भारत

हरियाणा में राम रहीम के 50 डेरे सील, पंजाब में 92 डेरों को ख़ाली करवाया

कुरुक्षेत्र में डेरा के नौ केंद्र सील: पेट्रोल बम, हज़ारों लाठियां, धारदार हथियार बरामद. सिरसा के डेरा परिसर में चलती थी अलग मुद्रा प्रणाली.

PTI8_25_2017_000234B

हेलीकॉप्टर द्वारा अदालत से जेल के लिए जाते गुरमीत राम रहीम. (फोटो: पीटीआई)

हरियाणा में गुरमीत राम रहीम को बलात्कार मामले में दोषी पाए जाने के बाद सर्मथकों द्वारा की गई हिंसा के बाद डेरा सच्चा सौदा के 50 डेरे सील कर दिए गए हैं. पंजाब सरकार ने भी 92 डेरों को खाली करवा लिया है. सेना ने लोगों से कहा है कि वे शांति से बाहर निकल जाएं.

दैनिक जागरण के मुताबिक, शनिवार शाम तक हरियाणा में राम रहीम के 50 नाम चर्चाघरों को सील कर दिया गया. पंजाब ने भी अधिकांश नाम चर्चाघरों को खाली करा लिया है और वहां पर सुरक्षा बढ़ा दी है. इसके अलावा सेना ने सिरसा स्थित डेरा मुख्यालय की घेराबंदी कर दी है. सेना ने डेरा मुख्यालय में जमा लोगों से शांतिपूर्वक अपने घर जाने को कहा है.

विशेष अदालत 28 अगस्त को राम रहीम की सजा तय करेगी. उधर खुफिया एजेंसियों ने कहा है कि यदि राम रहीम को सजा सुनाई जाती है तो हरियाणा में फिर से हिंसा फैल सकती है. अमर उजाला अखबार ने खबर दी है कि ‘खुफिया एजेंसियों के मुताबिक, जब उन्हें सजा सुनाई जाएगी तो हरियाणा में फिर से हिंसा और उपद्रव हो सकता है.’

अखबार की वेबसाइट पर एक खबर में कहा गया है, ‘खुफिया एजेंसियों ने हरियाणा सरकार को ये इनपुट दिया है कि अब रोहतक में डेराप्रमियों ने जुटना शुरू कर दिया है. हालांकि सुनारिया जेल, जहां दोषी डेरामुखी को रखा गया है, रोहतक से करीबन 12 किलोमीटर दूर आउटर इलाके में स्थिति है, लेकिन उसके बावजूद काफी संख्या में डेराप्रेमी रोहतक शहर में जुटने लगे हैं. 28 अगस्त को जिस दिन सुनारिया जेल में दोषी बाबा को सजा का एलान होगा, फिर से डेरा प्रेमी बवाल कर सकते हैं.’

दैनिक जागरण की एक खबर में कहा गया है कि खुफिया विभाग की रिपोर्ट में कहा गया है कि हिंसा की पूरी प्लानिंग डेरा सच्चा सौदा के नामघरों में बनाई गई थी.

हालांकि, पुलिस का कहना है कि पुख्ता इंतजाम किए गए हैं, अब हिंसा की घटनाओं का दोहराव नहीं होने दिया जाएगा.

राम रहीम के आठ गार्डों पर देशद्रोह का केस

उधर पुलिस ने राम रहीम के गार्डों पर देशद्रोह का केस दर्ज किया है. दैनिक जागरण के मुताबिक, इन्हीं गार्डों ने आईजी रैंक के अधिकारी को थप्पड़ मारा जिसके बाद हिंसा शुरू हो गई. इनमें से छह गार्ड हरियाणा पुलिस के हैं और दो निजी हैं. वे बाबा को जेल ले जाने से रोक रहे थे और अपने साथ ले जाने पर अड़ गए थे, जिसके बाद पुलिस ने बलपूर्वक कार्रवाई करके बाबा को उनके कब्जे से छुड़ाया. इन आठ गार्डों पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है.

कुरुक्षेत्र में हजारों लाठियां, धारदार हथियार बरामद

कुरुक्षेत्र पुलिस ने शनिवार को जिले में डेरा सच्चा सौदा के नौ समागम केंद्रों से अनुयायियों को बाहर करते हुए केंद्रों को सील कर दिया और तलाशी के दौरान वहां से नामघरों से बड़ी मात्रा में पेट्रोल बम, मिर्च स्प्रे, 2,500 से अधिक लाठियां तथा अन्य धारदार हथियार बरामद किए हैं.

डेरा अनुयायियों को बाहर करने के बाद किसी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए समागम केंद्रों के बाहर बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं.

कुरुक्षेत्र के पुलिस अधीक्षक अभिषेक गर्ग ने कहा, ‘जिले के सभी नौ नाम चर्चा घरों (समागम केंद्र) को सील कर दिया गया है और इनमें प्रवेश पर रोक लगा दी गई है.’

शुक्रवार को पंचकूला में सीबीआई की एक विशेष अदालत ने 15 साल पुराने बलात्कार के एक मामले में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दोषी करार दिया, जिसके बाद हरियाणा में व्यापक हिंसा और आगजनी की घटनाएं हुईं.

गर्ग ने कहा, ‘हमने तलाशी अभियान के दौरान 2,500 लाठियां, कुछ धारदार हथियार तथा 2.5 लीटर मिट्टी का तेल बरामद किया.’ पुलिस अधीक्षक ने कहा, ‘हमने सभी नौ नाम चर्चा केंद्रों से अनुयायियों को बाहर कर दिया और उन्हें बंद कर दिया.’

उन्होंने कहा कि कुरुक्षेत्र में स्थिति नियंत्रण में है और किसी को भी निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने की मंजूरी नहीं दी जाएगी.

डेरा परिसर की अलग मुद्रा प्रणाली

हरियाणा के सिरसा में डेरा सच्चा सौदा के मुख्यालय में पंथ प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह के अनुयायी, जो वहां दुकानों का संचालन करते थे, वे ग्राहकों को छुट्टे देने के लिए अलग मुद्रा प्रणाली चलाते थे.

डेरा परिसर के भीतर और ईद-गिर्द स्थित इन दुकानों पर नाम के प्रारंभ में सच लिखा होता था. ग्राहक यदि भारतीय करंसी में खुल्ले नहीं दे पाते तो दुकानदार इनके बदले पांच और दस रुपये के प्लास्टिक के सिक्के या टोकन उन्हें दिया करते थे.

इन सिक्कों पर लिखा होता था धन धन सतगुरू तेरा ही आसरा, डेरा सच्चा सौदा सिरसा, इनका इस्तेमाल ग्राहक बाद में सच दुकानों से सामान खरीदने में कर सकते थे.

डेरा परिसर करीब एक हजार एकड़ इलाके में फैला है, इसकी अपनी टाउनशिप है, अपने स्कूल हैं, खेल गांव, अस्पताल और सिनेमा हॉल भी हैं. डेरा मुख्यालय के ईद-गिर्द के दुकानदार सच दुकानें चलाते थे उनके पास अलग-अलग कलर कोड के प्लास्टिक के सिक्के होते थे.

डेरा प्रमुख को सीबीआई अदालत द्वारा बलात्कार मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद डेरा मुख्यालय के ईद-गिर्द हालात का जायजा लेने सिरसा पहुंचे कुछ संवाददाताओं को भी भारतीय करंसी के स्थान पर ऐसे प्लास्टिक के सिक्के दिए गए.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)