भारत

बेगूसराय सीट से हारे कन्हैया कुमार, गिरिराज सिंह 4 लाख से अधिक मतों से जीते

लोकसभा चुनाव परिणाम 2019: गिरिराज सिंह को बेगूसराय में डाले गए कुल 12.17 लाख मतों में से 6.88 लाख वोट मिले, वहीं जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष रहे कन्हैया कुमार को कुल 2.68 लाख वोट मिले. 1.97 लाख वोटों के साथ राजद नेता और महागठबंधन उम्मीदवार तनवीर हसन तीसरे स्थान पर रहे.

गिरिराज सिंह और कन्हैया कुमार. (फोटो: पीटीआई)

गिरिराज सिंह और कन्हैया कुमार. (फोटो: पीटीआई)

बेगूसराय: केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता गिरिराज सिंह ने बेगूसराय लोकसभा सीट पर अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी और भाकपा उम्मीदवार कन्हैया कुमार को चार लाख से अधिक मतों के अंतर से हरा दिया है.

गिरिराज को बेगूसराय में डाले गए कुल 12.17 लाख वोटों में से 6.88 लाख वोट मिले. वहीं जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष रहे कन्हैया कुमार को 2.68 लाख वोट मिले.

साल 2014 में बेगूसराय सीट पर दूसरे नंबर पर रहे राजद नेता और महागठबंधन उम्मीदवार तनवीर हसन को महज 1.97 लाख वोट मिले और वह तीसरे पायदान पर रहे. बेगूसराय में 20,408 मतदाताओं ने नोटा का विकल्प चुना.

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में नवादा सीट से जीत दर्ज करने वाले गिरिराज को इस बार भाजपा ने बेगूसराय से अपना उम्मीदवार बनाया था. शुरू में वह बेगूसराय से चुनाव लड़ने को लेकर अनिच्छुक थे.

भाजपा ने भूमिहार बहुत इस सीट पर बिरादरी से आने वाले केंद्रीय मंत्री गिरिराज को उतारा तो सीपीआई ने भूमिहार जाति के ही कन्हैया कुमार को उतारा. तनवीर हसन और कन्हैया के बीच मुस्लिम वोटों के बंटवारे से गिरिराज सिंह को फायदे की उम्मीद जताई जा रही थी, जो बात सही होती दिख रही है.
बेगूसराय सीट पर कन्हैया कुमार की जीत के लिए बाहर से लोग उनका चुनाव प्रचार करने पहुंचे थे. अभिनेत्री स्वरा भास्कर और लेखक एवं गीतकार जावेद अख्तर बेगूसराय में कन्हैया के लिए चुनाव प्रचार किया.

2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के भोला सिंह ने राजद के तनवीर हसन हराया था. भोला सिंह से इन्हें 58 हजार 335 कम वोट मिले थे. भोला सिंह 428227 मत लाकर सांसद बने थे. वे 50 वर्षों से इस क्षेत्र की सक्रिय राजनीति का हिस्सा रहे थे. 2014 में गिरिराज सिंह यहां से प्रत्याशी नहीं थे.