भारत

यूपी: नाबालिग से गैंगरेप मामले में सपा-बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष समेत 19 के ख़िलाफ़ आरोपपत्र दायर

अक्टूबर 2021 में ललितपुर में एक 17 साल की युवती ने अपने पिता, दस रिश्तेदारों और कई नेताओं समेत 28 लोगों पर बलात्कार का आरोप लगाया था. पुलिस ने बताया कि सबूतों के आधार पर लड़की के पिता और स्थानीय नेताओं सहित उन्नीस लोगों के ख़िलाफ़ चार्जशीट दायर की गई है.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

ललितपुर: उत्तर प्रदेश के ललितपुर पुलिस ने समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज (बसपा) के पूर्व जिलाध्यक्षों सहित अन्य के खिलाफ एक 17 वर्षीय लड़की के साथ कथित सामूहिक बलात्कार के मामले में आरोप पत्र दायर किया है.

किशोरी ने पिछले अक्टूबर में शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि चार साल से अधिक समय तक उसका यौन उत्पीड़न किया गया था. आरोपियों में नाबालिग लड़की के पिता और 10 रिश्तेदारों के नाम भी शामिल हैं.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने रविवार को कहा, ‘एकत्र किए गए सबूतों के आधार पर हमने हाल ही में लड़की के पिता और स्थानीय नेताओं सहित 19 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दायर की. दो आरोपियों को छोड़कर 17 लोग जेल में बंद हैं. पुलिस अभी तीन अन्य से पूछताछ कर रही है.’

अमर उजाला के अनुसार, इनमें किशोरी के पिता के खिलाफ धारा 354, 323, 328, 506, 5/6 पॉक्सो एक्ट, 366ए एवं 376डी,बी और किशोरी की एक ताई के खिलाफ धारा 328, 506, 120 बी, 376 डीए, 5/6 पॉक्सो एक्ट के तहत न्यायालय में आरोपपत्र दाखिल की गई है.

वहीं, पूर्व सपा जिलाध्यक्ष तिलक यादव, पूर्व बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार, पूर्व सपा नगर अध्यक्ष राजेश जैन झोझिया, राजू यादव, महेंद्र दुबे, अरविंद यादव, महेंद्र यादव, प्रबोध नारायण तिवारी, सोनू समैया, महेंद्र सिंघई, नीरज तिवारी, पीड़िता के ताऊ, चाचा, ताऊ का बेटा, दूसरे चाचा, तीसरे चाचा व बुआ के खिलाफ विवेचना पूरी करते हुए धारा 376 डीए एवं 5 व 6 पॉक्सो एक्ट के तहत न्यायालय में आरोप पत्र पेश किए गए हैं.

मालूम हो कि पीड़िता पिछले साल अक्टूबर में शिकायत दर्ज करते हुए 28 लोगों पर बलात्कार का आरोप लगाया था. उसके बाद पुलिस ने पुलिस ने 17 लोगों को गिरफ्तार किया था, जिन्होंने पिछले पांच वर्षों में नाबालिग के साथ कथित तौर पर बलात्कार किया था.

पुलिस के मुताबिक, पीड़िता अपनी मां के साथ 12 अक्टूबर को ललितपुर थाने पहुंचकर आरोप लगाया था कि पिछले पांच साल से उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया.

पुलिस ने कहा था कि लड़की का आरोप है कि जब वह छठी कक्षा में थी तो उसके पिता ने जबरन अश्लील वीडियो दिखाकर उसके साथ दुष्कर्म किया. बाद में वह उसे शहर के अलग-अलग होटलों में ले गया जहां कई लोगों ने उसके साथ दुष्कर्म किया. पिता की धमकियों के कारण वह चुप रही. बाद में उसने अपनी मां को बताया.

पुलिस ने 25 नामजद और तीन अज्ञात लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म समेत कई आरोपों में प्राथमिकी दर्ज की थी.