भारत

यूपी: कथित छेड़छाड़ के बाद छात्रा की सड़क दुर्घटना में मौत

मामला बुलंदशहर का है. दादरी की रहने वाली 20 वर्षीय छात्रा मंगलवार को अपने चाचा के साथ बाइक पर जा रही थी. आरोप है कि रास्ते में दो बाइक सवारों द्वारा छेड़छाड़ के बाद उनका एक्सीडेंट हुआ, जिसमें छात्रा की मौत हो गई. पुलिस का कहना है कि उन्हें छेड़छाड़ या उत्पीड़न के कोई सबूत नहीं मिले हैं.

सुदीक्षा भाटी. (फोटो साभारः फेसबुक)

सुदीक्षा भाटी. (फोटो साभारः फेसबुक)

बुलंदशहरः उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में 20 साल की एक छात्रा की सड़क हादसे में मौत हो गई. आरोप हैं कि छात्रा से छेड़छाड़ की गई थी.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, 20 साल की छात्रा सुदीक्षा भाटी के परिवार का आरोप है कि एक बाइक पर सवार दो युवकों ने सुदीक्षा की बाइक का पीछा कर उससे छेड़छाड़ी की, जिस वजह से यह दुर्घटना हुई.

पीड़ित परिवार का कहना है कि जिस समय यह दुर्घटना हुई, उस समय सुदीक्षा अपने चाचा और चचेरे भाई के साथ अपनी एक रिश्तेदार के घर जा रही थीं.

हालांकि, जिला प्रशासन का कहना है कि मामले की जांच कर रहे अधिकारियों को छेड़छाड़ या उत्पीड़न के कोई सबूत नहीं मिले हैं.

सुदीक्षा के पिता जितेंद्र भाटी का आरोप है कि यह दुर्घटना नहीं है बल्कि साजिश है.

सुदीक्षा के पिता ने कहा, ‘पुलिस ने अब तक हमसे कोई संपर्क नहीं किया है. न ही मामले में एफआईआर दर्ज की है. पुलिस मौके पर भी गई थी और सब पता है कि क्या हुआ था फिर एफआईआर क्यों दर्ज नहीं की. पुलिस इसे सड़क दुर्घटना बता रही है लेकिन यह दुर्घटना हुई नहीं बल्कि कराई गई है. यह हत्या है लेकिन एक भी आरोपी अभी तक पकड़ा नहीं गया.’

उनका आरोप है कि पुलिस इस मामले को मामूली दुर्घटना की तरह दिखाना चाहती है जबकि यह हादसा सुदीक्षा से छेड़खानी के बाद हुआ है.

गौतमबुद्ध नगर के दादरी तहसील की रहने वाली सुदीक्षा के पिता ढाबा चलाते हैं. 2018 में 12वीं की बोर्ड परीक्षा में अपने जिले में शीर्ष स्थान हासिल करने वाली सुदीक्षा को अमेरिका की प्रतिष्ठित यूनिवर्सिटी के बॉब्सन कॉलेज में ग्रेजुएशन की पढ़ाई के लिए छात्रवृत्ति मिली थी.

बता दें कि सुदीक्षा उन चुनिंदा विद्यार्थियों में शामिल थी, जिन्हें भारत सरकार की तरफ से अमेरिका में पढ़ने के लिए 3.80 करोड़ रुपये की स्कॉलरशिप दी गई थी. वह कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच जून में ही अमेरिका से भारत लौटी थी.

परिवार का कहना है कि सुदीक्षा सोमवार को अपने चाचा और चचेरे भाई के साथ बाइक से गौतमबुद्धनगर के अपने गांव से बुलंदशहर के सिकंदराबाद के लिए रवाना हुई थी. ये सभी सिकंदराबाद में एक रिश्तेदार के घर काम से जा रहे थे कि उसी दौरान यह घटना हुई.

मृतका के चाचा ओमकार भाटी ने कहा, ‘एक बाइक पर सवार दो लोग सुदीक्षा पर फब्तियां कस रहे थे और लापरवाही से गाड़ी चला रहे थे.’

उन्होंने कहा, ‘जब हम बुलंदशहर कस्बे को पारकर एक गांव में घुसे तो एक बाइक ने हमें कई बार ओवरटेक किया और बाइक सवार स्टंट करना लगा. मैंने अपनी मोटरसाइकिल की रफ्तार कम कर दी लेकिन दूसरी बाइक ने हमारी बाइक को टक्कर मार दी. हम सभी गिर गए, मेरी भतीजी को सिर में चोट लगी. मैं दूसरी बाइक के ड्राइवर को पहचान नहीं सका और दुर्घटना होते ही वह भाग खड़ा हुआ.’

वहीं, परिवार के दावों से उलट जिला मजिस्ट्रेट रविंद्र कुमार ने बताया, ‘मोटरसाइकिल मृतका का चाचा नहीं बल्कि उसके चचेरा भाई चला रहा था, जो नाबालिग है. अभी तक छेड़छाड़ के कई सबूत नहीं मिले हैं.’

जिला मजिस्ट्रेट का यह बयान कि दुर्घटना के समय सुदीक्षा के चाचा वहां मौजूद नहीं थे. इस पर परिवार का कहना है कि उस समय सुदीक्षा, उसका भाई और उसके चाचा तीनों बाइक पर थे.

बुलंदशहर के एक वरिष्ठ अधिकारी अतुल श्रीवास्तव ने कहा, ‘दुर्घटनास्थल पर पहुंची पुलिस की टीम ने वहां मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों से पूछताछ की, जिन्होंने बताया कि एक रॉयल इन्फील्ड बुलेट सामने से आ रही थी और ट्रैफिक की वजह से अचानक बाइक के सामने आकर रुक गई, जिससे दुर्घटना हुई. शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. जब दुर्घटना हुई, उस समय किसी संबंधी या प्रत्यक्षदर्शी ने किसी तरह की छेड़छाड़ के बारे में बात नहीं की थी.’

https://twitter.com/priyankagandhi/status/1293103965563809792

इस मामले पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा,’ बुलंदशहर की घटना यूपी में कानून के डर के खात्मे और महिलाओं के लिए फैले असुरक्षा के माहौल को दिखाती है. ऐसा प्रतीत होता है कि प्रशासन छेड़खानी की घटनाओं को गंभीरता से नहीं लेता. इसके लिए व्यापक फेरबदल की जरूरत है. महिलाओं पर होने वाले हर तरह के अपराध पर जीरो टॉलरेंस होना चाहिए.’

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने इस घटना पर ट्वीट कर कहा, ‘बुलंदशहर में अपने चाचा के साथ बाइक पर जा रही होनहार छात्रा सुदीक्षा भाटी को मनचलों की वजह से जान गंवानी पड़ी. जो अति दुखद, अति शर्मनाक व अति निंदनीय है. बेटियां आखिर कैसे आगे बढ़ेंगी? यूपी सरकार तुरंत दोषियों के विरुद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई करे, बीएसपी की यह पुरजोर मांग है.’