राजनीति

आम आदमी पार्टी ने ‘नमो टीवी’ की चुनाव आयोग से की शिकायत, बताया आचार संहिता का उल्लंघन

चुनाव आयोग से की गई शिकायत में आम आदमी पार्टी ने पूछा है कि आचार संहिता लागू होने के बाद क्या किसी दल को उसका अपना टीवी चैनल शुरू करने की अनुमति दी जा सकती है?

(फोटो साभार: ट्विटर)

(फोटो साभार: ट्विटर)

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी ने भाजपा के ‘नमो टीवी’ चैनल को चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन बताते हुए मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा से इसकी शिकायत की है.

आप के विधि प्रकोष्ठ की ओर से सोमवार को चुनाव आयोग के समक्ष की गई शिकायत में पूछा गया है कि चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद क्या किसी राजनीतिक दल को उसका अपना टीवी चैनल शुरू करने की अनुमति दी जा सकती है?

पार्टी ने चैनल का नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संक्षिप्त नाम ‘नमो’ पर रखे जाने का हवाला देते हुए कहा है कि अगर आयोग की अनुमति के बिना नमो चैनल शुरू किया गया है तो इस पर आयोग ने क्या कार्रवाई की है?

शिकायत में आप ने आयोग से यह भी पूछा है कि इस चैनल पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रमों पर किसकी निगरानी होगी और क्या भाजपा ने चैनल पर प्रसारित कार्यक्रमों और प्रसारण लागत को प्रमाणित कराने के लिए आयोग की मीडिया प्रमाणन समिति से संपर्क किया है? अगर ऐसा नहीं किया गया है तो चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के बारे में आयोग ने भाजपा से इसका कारण पूछा या नहीं?

पार्टी ने इस मामले पर गंभीर चिंता प्रकट करते हुए आयोग से इस पर यथाशीघ्र कार्रवाई करने का अनुरोध किया है.

पार्टी की ओर से कहा गया है कि आदर्श आचार संहिता का मुख्य उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि सत्तारूढ़ दल चुनावी लाभ लेने के लिए अपनी ताक़त का दुरुपयोग न कर पाए.

मालूम हो कि हाल ही में ‘नमो टीवी’ चैनल लॉन्च किया गया. चैनल के लोगो पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगाई गई है. यह चैनल नरेंद्र मोदी के भाषण और रैलियों का कवरेज कर रहा है. लॉन्च होने के बाद भारतीय जनता पार्टी और नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया पर इस चैनल को प्रमोट भी किया था.

इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण, प्रचार और उनसे जुड़ी दूसरी ख़बरों के लिए ‘नमो ऐप’ और नरेंद्र मोदी वेबसाइट की भी शुरुआत की है. एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब भी विधानसभा चुनाव से पहले ‘नमो गुजरात’ नाम के टीवी चैनल की शुरुआत की थी.

मालूम हो कि बीते 10 मार्च को लोकसभा चुनाव की तारीख़ घोषित होने के साथ ही आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है. पूरे देश में 11 अप्रैल से 19 मई के बीच सात चरणों में चुनाव होंगे. 23 मई को परिणाम घोषित किए जाएंगे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)