दुनिया

कोरोना वायरस: भारत में मृतक संख्या 2,206 हुई, सर्वाधिक प्रभावित अमेरिका में 79 हज़ार से अधिक की मौत

इस महामारी की चपेट में आकर पूरी दुनिया जान गंवाने वालों की संख्या क़रीब 2.83 लाख और संक्रमण के मामले बढ़कर 41 लाख से अधिक हुए. कुवैत में भारतीय डॉक्टर की मौत. श्रीलंका में लॉकडाउन ख़त्म करने की शुरुआत हुई.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

नई दिल्ली: देश में पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड स्तर पर कोरोना वायरस संक्रमण के 4,213 मामले सामने आए हैं, जिसके बाद सोमवार तक देश में कुल संक्रमित लोगों की संख्या 67,152 पर पहुंच गई. वहीं 97 लोगों की मौत के बाद कोरोना वायरस अब तक देश में 2,206 लोगों की जान ले चुका है.

मंत्रालय ने बताया कि कोविड-19 संक्रमित 44,029 लोगों का इलाज हो रहा है जबकि 20,916 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और एक व्यक्ति देश से बाहर जा चुका है.

मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘अब तक 31.15 फीसदी लोग स्वस्थ हो चुके हैं.’

रविवार सुबह से अब तक 97 लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें से महाराष्ट्र के 53, गुजरात के 21, पश्चिम बंगाल के 14 और तमिलनाडु के तीन लोग हैं. वहीं आंध्र प्रदेश, बिहार, हरियाणा, कर्नाटक और राजस्थान के एक-एक व्यक्ति की मौत हुई.

देश में कुल 2,206 मौतों में से महाराष्ट्र में अब तक सबसे ज्यादा 832 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं गुजरात में 493, मध्य प्रदेश में 215, पश्चिम बंगाल में 185, राजस्थान में 107, उत्तर प्रदेश में 74, दिल्ली में 73, तमिलनाडु में 47 और आंध्र प्रदेश में 45 लोगों की मौत हुई है.

कर्नाटक और पंजाब में 31-31 लोगों की मौत हुई.

तेलंगाना में 30, हरियाणा में 10, जम्मू कश्मीर में नौ, बिहार में छह और केरल में चार लोगों की मौत हुई. झारखंड और ओडिशा में तीन-तीन जबकि हिमाचल प्रदेश, असम और चंडीगढ़ में दो-दो लोगों की मौत हुई.

मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, मेघालय और उत्तराखंड में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई.

मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार, अब तक कोरोना वायरस संक्रमण से 70 फीसदी से ज्यादा उन लोगों की मौत हुई है जो पहले से ही विभिन्न तरह की बीमारियों के शिकार थे.

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा सुबह सोमवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार, देश में सबसे ज्यादा संक्रमण के 22,171 मामले महाराष्ट्र से हैं. वहीं गुजरात में 8,194, तमिलनाडु में 7,204, दिल्ली में 6,923, राजस्थान में 3,814, मध्य प्रदेश में 3,614 और उत्तर प्रदेश में 3,467 लोग संक्रमित हैं.

आंध्र प्रदेश में संक्रमण के 1,980, पश्चिम बंगाल में 1,939 और पंजाब में 1,823 मामले सामने आए हैं. तेलंगाना में 1,196, जम्मू कश्मीर से 861, कर्नाटक में 848, हरियाणा में 703 और बिहार में 696 मामले हैं.

वहीं केरल में 512 और ओडिशा में 377 मामले हैं. इसके अलावा चंडीगढ़ में 169, झारखंड में 157, त्रिपुरा में 150, उत्तराखंड में 68, असम में 63, छत्तीसगढ़ में 59, हिमाचल प्रदेश में 55 और लद्दाख में 42 मामले हैं.

अंडमान-निकोबार द्वीपसमूह में 33 मामले, मेघालय में 13, पुदुचेरी में नौ और गोवा में सात मामले सामने आए हैं. मणिपुर में दो मामले तथा मिजोरम, अरुणाचल प्रदेश और दादर नगर हवेली में एक-एक मामले हैं.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने अपनी वेबसाइट पर कहा, ‘हमारे आंकड़ों का मिलान आईसीएमआर (भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद) से किया जा रहा है जबकि राज्यवार आंकड़ें पुष्टि और मिलान का विषय हैं.’

