भारत

अशोक चक्र विजेता को गुजरात सरकार देती है मात्र 20 हजार रुपये और हरियाणा एक करोड़ रुपये

गुजरात सरकार ने 39 वीरता पुरस्कार पाने वाले लोगों पर महज दो लाख चार हजार रुपये ख़र्च किये हैं. अशोक चक्र विजेताओं को उत्तर प्रदेश 32 लाख, पंजाब 30 लाख, मध्य प्रदेश 20 लाख, राजस्थान 18 लाख और दिल्ली 25 लाख देता है.

गुजरात मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और अशोक चक्र (फोटो: पीटीआई और विकीपीडिया)

गुजरात मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और अशोक चक्र (फोटो: पीटीआई और विकीपीडिया)

अहमदाबाद: जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में सीआरपीएफ जवानों पर हमले के बाद देश भर से लोग शहीदों की मदद के लिए कुछ न कुछ सहयोग करने के लिए आगे आ रहे हैं, लेकिन गुजरात सरकार द्वारा वीरता पुरस्कार विजेता को दी जाने वाली रकम चौंकाने वाली है.

अहमदाबाद मिरर की रिपोर्ट के अनुसार, गुजरात सरकार ने 39 वीरता पुरस्कार विजेताओं पर महज दो लाख चार हजार रुपये खर्च किये हैं. अशोक चक्र विजेता को गुजरात सरकार महज 20 हजार का इनाम देती है, जबकि हरियाणा सरकार सर्वाधिक एक करोड़ रुपये का इनाम देती है.

राज्य के गृह मंत्रालय के अंतर्गत काम करने वाले सैनिक कल्याण और पुनर्वास विभाग की वेबसाइट पर मौजूद आंकड़ों के अनुसार, परमवीर चक्र विजेता को महज 22,500 रुपये दिए जाते हैं.

आंकड़ों के अनुसार, गुजरात सरकार अशोक चक्र विजेता को 20 हजार रुपये, सर्वोत्तम युद्ध सेवा मेडल विजेता को 17 हजार रुपये, कीर्ति चक्र विजेता को 12 हजार रुपये, उत्तम युद्ध सेवा मेडल विजेता को 10 हजार रुपये, वीर चक्र विजेता को 7 हजार रुपये, शौर्य चक्र विजेता को 5 हजार रुपये, तो वहीं युद्ध सेवा मेडल विजेता को महज 4 हजार रुपये इनाम देती है.

आंकड़ें बताते हैं कि गुजरात में एक अशोक चक्र, दो महावीर चक्र, दो कीर्ति चक्र, पांच वीर चक्र, चार शौर्य चक्र और 25 अन्य वीरता पुरस्कार प्राप्त दिए गए हैं. इन सभी पुरस्कारों पर गुजरात सरकार ने महज दो लाख चार हजार रुपये ख़र्च किये हैं.

शहीद मेजर ऋषिकेश रमानी के पिता वल्लभभाई रमानी को मरणोपरांत सेना मेडल के लिए 2009 में महज 3 हजार रुपये का चेक दिया गया था. उनका कहना है, ‘मुझे 3 हजार रुपये का चेक दिया जा रहा था, लेकिन हमने वो लेने से इंकार कर दिया. गुजरात सरकार जो पैसा देती है उसके मुकाबले अन्य राज्य कहीं ज्यादा पैसे देते हैं.’

केंद्र सरकार द्वारा जारी निर्देश के तहत वीरता पुरस्कार पाने वाले लोगों को राज्य सरकार को अपनी तरफ से कुछ इनाम राशि देनी होगी, लेकिन कितना देना है इस पर कोई भी निर्देश नहीं है और राज्य सरकारें इनाम राशि तय करने के लिए स्वतंत्र हैं.

बहुत सारे राज्य हैं, जो नकद इनाम राशि की जगह जमीन और पेंशन देते हैं. गुजरात के अलावा अरुणाचल, पश्चिम बंगाल, पंजाब, ओडिशा और मणिपुर भी बेहद कम इनाम राशि देते हैं.

अशोक चक्र पाने वाले को हरियाणा सरकार एक करोड़ रुपये इनाम राशि के रूप में देती है, जो देश में सबसे अधिक है. वहीं उत्तर प्रदेश 32 लाख, पंजाब 30 लाख, मध्य प्रदेश 20 लाख, राजस्थान 18 लाख, मिज़ोरम 15 लाख, तमिल नाडु 12 लाख, आंध्र प्रदेश 10 लाख देता है.

वहीं असम, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, दिल्ली, गोवा, हिमाचल प्रदेश, केरला और उत्तराखंड में अशोक चक्र विजेता को 25 लाख की इनामी राशि दी जाती है. गुजरात सरकार में गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह जड़ेजा ने इस मुद्दे पर कोई भी टिप्पणी करने से इंकार कर दिया.