दुनिया

हुंडई पाकिस्तान के विवादित पोस्ट पर भारतीय इकाई की आलोचना, कंपनी बोली- देश के लिए प्रतिबद्ध

पाकिस्तान हर साल पांच फरवरी को ‘कश्मीर एकजुटता दिवस’ मनाता है. हुंडई की पाकिस्तान इकाई ने ट्विटर हैंडल से इसका समर्थन किया था, जिसके बाद हुंडई इंडिया को आलोचनाओं का सामना करना पड़ा. सोमवार को कई ट्विटर यूज़र्स हुंडई का बहिष्कार कर मारुति या टाटा से वाहन खरीदने की बात कहते नज़र आए.

चीन के बीजिंग में हुंडई मोटर कंपनी के संयंत्र का प्रवेश द्वार (फोटोः रॉयटर्स)

नई दिल्लीः हुंडई मोटर इंडिया विवादों में घिर गई है. सोशल मीडिया पर कंपनी को आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है.

दरअसल हुंडई पाकिस्तान की कश्मीर में अलगाववादियों के समर्थन में की गई पोस्ट के बाद यह आलोचनाएं शुरू हुई.

रिपोर्ट के अनुसार, ट्विटर यूजर्स द्वारा शेयर किए गए इस पोस्ट के स्क्रीनशॉट के मुताबिक, हुंडई पाकिस्तान ने लिखा था, ‘चलिए याद करें, हमारे कश्मीरी भाइयों के बलिदान को और उनका समर्थन करें क्योंकि वे अभी भी आजादी के लिए संघर्षरत हैं.’

इस ट्वीट के साथ हैशटैग ‘कश्मीरसॉलिडेरेटीडे’ का इस्तेमाल किया गया था. हालांकि, अब इस ट्वीट को डिलीट कर दिया गया है.

ज्ञात हो कि पाकिस्तान हर साल पांच फरवरी को ‘कश्मीर एकजुटता दिवस’ मनाता है. हुंडई कंपनी की पाकिस्तान इकाई के सोशल मीडिया हैंडल से इसका समर्थन किया गया था.

इसके बाद कई भारतीय ट्विटर यूजर्स ने लोगों से हुंडई का बहिष्कार कर मारुति या टाटा से वाहन खरीदने को कहा है. इसके साथ ही सोशल मीडिया पर ‘बायकॉटहुंडई’, ‘कश्मीर’ और ‘टाटा’ जैसे हैशटैग ट्रेंड करते रहे.

ट्विटर यूजर्स के मुताबिक, हुंडई से संबद्ध किआ कॉर्प से जुड़े एक एकाउंट ने भी इसी तरह की सोशल मीडिया पोस्ट की.

सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा शेयर किए गए स्क्रीनशॉट के मुताबिक, किआ मोटर्स क्रॉसरॉड्स- हैदराबाद और पाकिस्तान ने पोस्ट कर कहा, ‘हम कश्मीर की आजादी के लिए एकजुट हैं.’

इस पोस्ट को ‘कश्मीर’, ‘पांचफरवरी’, ‘किआपाकिस्तान’ और ‘किआक्रॉसरोड्स’ जैसे हैशटैग के साथ शेयर किया गया.

अब बताया गया है कि वास्तविक पोस्ट को डिलीट कर दिया गया है.

बता दें कि सोमवार को ट्विटर पर ‘हुंडईग्लोबल’ हैशटैग ने ट्रेंड करना शुरू कर दिया, जब भारतीय यूजर्स ने पाकिस्तान से जुड़ी पोस्ट के लिए कंपनी से माफी मांगने को भी कहा.

ब्लूमबर्गक्विंट के मुताबिक, हुंडई का पाकिस्तान में एक संयुक्त उपक्रम (जेवी) है, जिसमें देश के शीर्ष कारोबारियों में से एक मियां मंशा शामिल हैं.

किआ पाकिस्तान देश के सबसे बड़े व्यापारिक समूहों में से एक लकी मोटर कॉर्प द्वारा संचालित है.

राष्ट्रवाद का सम्मान करने को लेकर दृढ़: हुंडई मोटर्स इंडिया

इन घटनाक्रमों पर प्रतिक्रिया देते हुए हुंडई मोटर्स इंडिया ने रविवार को सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए भारतीय बाजार के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई.