दुनिया भर में क़रीब 2.83 लाख लोगों की मौत

दुनियाभर में कोरोना वायरस की चपेट में आकर अब तक 282,947 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं और संक्रमण के मामले 4,116,767 हो गए हैं.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

इस महामारी से सबसे प्रभावित देश अमेरिका है. अमेरिका में सोमवार तक 79,528 लोगों की मौत हो चुकी थी और संक्रमण के मामले 1,329,799 हो चुके हैं.

अमेरिका के जॉन्स हॉप्किन्स विश्वविद्यालय के अनुसार, अमेरिका के बाद दूसरे सर्वाधिक प्रभावित देश ब्रिटेन में मौत का आंकड़ा 31,930 हो गया है, जबकि संक्रमण के कुल मामले 220,449 पहुंच चुके हैं.

ब्रिटेन के बाद इटली में अब तक 30,560 लोग इस महामारी से दम तोड़ चुके हैं और संक्रमण के मामले बढ़कर 219,070 हो गए हैं.

इसी तरह स्पेन में संक्रमण का आंकड़ा 224,350 पहुंच गया है और इस देश में अब तक 26,621 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं.

फ्रांस में मरने वालों की कुल संख्या बढ़कर 26,383 हो गई है, जबकि यहां संक्रमण के मामले 177,094 तक पहुंच चुके हैं.

कोरोना वायरस से प्रभावित देशों में से एक ईरान में 6,640 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि संक्रमण के मामले 107,603 हो गए हैं. इस महामारी के केंद्र रहे चीन में संक्रमण के कुल मामले 84,010 हो चुके हैं और मौत का आंकड़ा बढ़कर 4,637 हो चुका है.

पाकिस्तान में 13 मई तक घरेलू उड़ानें निलंबित

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने कोविड-19 महामारी को फैलने से रोकने के लिए घरेलू उड़ान सेवा 13 मई तक के लिए निलंबित कर दी है.

देश में अब तक कोविड-19 से 667 लोगों की मौत हो चुकी है और 30,941 लोग संक्रमण के शिकार हो चुके हैं.

पाकिस्तान नागर विमानन प्राधिकरण (पीसीएए) ने उड़ानों पर प्रतिबंध बुधवार तक बढ़ा दिया है।

इससे पहले यह प्रतिबंध 10 मई तक था.

पीसीएए ने रचवार देर रात ट्वीट किया, ‘पाकिस्तान सरकार के फैसले के अनुसार घरेलू उड़ानों के परिचालन के निलंबन की अवधि बुधवार, 13 मई 2020 तक बढ़ा दी गई है. उड़ानों के निलंबन संबंधी बाकी प्रावधान पहले की तरह लागू रहेंगे.’

राष्ट्रीय स्वास्थ्य सेवा मंत्रालय के अनुसार पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 1,476 मामले सामने आए हैं.

मंत्रालय ने बताया कि इसी दौरान महामारी से 28 लोगों की मौत हो गई जिसके बाद पाकिस्तान में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या बढ़कर 667 पर पहुंच गई.

पाकिस्तान में अब तक कोविड-19 से ग्रस्त हुए 8,212 लोग इलाज के बाद ठीक हो चुके हैं.

बांग्लादेश में कोविड-19 के एक दिन में सर्वाधिक मामले

ढाका: बांग्लादेश में बीते 24 घंटे के भीतर कोविड-19 के सर्वाधिक 887 मामले सामने आए और 14 व्यक्तियों की मौत हो गई. यहां संक्रमण के कुल मामले 14,657 हो गए हैं.

रविवार को स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय में अतिरिक्त महानिदेशक नसीमा सुल्ताना ने बताया, ‘बीते 24 घंटे में कोविड-19 से 14 और लोगों की मौत हो गई जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 228 हो गई.’

वीडियो कॉन्फ्रेसिंग से संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के 887 नए मामले सामने आए जिससे कुल मामले बढ़कर 14,657 हो गए. एक दिन के भीतर सामने आए ये सर्वाधिक मामले हैं.

सुल्ताना ने यह भी बताया कि बीते 24 घंटे में 236 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी मिली और ठीक होने वाले मरीजों की संख्या बढ़कर 2,650 हुई.

