राजनीति

2024 में भाजपा मुक्त भारत बनाने का संकल्प लें, तभी देश बचा सकते हैं: केसीआर

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने एक सभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘गोलमाल पीएम’ क़रार देते हुए कहा कि वे और केंद्र सरकार जो कुछ भी कहते हैं वह ‘सफेद झूठ’ होता है.

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (फोटो: फेसबुक)

हैदराबाद: तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने सोमवार को केंद्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि लोगों को 2024 में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) मुक्त भारत बनाने का संकल्प लेना चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि राष्ट्रीय स्तर पर भविष्य में किसानों की सरकार आएगी.

राजधानी से 165 किलोमीटर दूर पेडापल्ली में एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करते हुए केसीआर के नाम से लोकप्रिय के. चंद्रशेखर राव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘गोलमाल पीएम’ करार दिया. केसीआर ने कहा कि वह (प्रधानमंत्री) और केंद्र सरकार जो कुछ भी कहते हैं वह ‘सफेद झूठ’ होता है.

उन्होंने कहा, ‘हम सबको संकल्प लेना चाहिए और 2024 में ‘भाजपा मुक्त भारत’ बनाने के लिए तैयार रहना चाहिए. हम लोगों को इस नारे के साथ आगे बढ़ना चाहिए. तभी हम देश को बचा सकते हैं, नहीं तो देश को बचाने का दूसरा कोई रास्ता नही है.’

द हिंदू के मुताबिक, पेद्दापल्ली में एक समारोह के दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘सभी बुद्धिजीवियों और प्रगतिशील ताकतों को भारत को विभाजनकारी ताकतों से बचाने के लिए 2024 में ‘भाजपा मुक्त भारत’ बनाने के लिए एक मजबूत संकल्प के साथ प्रयास करना चाहिए.’

उधर, भाजपा की तेलंगाना इकाई के अध्यक्ष बी. संजय कुमार पर हमला बोलते हुए राव ने कहा कि कुछ ऐसे ‘संन्यासी’ हैं जो तेलंगाना के स्वाभिमान को गिरवी रख कर खड़ाऊं उठाने के लिए तैयार हैं.

केसीआर हाल ही में सामने आए उस वीडियो का हवाला दे रहे थे जिसमें प्रदेश भाजपा प्रमुख को कथित रूप से केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के जूते लेकर आते हुए दिखाया गया था, जब शाह एक मंदिर में दर्शन के लिए गए थे.

उन्होंने सवाल किया, ‘क्या हमें उन चोरों का दास हो जाना चाहिए जो दिल्ली से आए हैं.’

उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर हमला करते हुए कहा कि वह ‘गुजरात मॉडल’ का सब्जबाग दिखा कर प्रधानमंत्री बन गए, लेकिन असल में इस पश्चिमी प्रदेश में जहरीली शराब निर्बाध रूप से मिल रही है, जहां इस पर रोक है .

राव ने आरोप लगाया, ‘गुजरात में जहां शराबबंदी लागू है, वहां जहरीली शराब से करीब 70 से 75 लोगों की मौत हो गई.’

उन्होंने कहा, ’26 राज्यों के लगभग 100 किसानों ने हैदराबाद में मुझसे मुलाकात की और टीआरएस सरकार की किसान समर्थक और अन्य महत्वपूर्ण कल्याणकारी योजनाओं की प्रशंसा की. उन्होंने इच्छा व्यक्त की कि हम (टीआरएस) राष्ट्रीय राजनीति में उतरें.’

उन्होंने भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार पर आम आदमी पर चौतरफा महंगाई का बोझ थोपने और केंद्र में शीर्ष पर बैठे व्यक्तियों के करीबी कुछ चुनिंदा बड़े व्यापारियों को जनता का पैसा लूटने की अनुमति देने का आरोप लगाया.

उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र ने दुग्ध उत्पादों को भी नहीं छोड़ा और कपड़ों पर जीएसटी बढ़ने से बुनकरों के हाल बेहाल हैं, जबकि एनपीए के नाम पर 12 लाख करोड़ रुपये का कर्ज़ माफ करके जनता के पैसे की ‘कॉरपोरेट लूट’ करवा दी.

राव ने सवाल किया, ‘भाजपा नेताओं को यह बताना चाहिए कि कृषि क्षेत्र को चौबीसों घंटे मुफ्त बिजली की आपूर्ति और अन्य कल्याणकारी योजनाओं को भाजपा शासित राज्यों में क्यों लागू नहीं किया जा रहा है जैसा कि तेलंगाना में किया जा रहा है.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)