भारत

गुजरात, दिल्ली, राजस्थान, झारखंड में महिला समेत चार लोगों की पीट-पीट कर हत्या

गुजरात के जामनगर में हुई घटना में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. नई दिल्ली में हुई घटना में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ़्तार किया है.

Bikaner: Muslim activists protest against the recent incidents of mob lynching, in Bikaner, Friday, June 28, 2019. (PTI Photo) (PTI6_28_2019_000160B)

(फोटो: पीटीआई)

जामनगर/नई दिल्ली: गुजरात, दिल्ली और राजस्थान में हुई अलग-अलग घटनाओं में चोरी के संदेह में एक महिला समेत तीन लोगों की पीट पीट कर हत्या कर दी गई.

गुजरात के जामनगर जिले में चोर होने के संदेह में सात लोगों के एक समूह ने एक अज्ञात व्यक्ति की कथित तौर पर पिटाई कर दी जिससे उसकी मौत हो गई. पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी.

मेधपर पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि यह घटना मोती खावड़ी गांव में रविवार को हुई. इनमें से तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

इस व्यक्ति की उम्र 35 वर्ष बताई जा रही है.

उन्होंने बताया कि इस व्यक्ति ने रविवार की सुबह दीवार फांदकर मकान में घुसने का प्रयास किया था.

अधिकारी ने बताया कि इसके बाद चोर होने के संदेह में लकड़ी और प्लास्टिक की छड़ों से उसकी पिटाई की गई जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई.

उन्होंने बताया कि पुलिस ने तीन आरोपियों प्रभाकर त्रिपाठी (उत्तर प्रदेश के देवरिया निवासी), योगेश सिंह (उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर निवासी) और बिहार के रहने वाले मनोज सिंह को गिरफ्तार किया.

अधिकारी ने बताया कि पुलिस अन्य आरोपियों की तलाश कर रही है.

पुलिस ने आईपीसी की विभिन्न धाराओं और गुजरात पुलिस अधिनियम के तहत सातों आरोपियों के खिलाफ रविवार की शाम एक प्राथमिकी दर्ज की.

नई दिल्ली में मकान मालिक में महिला की पीट-पीटकर मार डाला

नई दिल्ली: दक्षिणी दिल्ली के महरौली में एक मकान मालिक और उसके बेटे ने 44 वर्षीय विधवा महिला की कथित तौर पर पीट-पीटकर कर हत्या दी. मकान मालिक को महिला पर चोरी का संदेह था. पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने बताया कि महिला की पहचान मंजू गोयल के रूप में हुई है और उनके दो बच्चे हैं, जो घटना के समय हरियाणा में थे.

मंजू गोयल के भाई महेश जिंदल ने शनिवार को पुलिस को जानकारी दी कि महिला को तीन-चार लोगों ने पीटा है.

पुलिस की एक टीम जब घटनास्थल पर पहंची तो जिंदल ने बताया कि उनकी बहन सतीश पहवा के यहां किराये पर रहती थी. उन्होंने बताया कि मंजू गोयल ने सतीश पहवा, उसकी पत्नी, बेटे पंकज और उनकी घरेलू सहायिका कमलेश द्वारा पीटे जाने के बाद सीने में दर्द की शिकायत की थी. पाहवा को शक था कि मंजू उसके घर से रुपये चुराती है.

एनडीटीवी के मुताबिक मंजू के ऊपर उसके मकान मालिकों ने 60-70 हजार रुपये चोरी का इल्जाम लगाया था. मंजू के परिजनों ने बताया कि शनिवार सुबह के वक्त उन्हें मंजू के मकान मालिक का फोन आया कि उनकी बहन घायल हो गई है.

इसके बाद जिंदल पहवा के घर पहुंचे. आरोप है कि उस वक्त उनकी बहन को पहवा और उनका बेटा पंकज तथा अन्य लोग मिलकर पीट रहे थे. उन्हें मकान मालिक ने बताया कि मंजू ने उनके घर से 60-70 हजार रुपये चोरी किए हैं जो उन्हें उसके कमरे में मिले और उसकी हमने पिटाई की है.

