भारत

भारतीय धावक हिमा दास ने एक महीने में जीता पांचवां स्वर्ण पदक

भारतीय महिला धावक हिमा दास ने 400 मीटर दौड़ में ये स्वर्ण पदक जीता है. उन्होंने पिछले 19 दिनों में अलग-अलग अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक मीट में शामिल होकर अब तक पांच गोल्ड मेडल अपने नाम किए हैं.

Tampere: Hima Das, of India, celebrates her victory in women's 400 meter race at the 2018 IAAF World U20 Championships in Tampere, Finland, Thursday, July 12, 2018. AP/PTI(AP7_13_2018_000006B)

हिमा दास. (फोटो: एपी/पीटीआई)

नई दिल्लीः भारत की स्टार धावक हिमा दास ने शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए यहां अपनी पसंदीदा 400 मीटर दौड़ में 52.09 सेकेंड के सत्र के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ इस महीने का पांचवां स्वर्ण पदक जीता.

शनिवार का हिमा का यह प्रदर्शन हालांकि 50.79 के उनके निजी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से धीमा है जो उन्होंने जकार्ता एशियाई खेलों के दौरान बनाया था. वह साथ ही 51.80 सेकेंड के विश्व चैंपियनशिप के क्वालीफाइंग स्तर से भी चूक गईं.

हिमा का यह प्रदर्शन हालांकि 52.88 सेकेंड के सत्र में उनके पिछले सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन से बेहतर है.

हिमा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक तस्वीर साझा करते हुए लिखा, ‘चेक गणराज्य में 400 मीटर स्पर्धा में शीर्ष स्थान पर रहते हुए दौड़ खत्म की.’

दो जुलाई को यूरोप में पहली प्रतिस्पर्धी दौड़ में हिस्सा लेने के बाद से हिमा का यह पांचवां स्वर्ण पदक है.

हिमा ने साल की अपनी पहली 200 मीटर प्रतिस्पर्धी दौड़ में 23.65 सेकेंड के समय के साथ दो जुलाई को पोलैंड में पोजनान एथलेटिक्स ग्रां प्री में स्वर्ण पदक जीता था.

इसके बाद उन्होंने सात जुलाई को पोलैंड में ही कुत्नो एथलेटिक्स प्रतियोगिता में 23.97 सेकेंड के साथ 200 मीटर में स्वर्ण पदक जीता.

चेक गणराज्य में 13 जुलाई को क्लादनो एथलेटिक्स प्रतियोगिता में हिमा ने 23.43 सेकेंड से स्वर्ण पदक जीता जबकि बुधवार को इसी देश में उन्होंने ताबोर एथलेटिक्स प्रतियोगिता में चौथा सोने का तमगा जीता.

इस साल अप्रैल में एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में पीठ की तकलीफ के कारण परेशान रहने के बाद असम की 19 साल की हिमा ने पहली बार 400 मीटर में हिस्सा लिया था.

इस बीच एमपी जबीर ने भी 400 मीटर बाधा दौड़ में 49.66 सेकेंड के समय के साथ स्वर्ण पदक जीता लेकिन मोहम्मद अनस को 200 मीटर में 20.95 सेकेंड के समय से कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)