भारत

उत्तर प्रदेश: बुलंदशहर के पूर्व सांसद और सपा नेता घर में संदिग्ध परिस्थितियों में ​मृत मिले

कमलेश बाल्मीकि बुलंदशहर (सुरक्षित) सीट से 2009 का लोकसभा चुनाव जीते थे. वह 15वीं लोकसभा में खाद्य, उपभोक्ता मामले और जनवितरण संबंधी समिति के सदस्य भी रहे थे.

पूर्व सांसद कमलेश बाल्मीकी. (फोटो साभार: ट्विटर)

पूर्व सांसद कमलेश बाल्मीकी. (फोटो साभार: ट्विटर)

बुलंदशहर: उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के नेता और पूर्व सांसद कमलेश बाल्मीकि सोमवार को बुलंदशहर जिले में अपने घर में संदिग्ध हालात में मृत मिले.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि बाल्मीकि (52) के भतीजे ललित ने दोपहर में खुर्जा शहर में अपने चाचा के निधन के बारे में पुलिस को बताया. खुर्जा के क्षेत्राधिकारी गोपाल सिंह ने बताया कि घर का दरवाजा अंदर से बंद था. परिवार के चार लोगों ने उस कमरे का दरवाजा खोला, जहां बाल्मीकि का शव मिला.

उन्होंने कहा कि शव को कब्जे में ले लिया गया और संदेह है कि यह जहर से जुड़ा मामला है. मौत के वास्तविक कारणों का पता लगाने के लिए पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है.

उन्होंने कहा, ‘शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है लेकिन प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है कि यह जहर का मामला है क्योंकि शव का रंग नीला हो गया था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही हम कारणों की पुष्टि कर पाएंगे.’

पुलिस ने बताया कि खुर्जा में ईदगाह रोड पर बाल्मीकि के घर पर फोरेंसिक विशेषज्ञों के साथ पुलिस अधिकारियों की टीम मौजूद थी.

बाल्मीकि बुलंदशहर (सुरक्षित) निर्वाचन क्षेत्र से 2009 का लोकसभा चुनाव जीते थे. वह 15वीं लोकसभा में खाद्य, उपभोक्ता मामले और जनवितरण संबंधी समिति के सदस्य भी रहे थे.

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, बीते 25 मई को वह अपनी पत्नी व 18 वर्षीय इकलौते पुत्र को हापुड़ जिले के पिलखुवा स्थित ससुराल में छोड़ने गए थे. वहां से शाम को वापस खुर्जा स्थित घर लौट आए. रविवार के बाद सोमवार को भी वह घर से बाहर नहीं निकले.

सोमवार शाम तक कमलेश बाल्मीकि बाहर नहीं निकले तो उनका भतीजा ललित और परिवार के सदस्य उनके घर पर पहुंचे. दोनों मुख्य दरवाजे अंदर से बंद थे. दरवाजा तोड़ा तो अंदर कमलेश का शव पड़ा था.

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, परिजनों का कहना है कि वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में कमलेश बाल्मीकि गठबंधन के टिकट पर बुलंदशहर से चुनाव लड़ना चाहते थे, लेकिन बुलंदशहर लोकसभा सीट बसपा के खाते में चली गई. परिजनों के अनुसार मंगलवार को लखनऊ जाने के लिए कमलेश बाल्मीकि ने रिजर्वेशन भी कराया था.

रिपोर्ट के अनुसार, साल 2009 नाराज भाजपा नेता कल्याण सिंह ने मुलायम सिंह से राजनीतिक गठजोड़ कर लिया था. कल्याण की सिफारिश पर ही कमलेश को बुलंदशहर लोकसभा सीट से सपा ने टिकट दिया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)