भारत

झारखंड: पेड़ से लटके मिले दो आदिवासी महिला हॉकी खिलाड़ियों के शव

सिमडेगा ज़िले की घटना. दोनों युवतियां शनिवार से लापता थीं. परिजनों का आरोप है कि उनकी हत्या की गई है.

Simdega Jharkhand Map

रांची: झारखंड के सिमडेगा थाना क्षेत्र के अरानी गांव में पंचायत भवन के पीछे रविवार सुबह जिले में दो आदिवासी महिला हॉकी खिलाड़ियों के शव एक पेड़ से लटके मिले हैं. उनके परिवार के लोगों ने हत्या का आरोप लगाया है.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी. अधिकारी ने कहा कि दोनों महिला हॉकी खिलाड़ी– सुनंदिनी बागे (23) और श्रद्धा सोरेंग (18) शनिवार से लापता थी. सिमडेगा जिले के बीरू गांव में रविवार को उनके शव एक पेड़ से लटके हुए पाए गए.

दैनिक भास्कर की खबर के मुताबिक उनके शव जिस तरह से पेड़ से एक ही रस्सी के फंदे में झूलते तथा पैर जमीन से लगभग सटे हुए मिले हैं, उससे परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है.

दोनों युवतियां स्टील ऑथोरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड सेल के डे बोर्डिंग की सदस्य भी थीं. दोनों के परिजनों ने आरोप लगाया कि उनकी हत्या की गई है.

पुलिस हत्या व आत्महत्या दोनों बिंदुओं पर छानबीन कर रही है. पुलिस अधिकारी ने कहा कि परिवार के सदस्यों द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है.

सोमवार को सिमडेगा सदर अस्पताल में शवों का पोस्टमार्टम किया गया और उनके पैतृक निवास स्थान पर उनका अंतिम संस्कार किया गया.

सिमडेगा के पुलिस अधीक्षक संजीव कुमार ने मंगलवार को कहा कि दो खिलाड़ियों की मौत के पीछे के रहस्य को बहुत जल्द सुलझा लिया जाएगा.

हालांकि, उन्होंने यह बताने से इनकार कर दिया कि यह हत्या का मामला है या आत्महत्या का मामला है. उन्होंने कहा कि इस समय इस तरह के खुलासे से जांच पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा.

उन्होंने कहा, ‘हमने झारखंड और ओडिशा के कई लोगों से पूछताछ की है और कुछ महत्वपूर्ण सुराग जुटाए हैं. वास्तव में, हमारी एक टीम अभी भी राउरकेला में डेरा डाले हुई है. उनके शाम को लौटने की उम्मीद है.’

कुमार ने पीटीआई-भाषा को बताया, ‘मृतकों की पोस्टमार्टम रिपोर्ट शाम तक या कल सुबह तक हमारे पास पहुंचने की उम्मीद है. उसके बाद ही हम कुछ कह पाने की स्थिति में होंगे.’

श्रद्धा सिमडेगा जिले के बांसजोर थाना क्षेत्र के भुकुमुंडा पतराटोली गांव की रहने वाली थी और ओडिशा के सुंदरगढ़ जिले के बीरमित्रपुर में एक स्कूल की छात्रा थी, जबकि सुनंदिनी ओडिशा के सुंदरगढ़ जिले के गिपिटोला लचरा गांव की रहने वाली थी.

दोनों राउरकेला में एक हॉकी प्रशिक्षण केंद्र में प्रशिक्षण लिया करती थी और दोस्त बन गई थी. एसपी ने कहा, ‘हालांकि, वे नियमित रूप से एक साथ नहीं रहती थीं, लेकिन वे दोनों सिमडेगा और सुंदरगढ़ में एक-दूसरे के घर पर अक्सर आती-जाती रहती थी.’

स्थानीय अख़बार के मुताबिक श्रद्धा शनिवार को अपने घर में यह बोलकर निकली थी कि वह ओडिशा स्थित अपने स्कूल में पढ़ाई के लिए जा रही है, वहीं सुनंदिनी के परिजनों को पता नहीं था कि उनकी बेटी किसके साथ और कहां गई हुई है.

इस बारे में अब तक कोई जानकारी नहीं मिली है कि दोनों लड़कियां सिमडेगा के अरानी इलाके में किस काम से और किसके पास आई हुई थीं. लोगों के अनुसार शनिवार शाम को दोनों को अरानी गांव से करीब तीन किमी पहले स्थित बीरू गांव में दुकान से बिस्कुट आदि खरीदते देखा गया था.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)