर में पिछले दिनों हुई हिंसा में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या के मामले में सरकार बुलंदशहर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक केबी सिंह को भी हटा चुकी है.

गौरतलब है कि गत तीन दिसंबर को स्याना कोतवाली क्षेत्र के चिंगरावठी इलाके में कथित गोकशी के बाद भड़की हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या कर दी गई. इसके अलावा सुमित कुमार नामक एक युवक की भी मृत्यु हो गई थी.

इस मामले में जितेंद्र समेत 27 नामजद तथा 50-60 अज्ञात लोगों के ख़िलाफ़ मुक़दमा दर्ज किया गया था. इनमें से अब तक 10 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है.

इस बीच सुबोध सिंह की हत्या मामले में वांछित जीतेंद्र मलिक उर्फ जीतू फौजी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

बीते आठ दिसंबर को सेना ने जीतू फौजी को हिरासत में लेकर उसे उत्तर प्रदेश पुलिस को सौंप दिया. जीतू जम्मू कश्मीर के सोपोर ज़िले में तैनात था.

इससे पहले प्रदेश सरकार ने बुलंदशहर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) कृष्ण बहादुर सिंह को हटा दिया था. उन्हें लखनऊ स्थित पुलिस महानिदेशक कार्यालय से संबद्ध कर दिया गया है.

उनकी जगह सीतापुर के पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी को बुलंदशहर का नया एसएसपी बनाया गया है.

सरकार ने बुलंदशहर में स्याना के पुलिस क्षेत्राधिकारी सत्य प्रकाश शर्मा और चिंगरावठी पुलिस चौकी के प्रभारी सुरेश कुमार का भी तबादला कर दिया है.

अपर पुलिस महानिदेशक (खुफिया) एसबी शिरोडकर ने सात दिसंबर की रात आला अधिकारियों को गोपनीय जांच रिपोर्ट सौंपी और समझा जाता है कि रिपोर्ट के निष्कर्षों के आधार पर ही ये तबादले किए गए.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)