भारत

बारिश से बेहाल मुंबई, महालक्ष्मी एक्सप्रेस फंसी, 17 घंटे बाद सभी 1050 यात्रियों को बचाया गया

मूसलाधार बारिश के कारण मुंबई हवाई अड्डे से जाने वाली 11 उड़ानें रद्द कर दी गई हैं और नौ उड़ानों के मार्ग में परिवर्तन किया गया है. कल्याण के पास कई गांवों के घर डूबे. ठाणे में बाढ़ जैसे हालात. नासिक में तीन दिन से लगातार बारिश जारी.

Thane: A birds eye view shows Mahalaxmi Express bound for Kohlapur from Mumbai stranded following heavy monsoon rain near Badlapur in Thane district, Saturday, July 27, 2019. (PTI Photo)(PTI7_27_2019_000062B)

भारी बारिश की वजह से पानी में फंसी महालक्ष्मी एक्सप्रेस. (फोटो: पीटीआई)

मुंबई/ठाणे/नासिक: मुंबई और इसके निकटवर्ती इलाकों में मूसलाधार बारिश के कारण कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात बन गए और रेल और विमान सेवाएं बुरी तरह प्रभावित हुई हैं.

भारी बारिश के कारण रेल पटरियों के पानी में डूबने से महालक्ष्मी एक्सप्रेस 1000 से ज़्यादा यात्रियों के साथ ठाणे जिले में बदलापुर के पास फंस गई, जिसके बाद अधिकारियों ने विभिन्न राहत एजेंसियों की मदद से बचाव अभियान शुरू किया.

उल्हास नदी में पानी बढ़ने के कारण महालक्ष्मी एक्सप्रेस ट्रेन फंस गई थी.

काफी मशक्कत के बाद कोल्हापुर जाने वाली 17412 महालक्ष्मी एक्सप्रेस में सवार सभी 1,050 यात्रियों को शनिवार को बचा लिया गया. यात्रियों को बचाने के लिए विभिन्न राहत एजेंसियों द्वारा लगभग 17 घंटे तक अभियान चलाया गया.

भारी बारिश के कारण रेल पटरियों पर पानी भरने से यह ट्रेन ठाणे जिले में वंगानी के निकट फंस गई थी. यह ट्रेन शुक्रवार की रात को मुंबई से कोल्हापुर के लिए रवाना हुई थी लेकिन यह वंगानी से आगे नहीं जा सकी जहां इसे शनिवार की तड़के पहुंचना था.

मध्य रेलवे (सीआर) के अधिकारियों ने बताया कि नौ गर्भवती महिलाओं समेत सभी यात्रियों को दोपहर तीन बजे तक बचा लिया गया.

सीआर के मुख्य प्रवक्ता सुनील उदासी ने बताया कि सभी 1,050 यात्रियों को मौके से बचा लिया गया है. उदासी ने कहा, ‘महालक्ष्मी एक्सप्रेस के प्रभावित यात्रियों के साथ 19 डिब्बों वाली एक विशेष ट्रेन कल्याण से कोल्हापुर के लिए रवाना होगी.

राहत अभियान में शामिल अधिकारियों ने बताया कि नौ गर्भवती महिलाओं और एक महीने की एक बच्ची को भी सुरक्षित बचा लिया गया है.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राहत दलों की प्रशंसा करते हुए कहा कि केंद्र स्थिति पर नजर रखे हुए है.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), नौसेना, वायुसेना, सेना, रेलवे और राज्य प्रशासन की टीमों ने सभी यात्रियों को बचा लिया.’

मुंबई हवाई अड्डे से 11 उड़ानें रद्द, नौ के मार्ग में परिवर्तन 

बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के अनुसार, पिछले 24 घंटे में सुबह आठ बजे तक मुंबई में 97.3 मिमी बारिश हुई, जबकि पूर्वी और पश्चिमी उपनगर में इस दौरान क्रमश: 163 मिमी और 132 मिमी बारिश हुई.

इस पर नौसेना ने ट्वीट किया, ‘मुंबई और उसके निकटवर्ती इलाकों में पिछले 24 घंटे से लगातार हो रही बारिश के चलते भारतीय नौसेना के तीन गोताखोर दलों सहित आठ बाढ़ राहत दल बचाव सामग्री, रबर वाली नौकाओं और लाइफ जैकेटों के साथ भेजे गए हैं.’

नौसेना ने कहा कि एक ‘सी किंग हेलीकॉप्टर’ मौके पर भेजा गया है, जिसमें गोताखोर रबर की नौकाओं और आवश्यक सामान के साथ मौजूद हैं.

मूसलाधार बारिश के कारण मुंबई हवाई अड्डे से 11 उड़ानें रद्द की गईं और नौ के मार्ग में परिवर्तन भी किया गया है.

Thane: People wade across a waterlogged street after incessant monsoon rainfall, in Thane, July 27, 2019. (PTI Photo) (PTI7_27_2019_000119B)

भारी बारिश के कारण कल्याण के एक इलाके में भरा पानी. (फोटो: पीटीआई)

निकटवर्ती ठाणे जिले में रातभर हुई बारिश से कई इलाकों में बाढ़ जैसे हालात बन गए. इस बीच, रेजिडेंट डिप्टी कलेक्टर (ठाणे) शिवाजी पाटिल ने बताया कि बारिश के कारण किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है.

महाराष्ट्र सरकार के प्रवक्ता बृजेश सिंह ने बताया कि एनडीआरएफ की आठ नौकाएं तैनात की गई हैं.

अधिकारी ने बताया कि कल्याण के पास कल्याण मुरबाद मार्ग पर वरप, कम्बा, म्हारल सहित कई गांवों में घर डूब गए हैं. जिला प्रशासन ने बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ का एक दल मौके पर भेजा है.

उन्होंने कहा, ‘बचाव कार्य जारी है और कम से कम 100 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है.’

कल्याण की एक इमारत से नौ लोगों को भारतीय वायुसेना ने बचाया. इन लोगों को मुंबई हवाई अड्डे पर पहुंचाया गया है.

मौसम विज्ञान विभाग (मुंबई) के उप महानिदेश केएस होसालिकर ने ट्वीट किया कि मुंबई उपनगरों में अभी भारी बारिश जारी रहेगी.

नासिक में लगातार तीसरे दिन बारिश जारी

महाराष्ट्र के नासिक शहर और जिले के कई हिस्सों में शनिवार को लगातार तीसरे दिन बारिश जारी रही जिसके कारण निचले इलाकों में पानी भर गया है और जनजीवन प्रभावित हुआ है.

शहर और जिले के अन्य हिस्सों में बृहस्पतिवार से रुक-रुक कर बारिश हो रही है. मौसम विभाग के अनुसार जिले में आगामी 24 घंटों में बारिश जारी रहेगी.

जिला अधिकारियों ने बताया कि सुबह आठ बजे तक पिछले 24 घंटों में इगतपुरी तहसील में 212 मिमी, त्र्यंबकेश्वर में 140 मिमी, सुरगना में 34.2 मिमी और नासिक तहसील में 28 मिमी बारिश हुई.

उन्होंने बताया कि इलाके में अच्छी बारिश के बाद नासिक शहर के लिए पेयजल के मुख्य स्रोत गंगापुर बांध में 63 प्रतिशत और दारणा बांध में 83 प्रतिशत जल भर गया है.

अधिकारियों ने बताया कि शेष 22 जलाशयों में जलस्तर बढ़ रहा है और किसानों ने बुवाई शुरू कर दी है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)