हालांकि स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने अनुमान जताया है कि मई के तीसरे हफ्ते में बांग्लादेश में कोविड-19 का प्रकोप बहुत अधिक रह सकता है और जून के अंत तक मामले कम हो सकते हैं.

दक्षिक अफ्रीका: जुलु कबीले के मुखिया ने लॉकडाउन नियमों का पालन करने की अपील की

जोहानिसबर्ग: दक्षिण अफ्रीका में सबसे बड़े कबायली समूह जुलु के मुखिया गुडविल ज़ेलिथिनि ने दक्षिण अफ्रीका के लोगों से कोरोना वायरस से निपटने के लिए लगाए गए देशव्यापी लॉकडाउन के नियमों का पालन करने की अपील की है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

देश में कोविड-19 के मामले 10,000 के पार जा चुके हैं.

ज़ेलिथिनि ने नोंगोमा में अपने आवास से रविवार को एक संबोधन में लोगों से सरकार और चिकित्सा विशेषज्ञों के निर्देशों का पालन करने की अपील की.

इस कबीले में करीब 1.2 करोड़ लोग हैं, जो अधिकतर क्वाज़ूलू-नताल में रहते हैं.

उनका यह बयान ऐसे समय में आया है, जब देश में लोगों के सामाजिक दूरी बनाने और मास्क पहनने जैसे महत्वपूर्ण नियमों का पालन ना करने को लेकर चिंता बढ़ गई है.

ज़ेलिथिनि ने संबोधन में स्पैनिश फ्लू और द्वितीय विश्व युद्ध जैसी घटनाओं में जनता की भूमिका का जिक्र किया.

उन्होंने कहा, ‘उस संकट के समय जो लोग थे, वे मरे नहीं बल्कि कहानी सुनाने के लिए जिंदा रहे. हम आने वाली पीढ़ियों के लिए इस दुनिया को बचा सकें, यह सुनिश्चित करने के लिए भी हमें इन दिशा निर्देशों का पालन करना चाहिए.’

उन्होंने कहा कि द्वितीय विश्व युद्ध के समय तो देश बंटे हुए थे लेकिन इस महामारी में सब एक साथ हैं.

उन्होंने दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा और उनके मंत्रिमंडल द्वारा संकट के समय किए जा रहे कामों की सराहना भी की. वहीं स्वास्थ्य मंत्री ज्वेली ने कोविड-19 से निपटने के लिए जे़लिथिनि के प्रांत में किए जा रहे कार्यों की सराहना की थी.

इस बीच, ज्वेली ने बताया कि देश में कोविड-19 से जान गंवाने वाले लोगों की संख्या 194 हो गई है और इसके मामले बढ़कर अब 10,012 हो गए हैं.

मंत्री ने कहा, ‘हम मरीजों के ठीक होने की दर से खुश हैं. नौ मई 2020 तक 4,173 लोग ठीक हो चुके थे.’

श्रीलंका ने आंशिक छूट देकर लॉकडाउन खत्म करने की शुरुआत की

कोलंबो: श्रीलंका ने कोविड-19 की वजह से करीब दो महीने से लागू लॉकडाउन में धीरे-धीरे छूट देने की शुरुआत कर दी. आर्थिक गतिविधियों को शुरू करने की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने कहा कि श्रीलंका में कोरोना वायरस की महामारी काफी हद तक नियंत्रण में आने के बाद धीरे-धीरे कर्फ्यू में ढील देने की शुरुआत की गई है.

(फोटो: पीटीआई)

(फोटो: पीटीआई)

राजपक्षे ने कहा कि पाबंदियों में ढील के तहत सरकारी और निजी क्षेत्र के संस्थानों को सोमवार से सीमित कर्मचारियों के साथ काम शुरू करने की अनुमति होगी.

उल्लेखनीय है कि श्रीलंका में कोविड-19 का पहला मामला आने के करीब एक हफ्ते बाद 20 मार्च को लॉकडाउन लागू किया गया था. सरकार ने कहा कि सोमवार से दी जा रही ढील का अभिप्राय लंबे समय की बंदी के बाद आर्थिक गतिविधियों को दोबारा शुरू करना है और लोगों को केवल काम होने पर ही आवाजाही करनी चाहिए.