कंपनी ने पोस्ट कर कहा, ‘हुंडई मोटर इंडिया बीते 25 से अधिक वर्षों से भारतीय बाजार के लिए प्रतिबद्ध है और हम राष्ट्रवाद का सम्मान करने के लिए मजबूती से खड़े हैं.’

कंपनी ने कहा, ‘हुंडई मोटर इंडिया को जोड़ने वाली इस अवांछित सोशल मीडिया पोस्ट से हमारी अद्वितीय प्रतिबद्धता और सेवा को ठेस पहुंच रही है.’

हुंडई ब्रांड के लिए भारत को दूसरा घर बताते हुए कंपनी ने कहा, ‘असंवेदनशील कम्युनिकेशन को लेकर हमारी जीरो टॉलरेंस नीति है और इस तरह के किसी भी विचार की निंदा करते हैं. भारत के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के तहत हम देश और यहां के नागरिकों की भलाई के लिए प्रयास करना जारी रखेंगे.’

बता दें कि हुंडई मोटर इंडिया भारत में मारुति सुजुकी इंडिया के बाद दूसरी सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी है. यह घरेलू बाजार में क्रेटा और वेन्यू सहित 12 मॉडल बेचती है.

पिछले साल दिसंबर में कंपनी ने लगभग 4,000 करोड़ रुपये के निवेश की योजना का ऐलान किया ताकि 2028 तक भारत में लगभग छह इलेक्ट्रिक वाहनों को उतारा जा सके.

कंपनी अपनी मौजूदा रेंज के आधार पर मिक्स मॉडल को पेश करने की योजना बना रही है. इसके साथ ही अगले कुछ सालों में अपने वैश्विक प्लेटफॉर्म ई-जीएमपी पर आधारित पूरी तरह से नए वाहनों की भी योजना है.

हुंडई मोटर कंपनी की स्थापना 1967 में हुई थी और मौजूदा समय में यह 200 से अधिक देशों में कारोबार कर रही है और इसमें 120,000 से अधिक कर्मचारी काम करते हैं.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले पर हुंडई इंडिया द्वारा बयान जारी करने के बाद शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट कर कहा,  ‘हाय हुंडई, ढेर सारे चिकने-चुपड़े शब्दों की जरूरत नहीं है. आपको केवल यह कहने की जरूरत है कि हमें स्पष्ट रूप से खेद है, बाकी सब अनावश्यक है.’

वहीं, भाजपा नेता विजय चौथाईवाले ने कंपनी से स्पष्टीकरण मांगते हुए कहा, ‘यह पर्याप्त नहीं है. आपको स्‍पष्‍ट करना चाहिए कि क्‍या आप पाकिस्‍तान हुंडई के बयानों का समर्थन करते हैं? इस तरह की भारत विरोधी बयानबाजी पर आपका वैश्विक रुख क्‍या है?’

पाक समर्थित पोस्ट के लिए हुंडई से माफी मांगने को कहा गया है: केंद्र सरकार

इसके बाद केंद्र सरकार ने मंगलवार को संसद में कहा कि पाकिस्तान द्वारा पिछले दिनों मनाए गए ‘कश्मीर एकजुटता दिवस’ का समर्थन करने वाली कार निर्माता कंपनी हुंडई को इस कृत्य के लिए माफी मांगने को कहा गया है.

राज्यसभा में शून्यकाल के दौरान शिव सेना की प्रियंका चतुर्वेदी द्वारा उठाए गए इस मुद्दे के जवाब में सदन के नेता व केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, ‘यह मामला कंपनी के समक्ष उठाया गया है और सोमवार ही उसे कहा गया है कि वह इस पर साफ-साफ माफी मांगे.’

चतुर्वेदी ने कंपनी के इस कृत्य का उल्लेख करते हुए कहा कि कंपनी का रुख भारत की सार्वभौमिकता को चुनौती देने वाला है और इसे किसी भी कीमत पर स्वीकार नहीं किया जा सकता.

उन्होंने सरकार से इस मामले को संज्ञान में लेकर कार्रवाई करने की मांग की. इसके जवाब में गोयल ने केंद्र सरकार का रुख स्पष्ट किया.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)