नॉर्थ ईस्ट

असम में अब तक 24 विधायक कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए

असम के 24 संक्रमित विधायकों में 13 भाजपा और पांच इसके सहयोगी दलों से हैं. असम विधानसभा में 126 विधायक हैं.

Srinagar: A doctor collects samples for immunoglobulin (Ig) blood test against coronavirus disease, at Barzulla Bone and Joint Hospital in Srinagar, Monday, June 15, 2020. Authorities organised testing among health care workers as positive cases and deaths increase day-by-day in the Jammu and Kashmir. (PTI Photo/S. Irfan)(PTI15-06-2020_000102B)

Srinagar: A doctor collects samples for immunoglobulin (Ig) blood test against coronavirus disease, at Barzulla Bone and Joint Hospital in Srinagar, Monday, June 15, 2020. Authorities organised testing among health care workers as positive cases and deaths increase day-by-day in the Jammu and Kashmir. (PTI Photo/S. Irfan)(PTI15-06-2020_000102B)

गुवाहाटी: असम विधानसभा के सत्र की शुरुआत से एक दिन पहले चार और विधायकों के रविवार को कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई. इसके साथ ही राज्य में अब तक संक्रमित हुए विधायकों की कुल संख्या बढ़ कर 24 हो गई. एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी.

अधिकारी ने बताया कि असम गण परिषद के नरेन सोनोवाल, भाजपा की रितुपर्णा बरुआ, एआईयूडीएफ के अनवर हुसैन लस्कर और इसी पार्टी के नजरुल हक की विधानसभा परिसर के जांच शिविर में की गई कोविड-19 जांच की रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि हुई है.

विधानसभा के प्रधान सचिव मृगेंद्र कुमार डेका ने बताया, ‘32 विधायकों में से चार में रविवार को संक्रमण की पुष्टि हुई. स्वास्थ्य विभाग उनके इलाज के लिए जरूरी बंदोबस्त कर रहा है.’

एक अधिकारी ने बताया कि विधानसभा में तीन दिन के जांच शिविर में कुल 431 लोगों के नमूने जांच को लिए गए, जिनमें एक पत्रकार और पांच विधायक समेत कुल 24 लोगों में संक्रमण का पता चला है.

इससे पहले शनिवार को भाजपा विधायक वीरभद्र हगजर संक्रमित पाए गए थे.

इन 24 संक्रमित विधायकों में 13 भाजपा और पांच इसके सहयोगी दलों से हैं, जिनमें से तीन असम गण परिषद के हैं. असम विधानसभा में 126 विधायक हैं.

बीते 25 अगस्त को भाजपा नेतृत्व वाली राज्य सरकार में असम पहाड़ी क्षेत्र विकास मंत्री सम रोंघांग के सबसे पहले कोरोना संक्रमित होने का पता चला था.

डेका ने बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को बनाए रखने के लिए 50 प्रतिशत विधायकों की मौजूदगी के साथ विधानसभा का चार दिवसीय सत्र आज 31 अगस्त से शुरू हो रहा है

उन्होंने कहा कि सत्र में अनुपूरक अनुदान और 19 विधेयकों को पेश किया जाएगा. चार दिन के सत्र में से तीन दिन प्रश्न काल का होगा. इस दौरान किसी भी आगंतुक को आने की अनुमति नहीं होगी.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)