कैंपस

‘देशभक्ति की भावना’ जगाने के लिए कैंपस में टैंक रखवाना चाहते हैं जेएनयू ​के कुलपति

रविवार को जेएनयू में पहली बार कारगिल विजय दिवस मनाया गया. कार्यक्रम में दो केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और जनरल वीके सिंह मौजूद थे.

JNU PTI

(फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के कुलपति एम. जगदीश कुमार देशभक्ति का जज़्बा जगाने के लिए कैंपस में एक टैंक रखवाने की इच्छा ज़ाहिर की है.

रविवार को जेएनयू में पहली बार कारगिल विजय दिवस मनाया गया. कार्यक्रम में दो केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और जनरल वीके सिंह मौजूद थे.

कार्यक्रम में शहीदों और सेना के योगदान को याद करते हुए कुलपति ने दोनों केंद्रीय मंत्रियों से आग्रह किया कि वे कैंपस के किसी महत्वपूर्ण स्थान पर सेना का एक टैंक रखवाने में मदद करें.

कुलपति ने कार्यक्रम को ऐतिहासिक क़रार दिया और कहा कि यह थलसेना और देश के अन्य सुरक्षा बलों के बलिदान को याद करने के लिए एक अहम दिन है.

कुलपति के अनुसार, कैंपस में सेना का टैंक रखे जाने से छात्र छात्राओं में देशभक्ति की भावना जगेगी और यह उन्हें सेना के बलिदान की याद दिलाता रहेगा.

इसके अलावा कैंपस में तिरंगा मार्च निकाला गया था. इसका आयोजन विश्वविद्यालय प्रशासन और पूर्व सैनिकों के संगठन वेटरंस इंडिया की ओर से किया गया था.

कार्यक्रम में दोनों केंद्रीय मंत्रियों के साथ वेटरंस इंडिया के मेंटर मेजर जनरल जीडी बक्शी और क्रिकेटर गौतम गंभीर के अलावा कुछ शहीदों के परिजन भी शामिल हुए थे.

जेएनयू के शिक्षकों और छात्रों ने कारगिल के शहीदों के परिजन और वेटरंस इंडिया के सदस्यों के साथ 2,200 फुट लंबा तिरंगा लेकर एक मार्च निकाला.

साथ ही जेएनयू के कन्वेंशन सेंटर, जहां परमवीर चक्र से सम्मानित जवानों की तस्वीरें लगाई गई थीं, में श्रद्धांजलि अर्पित की थी.

कार्यक्रम में थलसेना बैंड का भी एक कार्यक्रम हुआ. इस मौके पर कारगिल में शहीद हुए सैनिकों के परिवार की महिला सदस्यों को सम्मानित किया गया.

(समाचार एजेंसी भाषा से सहयोग के साथ)