भारत

मिर्जापुर: मिड-डे मील में नमक-रोटी खाते बच्चों का वीडियो बनाने वाले पत्रकार के खिलाफ केस दर्ज

एफआईआर में आरोप लगाया गया है कि ये वीडियो जानबूझकर और प्रायोजित तरीके से छलपूर्वक बनाया गया और उसे वायरल करते हुए सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न की गई है.

Mirzapur School Mid Day Meal

नमक और रोटी खाते बच्चे. (फोटो साभार: वीडियोग्रैब/ट्विटर)

मिर्जापुर: उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर जिले के एक सरकारी स्कूल में मिड-डे मील में बच्चों को नमक रोटी परोसे जाने का वीडियो बनाने वाले पत्रकार के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है.

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक मिर्जापुर के खंड शिक्षा अधिकारी प्रेमशंकर राम द्वारा थाने में तहरीर देकर आरोप लगाया गया है कि ये जानबूझकर और प्रायोजित तरीके से छलपूर्वक वीडियो बनाया गया और उसे वायरल करते हुए सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न की गई है.

पुलिस ने जिलाधिकारी अनुराग पटेल के निर्देश के आधार पर स्थानीय अखबार ‘जनसंदेश टाइम्स’ के पत्रकार पवन जायसवाल, ग्राम प्रधान राजकुमार पाल और एक अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. 

एफआईआर के मुताबिक गांव के प्रधान राजकुमार पाल के एक सहयोगी और पत्रकार पवन जायसवाल ने मिलकर नमक-रोटी खाते बच्चों का विडियो बनाकर इस कथित साजिश को अंजाम दिया. इन लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 120बी, 186, 193 और 420 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

मालूम हो कि बीते 23 अगस्त को मिर्जापुर के एक सरकारी स्कूल में बच्‍चों को नमक और रोटी बांटे जाने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था.

कक्षा एक से 8वीं तक की पढ़ाई करने वाले लगभग 100 छात्रों को मिड-डे मील के तौर पर रोटी और नमक बांटा गया. वीडियो में बच्चे स्कूल के बरामदे में फर्श पर बैठे हैं और वे नमक के साथ रोटियां खाते हुए दिखाई दे रहे हैं.