सरकार के मुताबिक सभी रेस्तरां, मनोरंजन के स्थल और स्कूल बंद रहेंगे.

कोविड-19 निवारण के प्रभारी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी अजीत रोहना ने कहा कि कोलंबो सहित संक्रमण के सबसे अधिक खतरे वाले चार जिलों में कर्फ्यू लागू रहेगा.

उन्होंने बताया, ‘कर्फ्यू के दौरान आवाजाही करने के लिए सरकारी और निजी क्षेत्रों के कर्मचारियों को अपने नियोक्ता का पत्र दिखाना होगा.’

रोहाना ने कहा, ‘यह कदम आर्थिक गतिविधियों को दोबारा शुरू करने के लिए उठाया गया. इसके बावजूद सभी को जरूरी सामाजिक दूरी बनाने के साथ पृथकवास के नियमों का अनुपालन करना चाहिए.’

उन्होंने कहा कि सरकारी और निजी क्षेत्रों को अपने संस्थानों को खोलने और बंद करने के लिए विशेषतौर पर समय निर्धारित किया गया है ताकि भीड़ से बचा जा सके. स्वास्थ्य सेवा के महानिदेशक अनिल जसिंघे ने कहा कि खतरा अभी भी खत्म नहीं हुआ है.

उन्होंने कहा, ‘हम कोविड-19 की महामारी से पहले वाली स्थिति में लौटने से बहुत दूर हैं.’

स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि रविवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के आठ नए मामले सामने आए हैं. इसके साथ ही देश में कोविड-19 मरीजों की संख्या बढकर 863 हो गई है और नौ लोगों की मौत हो चुकी है. अब तक 340 लोग ठीक हो चुके हैं.

कोविड-19 से कुवैत में भारतीय डॉक्टर की मौत

दुबई: कुवैत में कोरोना वायरस संक्रमण से भारत के एक दांत के डॉक्टर की मौत हो गई. वह देश के ऐसे दूसरे स्वास्थ्यकर्मी हैं जिनकी मौत कोविड-19 से हुई है.

(फोटो: रॉयटर्स)

(फोटो: रॉयटर्स)

समाचार वेबसाइट टाइम्स कुवैत के अनुसार 54 वर्षीय डॉक्टर वासुदेव राव की मौत शनिवार को जाबेर अस्पताल में इलाज के दौरान हो गई. वह पिछले 15 साल से कुवैत में रह रहे थे और कुवैत की एक तेल कंपनी में दांत के एक बड़े डॉक्टर के रूप में सेवा दे रहे थे.

राव कुवैत में भारतीय दंत चिकित्सक पेशेवरों के संगठन ‘इंडियन डेंटिस्ट अलायंस’ के सदस्य भी थे. संगठन ने उनके निधन पर दुख व्यक्त किया है.

गल्फ न्यूज की खबर के मुताबिक बीते शुक्रवार को मिस्र के ईएनटी विशेषज्ञ तारेक हुसैन मोकेमीर की मौत संक्रमण की वजह से हो गई थी. वह 62 साल के थे.

रविवार को वंदे भारत अभियान के तहत कुवैत में फंसे 171 भारतीय नागरिकों को चेन्नई लाया गया. कुवैत में कोरोना वायरस संक्रमण से 58 लोगों की मौत हो चुकी है और 8,688 लोग संक्रमित हैं.

नेपाल में संक्रमितों की संख्या बढ़कर हुई 120

काठमांडू: नेपाल में कोरोना वायरस के दस नए मामले सामने आए हैं जिसके बाद देश में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 120 हो गई है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को यह जानकारी दी.

नेपाल उन राष्ट्रों में शामिल है, जहां कोविड-19 के न्यूनतम मामले सामने आए हैं और इस बीमारी से एक भी व्यक्ति की मौत नहीं हुई है.

स्वास्थ्य एवं जनसंख्या मंत्रालय के अनुसार, ताजा सामने आए मामलों में पश्चिम नेपाल के कपिलवस्तु जिले के 10 व्यक्ति संक्रमण के शिकार हुए हैं.

नेपाल में कोविड-19 के 89 मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि 31 इलाज के बाद स्वस्थ हो चुके हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)