Share Market

New Delhi: Reliance Industries Limited Chairman Mukesh Ambani addresses the 24th Annual International Conference on Mobile Computing and Networking (ACM Mobicom) 2018, in New Delhi, Tuesday, Oct 30, 2018. (PTI Photo/Atul Yadav) (PTI10_30_2018_000038B)

रिलायंस पेट्रोलियम मामला: सेबी ने रिलायंस और मुकेश अंबानी पर 40 करोड़ का जुर्माना लगाया

बाज़ार नियामक सेबी ने पूर्ववर्ती रिलायंस पेट्रोलियम लिमिटेड की शेयर कारोबार में कथित गड़बड़ी को लेकर रिलायंस इंडस्ट्रीज और इसके चेयरमैन और एमडी मुकेश अंबानी के साथ-साथ दो अन्य इकाइयों पर 20 करोड़ रुपये और 10 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है.

सुब्रत रॉय. (फोटो साभार: फेसबुक/Humara Sahara)

सेबी ने सहारा समूह से निवेशकों को 14 हज़ार करोड़ रुपये लौटाने को कहा

सहारा समूह ने 1998-2009 के वित्तीय वर्षों में निवेशकों से कम से कम 14,106 करोड़ रुपये जुटाए. यह राशि एक करोड़ 98 लाख 39 हज़ार 939 निवेशकों से जुटाई गई. सहारा की दो अन्य कंपनियों की 24,000 करोड़ रुपये से अधिक की राशि लौटाने का मामला उच्चतम न्यायालय में लंबित है.

(फोटो: रॉयटर्स)

डॉलर के मुकाबले रुपया पहली बार 73.77 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंचा

अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 44 पैसे गिरकर 73.77 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया. बुधवार को रुपया 43 पैसे गिरकर 73.34 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर बंद हुआ था.

(फोटो: रॉयटर्स)

डॉलर के मुकाबले रुपया पहुंचा 73 के पार, अब तक की सबसे बड़ी गिरावट

बुधवार सुबह रुपया 73.26 पर खुला था. इसमें गिरावट लगातार जारी रही. डॉलर के मुकाबले 43 पैसे गिरकर 73.34 रुपये के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया.

Reserve Bank Reuters

यूनियन बैंक समेत तीन बैंकों पर आरबीआई ने लगाया 1-1 करोड़ रुपये का जुर्माना

रिज़र्व बैंक ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया और बैंक ऑफ महाराष्ट्र पर यह जुर्माना धोखाधड़ी पकड़ने में देरी और समय पर इसके बारे में जानकारी न देने के चलते लगाया है.

(फोटो: रॉयटर्स)

रुपये में ऐतिहासिक गिरावट, डॉलर के मुकाबले पहली बार 72 के पार

गुरुवार दोपहर बाद रुपया बुधवार के बंद की तुलना में 37 पैसे गिर कर प्रति डॉलर 72.12 के नए न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया है.

New Delhi: Prime Minister Narendra Modi looks on during the launch of India Post Payments Bank (IPPB), in New Delhi on Saturday, Sept 1, 2018. (PTI Photo/Subhav Shukla) (PTI9 1 2018 000073B)

भाषणों के मास्टर मोदी पेट्रोल से लेकर रुपये पर क्यों नहीं बोल रहे हैं?

सरकार में हर कोई दूसरा टॉपिक खोजने में लगा है जिस पर बोल सकें ताकि रुपये और पेट्रोल पर बोलने की नौबत न आए. जनता भी चुप है. यह चुप्पी डरी हुई जनता का प्रमाण है.

(फोटो: पीटीआई)

डॉलर के मुकाबले रुपया पहली बार 71.37 के न्यूनतम स्तर पर

इससे पहले बीते शुक्रवार को शुरूआती कारोबार में 71 रुपये के न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया था. हालांकि इसके बाद भी रुपया संभल नहीं सका और उसमें लगातार गिरावट जारी है.

(फोटो: रॉयटर्स)

डॉलर के मुकाबले रुपया पहली बार 71 के न्यूनतम स्तर पर

रुपये के भाव में लगातार गिरावट से निर्यातक वैश्विक बाजारों में अपने माल का सही मोल-भाव नहीं कर पा रहे हैं जिससे उन्हें अनिश्चितता का सामना करना पड़ रहा है.

narendra-modi-advani copy

क्या मोदी सरकार का ‘इंडिया शाइनिंग’ पल आ चुका है?

1999 में एनडीए-1 ने 8% जीडीपी वृद्धि दर के साथ अपनी पारी की शुरुआत की थी, लेकिन बाद के तीन वित्तीय वर्षों के बीच जीडीपी वृद्धि दर में तेज़ गिरावट देखी गई. यही कहानी एनडीए-2 में भी दोहराई जा रही है.

Workers stand as a crane loads wheat onto a ship at Mundra Port in the western Indian state of Gujarat April 1, 2014. REUTERS/Amit Dave/File Photo

एशियाई विकास बैंक ने जीडीपी वृद्धि दर का अनुमान घटाकर 6.7 प्रतिशत किया

बैंक ने सुस्त वृद्धि दर, नोटबंदी व जीएसटी से उत्पन्न चुनौतियों को ज़िम्मेदार ठहराया. पूर्वानुमान से सेंसेक्स टूटा.