भारत

उत्तर प्रदेश: बलात्कार के बाद किशोरी की हत्या, आरोपी गिरफ़्तार

मामला लखीमपुर खीरी ज़िले का है. बीते दस दिनों में जनपद में बलात्कार और हत्या का यह दूसरा मामला है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरोपी पर रासुका के तहत कार्रवाई का आदेश दिया है.

Lakhimpur Kheri

लखनऊ: लखीमपुर खीरी जिले में 17 वर्षीय किशोरी की हत्या और बलात्कार के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस ने यह दावा किया है.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, पुलिस ने बुधवार को यह बताया है कि उन्होंने आरोपी को पकड़ लिया है. उसकी पहचान दिलशाद के तौर पर की गई है.

पुलिस के मुताबिक उसने स्वीकार किया है कि 24 अगस्त को उसकी इस किशोरी से बहस हुई थी, जिसके बाद उसने इस वारदात को अंजाम दिया.

पुलिस का यह भी कहना है कि कॉल रिकार्ड्स के मुताबिक लड़की बीते कुछ महीनों से इस व्यक्ति के संपर्क में थी.

बता दें कि बीते मंगलवार को लखीमपुर खीरी जिले में एक 17 वर्षीय किशोरी का शव बरामद हुआ था, जिसका गला रेता गया था. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसके साथ बलात्कार की पुष्टि हुई थी.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार लड़की का कटा हुआ शव गांव में मंगलवार सुबह मिला था. हत्या धारदार हथियार से की गई थी और शव उसके गांव से करीब 200 मीटर दूर एक सूखे तालाब के पास पड़ा मिला था.

लड़की के परिजनों ने बताया था कि वह सोमवार को प्रवेश के लिए ऑनलाइन फार्म भरने साइबर कैफे गयी थी, लेकिन वापस नहीं आई.

परिजन रात भर उसे खोजते रहे. मंगलवार सुबह उसका शव मिला. उसके कपड़े अस्त-व्यस्त थे और गला रेता हुआ था.

पुलिस का कहना है कि दिलशाद ने बताया है कि लड़की 24 अगस्त को बाजार गई थी, जहां से उसने उसका पीछा किया और बात करने की कोशिश की.

इसके बाद उस जगह, जहां लड़की का शव मिला, दोनों के बीच जोरदार बहस हुई, जिसके बाद दिलशाद ने उसके साथ बलात्कार किया और उसका गला रेत दिया.

लखीमपुर खीरी के एसएसपी सतेंद्र कुमार ने बताया, ‘इस निष्कर्ष तक आरोपी के कबूलनामे के अलावा मौका-ए-वारदात पर मिले फिंगरप्रिंट्स, खून लगे कपड़े, सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पहुंचा गया है. आरोपी की निशानदेही पर अपराध में इस्तेमाल हुआ चाकू भी बरामद कर लिया गया है.’

इस घटना के बाद विपक्ष ने प्रदेश में कानून और व्यवस्था की स्थिति पर निशाना साधा था. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने राज्यपाल को संबोधित करते हुए ट्वीट्स भी किए थे.

उल्लेखनीय है कि जिले में दस दिन के अंदर हुई यह दूसरी इस तरह की घटना है. इससे पहले 15 अगस्त को ईसानगर थानाक्षेत्र के एक गांव में भी 13 साल की लड़की की बलात्कार के बाद हत्या का मामला सामने आया था. नाबालिग का शव गन्ने के खेत में मिला था.

गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना के अपराधियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लगाने सहित कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता का ऐलान किया.

प्रवक्ता के मुताबिक मुख्यमंत्री ने कहा कि अपराधियों के खिलाफ रासुका के तहत भी कार्रवाई सुनिश्चित की जाए. योगी ने कहा कि राज्य सरकार प्रकरण की फास्ट ट्रैक अदालत में सुनवाई कराकर अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलवाएगी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)