राजनीति

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली की छह सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान किया, कांग्रेस से गठबंधन नहीं

आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली संयोजक गोपाल राय ने कहा कि शीला दीक्षित ने गठबंधन से इनकार कर दिया है और राहुल गांधी ने भी कहा है कि गठबंधन संभव नहीं है.

New Delhi: Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal during the 'Clean Air' campaign at Indira Paryavaran Bhawan in New Delhi, on Saturday. PTI Photo by Ravi Choudhary (PTI2_10_2018_000129B)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: कांग्रेस के साथ गठबंधन की अटकलों को विराम देते हुए आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में आगामी लोकसभा चुनाव के लिए सात सीटों में से छह पर अपने उम्मीदवारों के नामों की घोषणा शनिवार को कर दी.

आप के दिल्ली संयोजक गोपाल राय ने नई दिल्ली में हुए एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पूर्वी दिल्ली से आतिशी मारलेना चुनाव लड़ेंगी. उत्तर-पश्चिम दिल्ली से गुग्गन सिंह, दक्षिण दिल्ली से राघव चड्ढा, उत्तर-पूर्व सीट से दिलीप पांडेय, चांदनी चौक से पंकज गुप्ता और नई दिल्ली सीट से ब्रजेश गोयल चुनाव लड़ेंगे.

राय के मुताबिक पश्चिमी दिल्ली की सीट को लेकर चर्चा जारी है और इस सीट के लिए उम्मीदवार का ऐलान बाद में किया जाएगा.

इन सभी छह उम्मीदवारों को पहले ही संबंधित लोकसभा सीटों का प्रभारी नियुक्त कर दिया गया था.

राय ने कहा कि पिछले महीने राकांपा अध्यक्ष शरद पवार के आवास पर प्रस्तावित ‘महागठबंधन’ के नेताओं की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आम आदमी पार्टी के साथ अपनी पार्टी के गठजोड़ की पेशकश ख़ारिज कर दी थी और इसके लिए उन्होंने दिल्ली इकाई के नेताओं की आपत्ति का हवाला दिया था.

एनडीटीवी के मुताबिक, लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं होने की वजह पूछने पर गोपाल राय ने इसके लिए कांग्रेस और राहुल गांधी को जिम्मेदार ठहराया.

गोपाल राय ने कहा, ‘शीला दीक्षित ने गठबंधन के लिए साफतौर से इनकार कर दिया है. राहुल गांधी ने भी कहा है कि यह संभव नहीं है. आम आदमी पार्टी गठबंधन चाहती थी लेकिन कांग्रेस तैयार नहीं है.’

कुछ दिन पहले ही दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि वह गठबंधन के लिए कांग्रेस को मना-मनाकर थक गए हैं. उनके इस बयान के एक दिन बाद दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित ने कहा था कि मैं अरविंद केजरीवाल से पूछना चाहती हूं कि आखिर किस आधार पर उन्होंने ऐसा कहा? उन्होंने एक बार भी इस बारे में (गठबंधन) बात नहीं की.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)