जिंदल इसके बाद अपनी बहन को लेकर घर आ गए, लेकिन उनकी बहन ने सीने में दर्द की शिकायत की. हालत बिगड़ने पर जिंदल ने घर पर डॉक्टर को बुलाया. हालांकि उसी शाम को महिला की मौत हो गई.

पुलिस उपायुक्त अतुल कुमार ठाकुर ने कहा, ‘उनके शव को पोस्टमार्टम के लिए एम्स भेज दिया गया है. 54 वर्षीय सतीश पहवा और उनके 29 वर्षीय बेटे पंकज को गिरफ्तार कर लिया गया है.’

राजस्थान में मोटर पंप चोरी के आरोप में दलित की पीट-पीट कर हत्या

कोटा: राजस्थान के झालावाड़ जिले में मोटर पंप चोरी के आरोप में एक 40 वर्षीय दलित व्यक्ति की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई. पुलिस ने रविवार को यह जानकारी दी.

थाना प्रभारी नैनूराम मीणा ने बताया कि घटना शनिवार सुबह घटोली इलाके में उस समय घटी जब 60 वर्षीय व्यक्ति, उसके दो बेटों और अन्य अज्ञात लोगों ने खेत से मोटर पंप चोरी के आरोप में मेवाखेड़ा गांव निवासी धुलीचंद मीणा की पिटाई कर दी.

उन्होंने बताया कि जब धुलीचंद नजदीक के गांव में जा रहे थे तब उनका सामना पुरीलाल तवंर और उसके बेटे देवी सिंह (23) और मोहन (20) एवं अन्य से हुआ.

थाना प्रभारी ने बताया कि धुलीचंद और अन्य लोगों के बीच मोटर पंप चोरी के आरोप में बहस हुई जिसके बाद लोगों ने धुलीचंद की बेरहमी से पिटाई कर दी.

उन्होंने कहा कि धुलीचंद के पिता घटनास्थल पर गए और बेटे को घर लाए, बाद में धुलीचंद की तबीयत खराब होने पर अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

नैनूराम मीणा ने बताया कि शुरुआती जांच में खुलासा हुआ कि तंवर और उनके बेटों ने शुक्रवार को मोटर पंप चोरी की शिकायत धुलीचंद के पिता से की थी जिस पर उन्होंने अपने बेटे को डांटा था और तंवर से उसके खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाने को कहा था.

थाना प्रभारी ने कहा कि तंवर, उसके बेटों और अन्य सात अज्ञात लोगों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा-302 (हत्या) और अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

उन्होंने कहा कि पोस्टमॉर्टम के बाद धुलीचंद का शव शनिवार को परिजनों को सौंप दिया गया.

इसी तरह झारखंड के खूंटी जिले में हुई एक अन्य घटना में गोकशी के शक में रविवार को भीड़ ने पीट-पीटकर एक युवक की हत्या कर दी जबकि दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए.

पुलिस का कहना है कि खूंटी के जलटंडा सुआरी गांव में रविवार को सुबह लगभग 10 बजे के आसपास भीड़ ने इन लोगों पर उस वक्त हमला किया, जब ये लोग कथित तौर पर एक जानवर के शव से मांस निकाल रहे थे.

झारखंड में अकेले सितंबर में मॉब लिंचिंग की तीन घटनाएं हो चुकी हैं. 11 सितंबर को साहिबगंज जिले में बच्चा चोकी के शक में एक 70 साल के शख्स की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी जबकि तीन सितंबर को रामगढ़ जिले में पचास से अधिक लोगों की भीड़ ने एक शख्स को बुरी तरह से पीटा था, जिसने अस्पताल ले जाते वक्त रास्ते में ही दम तोड़ दिया था.

वहीं, छह सितंबर को धनबाद के कागती पहाड़ी गांव में बच्चा चोरी की अफवाह में ही एक और शख्स की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. इस साल 18 जून को झारखंड के सरायकेला-खरसावां में बाइक चोरी के आरोप में भीड़ के हमले में 22 साल के तबरेज अंसारी की मौत हो गई थी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)